Advertisement

लोलासन से कंधे और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाएं, जानें इसके अन्य लाभ

कलाई की चोट, कंधे का दर्द और गर्दन की समस्याओं से ग्रसित लोगों को लोलासन नहीं करना चाहिए।

कई आसन ऐसे हैं, जो शरीर की मांसपेशियों को मजबूत बनाते हैं। उन्हीं में से एक है लोलासन। यदि आप भी चाहते हैं कंधे और पीठ की मांसपेशियों को मजबूती देना, हाथों, कलाइयों और सीने को पुष्ट करना तो आप लोलासन का अभ्यास करें। ढिले शरीर वालों के लिए यह आसन बहुत ही फायदेमंद है। इससे न केवल आपका शरीर टाइट होता है बल्कि शरीर की मांसपेशियों में भी बढोत्तरी होती है।

स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए नियमित करें ये 4 आसन

यूं करें लोलासन

Also Read

More News

सबसे पहले पदासन की स्थिति में बैठ जाएं। अब हथेलियों को जांघों के बगल में जमीन पर रखें और हाथों पर पूरे शरीर को साधते हुए जमीन से ऊपर उठाएं। अब शरीर को आगे-पीछे झुलाएं। पहली स्थिति में वापस आ जाएं। इसी प्रकार कई बार इस विधि को करें। आप इसे आठ-नौ बार कर सकते हैं।

बवासीर होने पर करेंगे ये 2 आसन, तो मिलेगा आराम

सांस लेने की प्रक्रिया

शरीर को ऊपर उठाते समय सांस लें। शरीर को आगे-पीछे हिलाते समय अंतर्कुभक लगाएं। जमीन पर वापस लौटते समय सांस बाहर छोड़ें। आप श्वास प्रक्रिया पर अपने मन को एकाग्र कर सकते हैं।

लोलासन के फायदे

- यह आसन हाथों, कलाइयों व सीने को पुष्ट करता है।

- भुजाओं को अत्यधिक बल मिलता है। मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

- कंधे और पीठ की मांसपेशियों को भी मजबूती मिलती है।

- पेट की मांसपेशियों को विकसित करता है।

- हाथों का कांपना दूर होता है। हृदय बलवान होता है।

- लोलासन धातु रोग को भी दूर करता है।

- इससे पसलियों में मजबूती आती है। शरीर संतुलित रहता है।

”विपरीत करणी” रोज करें यह आसन और पाएं कई सेहत लाभ

सावधानियां

- कलाई की चोट, कंधे का दर्द और गर्दन की समस्याओं से ग्रसित लोगों को इस आसन को नहीं करना चाहिए।

- ज्यादा खाना खा लिया है तो यह आसन करने में आपको दिक्कत आ सकती है। तुरंत खाना खाने के बाद इसे करने से बचें।

- उच्च रक्तचाप की समस्या है, तो इसे न करें।

- बेहतर होगा कि इसे करने से पहले किसी विशेषज्ञ की सलाह ले लें।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on