Sign In
  • हिंदी

जल्दी खाना खाने से वजन कम करने में मदद मिलती है, जानें कब जल्दी है खाना

जल्दी खाना खाने से वजन कम करने में मदद मिलती है, जानें कब जल्दी है खाना.

वेट लॉस के लिए सबसे जरूरी बात जल्दी खाना खाना है. हाल ही में हुए अध्ययन के अनुसार दिन के समय जल्दी आहार लेने से वजन कम करने में मदद मिलती है. जब वेट लॉस के लिए इंटरमिटेंट फास्टिंग की जाती है तो 24 घंटे में 8 से 12 घंटे फास्टिंग की जाती है. ऐसे में जब आप दिन के समय जल्दी खाना खाते हैं तो रात से सुबह तक में कम से कम 10 घंटे फास्टिंग पर रहते हैं. इस शोध के अनुसार दिन का भोजन जल्दी करना मोटापा कम करने में मददगार है.

Written by akhilesh dwivedi |Updated : November 9, 2019 1:24 PM IST

वजन कम करने के लिए तमाम तरह की डाइट प्लान अपनाने के साथ-साथ खाने के तरीके का भी महत्व होता है. दिन की शुरुआत होने के साथ पहला भोजन/खाना/डाइट/ब्रेकफास्ट/नाश्ता जल्दी करने से वजन कम करने में मदद मिलती है. वेट लॉस डाइट के लिए हेल्दी डाइट फूड के साथ जीवनशैली/दिनचर्या/लाइफस्टाइल का भी काफी प्रभाव पड़ता है. अगर आप समय पर खाना खाते हैं, तो वजन कम करने में आसानी होती है. बदलती जीवनशैली में खान-पान का व्यवहार बदल रहा है. दौड़ती भागती जिंदगी में फिटनेस लेवल बनाए रखना एक चुनौती ही है. समय पर खाना-खाना हेल्दी लाइफ के लिए जरूरी काम है. अगर आप भी वजन घटाने के लिए प्रयास कर रहे हैं, तो खाने के टाइप आपको विशेष ध्यान देने की जरूरत है.

क्या कहता है नया शोध

हाल ही में हुए एक नये शोध के अनुसार दिन के समय जल्दी खाने से फूड क्रेविंग/भूख लगना नियंत्रण में रहता है. मोटापे की मुख्य वजहों में एक वजह यह भी है कि लोगों को बार-बार भूख लगती है.

अगर हम इस बात को समझ लें कि दिन के खाने में हेल्दी फूड/पोष्टिक आहार जल्दी खाने से जरूरी पोषक तत्व मिल जाते हैं. जब शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिल जाते हैं, तो फूड क्रेविंग नहीं होती है और शरीर फैट का अधिक निर्माण नहीं करता है.

Also Read

More News

दिन के समय आप जब जल्दी खाना खा लेते हैं, तो यह एक तरह से इंटरमिटेंट फास्टिंग होती है. क्योंकि आप दिन के समय जब जल्दी खाना खा लेते हैं, तो शरीर को रात होने भर और कैलोरी नहीं मिलती है.

यह एक इंटरमिटेंट फास्टिंग हैं

इंटरमिटेंट फास्टिंग वेट लॉस डाइट प्लान में सबसे ज्यादा उपयोग किया जाने वाला डाइट प्लान है. वजन कम करने के लिए इंटरमिटेंट फास्टिंग में 24 घंटे में 8-12 घंटे तक फास्टिंग करनी होती है.

जब कोई इंटरमिटेंट फास्टिंग करता है तो शरीर को भोजन को पचाने का पर्याप्त समय मिलता है. जब खाना सही से पचता है, तो शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व मिलते हैं.

कुछ अन्य शोधों में भी पाया गया है कि इंटरमिटेंट फास्टिंग से फैट बर्न करने में मदद मिलती है. डाइट एक्सपर्ट्स मानेत हैं कि इंटरमिटेंट फास्टिंग से फूड क्रेविंग/भूख लगने को रोका जा सकता है.

सावधानियां

एक अन्य शोध के अनुसार अगर दिन के खाने के बाद दुसरे दिन के खाने में लंबा अंतराल रहता है तो वेट लॉस में मदद मिलती है. हलांकि डाइट एक्सपर्ट्स मानते हैं कि इंटरमिटेंट फास्टिंग शुरु करने से पहले हेल्थ एक्सपर्ट्स से इंटरमिटेंट फास्टिंग के खतरे के हेल्थ टिप्स लेना जरूरी होता है.

जो लोग हार्ट रोग, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, गैस्ट्रो या आंत की बीमारी से परेशान हों उनके लिए यह डाइट प्लान ठीक नहीं होता है. ऐसे रोगियों को अपने डाइट प्लान को अपने डॉक्टर के सलाह पर ही बदलना चाहिए.

हलांकि डॉक्टर भी मानते हैं कि दिन के सारे भोजन समय पर करने से शरीर को बेहतर पोषण मिलता है. सुबह का नाश्ता 9 बजे से पहले या सो कर उठने के 1 घंटे के अंदर कर लेना चाहिए. नाश्ते के 4 घंटे बाद दोपहर का भोजन और शाम का नाश्ता हल्का जरूर करना चाहिए. रात में 9 बजे से पहले भोजन कर लेना चाहिए. यह सबसे अच्छा वेट लॉस टिप्स माना जाता है.

Intermittent Fasting: वजन घटाने के लिए इंटरमिटेंट फास्टिंग कैसे करें.

12 से 16 घंटे की फास्टिंग करने से पहले-जान लें इसके फायदे व नुकसान.

वेट लॉस के लिए इंटरमिटेंट फास्टिंग करने का सही तरीका.

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on