• हिंदी

जांघों के बढ़ते फैट ने बिगाड़ दिया है बॉडी शेप? इन 3 योगासनों के अभ्यास से जल्द घटेगी चर्बी

जांघों के बढ़ते फैट ने बिगाड़ दिया है बॉडी शेप? इन 3 योगासनों के अभ्यास से जल्द घटेगी चर्बी

Yoga For Thigh Fat: जांघों की चर्बी से छुटकारा पाने के लिए आप कुछ योगासनों की मदद ले सकते हैं। आइए, जानते हैं इन योगासनों के बारे में।

Written by priya mishra |Updated : November 30, 2023 6:31 PM IST

Yoga For Thigh Fat: गलत खानपान, खराब जीवनशैली और एक्सरसाइज की कमी के कारण आजकल मोटापा एक आम समस्या बन गया है। लगातार बैठे रहने से पैरों और जांघों में ज्यादा चर्बी इकट्ठा हो जाती है, जो देखने में खराब लगती है। मोटी और थुलथुली जांघों के कारण कई लोग अपने पसंद के कपड़े भी नहीं पहन पाते हैं। इतना ही नहीं, अगर थाई फैट अधिक बढ़ जाए, तो उठने-बैठने में भी दिक्कत होने लगती है। अगर आप भी जांघों की चर्बी से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो कुछ योगासनों को अपने फिटनेस रूटीन में शामिल कर सकते हैं। इनके नियमित अभ्यास से जांघों पर जमा फैट कम होगा और उन्हें टोन करने में भी मदद मिलेगी। तो आइए, जानते हैं जांघों की चर्बी घटाने के लिए कौन से योगासन करने चाहिए-

उष्ट्रासन

इस आसन को करने के लिए सबसे पहले योगा मैट पर घुटनों के बल बैठ जाएं।

अब अपने हाथों को कूल्हों पर रखें।

Also Read

More News

इसके बाद अपने घुटनों पर खड़े हो जाएं।

अब कमर से शरीर को पीछे की तरफ लें जाएं।

अपने दोनों हाथों से पैरों की एड़ियों को पकड़ लें।

इस स्थिति में 30-60 सेकेंड तक रुकें।

फिर सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे प्रारंभिक अवस्था में आ जाएं।

वीरभद्रासन

इस आसन को करने के लिए सबसे पहले योगा मैट पर सीधे खड़े हो जाएं।

अब अपने दोनों पैरों को फैलाएं। पैरों के बीच 2-3 फीट की दूरी रखें।

अब दोनों हाथों को कंधे के समानांतर रखें।

फिर अपने दाएं पैर को 90 डिग्री के कोण पर घुमाएं। यानी घुटने से मोड़ते हुए तलवे के जमीन पर रखें।

बाएं पैर को पीछे की तरफ स्ट्रेच करें।

अपने सिर को दाएं पैर और हाथ की तरफ रखें। फिर सामने की तरफ देखें।

इस अवस्था में 50-60 सेकेंड्स तक रुकें।

फिर प्रारंभिक स्थिति में आ जाएं।

आप इस प्रक्रिया को 3-5 बार कर सकते हैं।

सेतुबंधासन

इस आसन को करने के लिए जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं।

अब अपने घुटनों को मोड़ें और तलवों को जमीन पर रखें।

अपने दोनों हाथों से पैरों की एड़ियों को पकड़ें।

सांस लेते हुए धीरे-धीरे अपनी बॉडी को ऊपर उठाएं।

इस मुद्रा में 1-2 मिनट तक रहें।

इसके बाद सांस छोड़ते हुए प्रारंभिक मुद्रा में आ जाएं।