Advertisement

भुट्टा खाइए और सेहत को दीजिए ये खास फायदे

बरसात के मौसम में सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला स्नेेक्स होता है भुट्टा ।  लोग इसे अपनी पसंद से अलग-अलग स्वाद में खाना पसंद करते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि स्वाद के साथ ही भुट्टा सेहत का भी खास स्रोत है। भुट्टा बच्‍चों को जरूर खिलाना चाहिए। इससे उनके दांत मजबूत होते हैं। मुंह में होने वाले कीटाणुओं से भी छुटकारा मिलता है।

आयुर्वेदिक औ‍षधि 

आयुर्वेद के अनुसार भुट्टा तृप्तिदायक, वातकारक, कफ, पित्तनाशक, मधुर और रुचि उत्पादक अनाज है। पकाने के बाद इसकी पौष्टिकता और बढ़ जाती है। पके हुए भुट्टे में पाया जाने वाला कैरोटीनायड विटामिन-ए का अच्छा स्रोत होता है।

एंटी-ऑक्सीअडेंट्स

भुट्टे को पकाने के बाद उसके 50 प्रतिशत एंटी-ऑक्सीअडेंट्स बढ़ जाते हैं। यह बढती उम्र को रोकता है और कैंसर से लड़ने में मदद करता है। पके हुए भुट्टे में फोलिक एसिड होता है जो कि कैंसर जैसी बीमारी में लड़ने में बहुत मददगार होता है।

कोलेस्ट्रॉल फाइटर 

भुट्टे में मिनरल्स और विटामिन प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। भुट्टे को एक बेहतरीन कोलेस्ट्रॉल फाइटर माना जाता है, जो दिल के मरीजों के लिए बहुत अच्छा है।

टीबी की बीमारी में 

टीबी के मरीजों के लिए मक्का बहुत फायदेमंद है। टीबी के मरीजों को या जिन्हें टीबी होने की आशंका हो हर रोज मक्के की रोटी खाना चाहिए। इससे टीबी के इलाज में फायदा होगा।

मक्के के बाल

मक्के के बाल (सिल्क) का उपयोग पथरी रोगों की चिकित्सा मे होता है। पथरी से बचाव के लिए रात भर सिल्क को पानी मे भिगोकर सुबह सिल्क हटाकर पानी पीने से लाभ होता है। पथरी के उपचार में सिल्क को पानी में उबालकर बनाये गये काढ़े का प्रयोग होता है।

हेल्‍दी ली‍वर 

यदि गेहूं के आटे के स्थान पर मक्के के आटे का प्रयोग करें तो यह लीवर के लिए अधिक लाभकारी है। यह प्रचूर मात्रा में रेशे से भरा हुआ है। इसलिए इसे खाने से पेट अच्छा रहता है। इससे कब्ज, बवासीर और पेट के कैंसर के होने की संभावना दूर होती है।

हेल्‍दी बोन्‍स 

भुट्टे के पीले दानों में बहुत सारा मैगनीशियम, आयरन, कॉपर और फॉस्फोरस पाया जाता है जिससे हड्डियां मजबूत बनती हैं। एनीमिया को दूर करने के लिए भुट्टा खाना चाहिए क्योंकि इसमें विटामिन बी और फोलिक एसिड होता है।

ग्‍लोइंग स्किन 

खुजली के लिए भी भुट्टे का स्टॉर्च प्रयोग किया जाता है। वहीं इसके सौंदर्य लाभ भी कुछ कम नहीं है। इसके स्टार्च के प्रयोग से त्वचा खूबसूरत और चिकनी बन जाती है।

यह भी पढ़ें – एक कप कॉफी देती है इतने सारे लाभ

हेल्‍दी हार्ट 

भुट्टा दिल की बीमारी को भी दूर करने में सहायक है क्योंकि इसमें विटामिन सी, कैरोटिनॉइड और बायोफ्लेवनॉइड पाया जाता है। यह कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ने से बचाता है और शरीर में खून के प्रवाह को भी बढ़ाता है।

यह भी पढ़ें – Weight loss : वजन कम करने में मददगार है जीरा पाउडर, इस तरह करें इस्‍तेमाल

प्रेगनेंसी में फायदेमंद

इसका सेवन प्रेगनेंसी में भी बहुत लाभदायक होता है इसलिए गर्भवती महिलाओं को इसे अपने आहार में जरूर शामिल करना चाहिए। क्योंकि इसमें फोलिक एसिड पाया जाता है जो गर्भवती के लिए बेहद जरूरी है।

Advertisement

फिटनेस वीडियोView More

Advertisement

ब्यूटी वीडियोView More

डिज़ीज़ वीडियोView More

सेक्‍सुअल हेल्थ वीडियोView More

प्रेगनेंसी वीडियोView More

Health Calculator

Latest Articles

Tips To Prevent Viral Fever

वायरल फीवर में क्या करें-क्या नहीं: बुखार से छुटकारा पाने के लिए जानिए कुछ घरेलू उपचार

यदि बुखार कम नहीं होता है या 2-3 दिनों में सुधार के कोई संकेत नहीं दिखते हैं तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श लें।

Weak Bones

90 फीसदी लोगों को नहीं पता कमजोर हड्डियों के ये 5 लक्षण! नजरअंदाज करने पर 'तिल्ली' जैसी हो सकती हैं हड्डियां

कुछ स्वास्थ्य स्थितियां ऐसी हैं, जो हड्डियों के स्वास्थ्य को प्रभावित करती हैं। इसलिए जरूरी है कि बचपन से ही अपनी हड्डियों की देखभाल करें।

Anemia Causes

महिलाओं में पीरियड्स के दौरान बढ़ सकता है एनिमिया का खतरा, इस तरह के उपायों से दूर हो सकती है यह समस्या

एक नयी स्टडी के अनुसार महिलाओं में एनिमिया का एक प्रमुख कारण पीरियड्स के दौरान होने वाला हेवी फ्लो भी हो सकता है। (Anemia in women causes in Hindi.)

Long Covid Symptoms

कोविड के बाद लोगों को परेशान कर रही दिल से जुड़ी ये परेशानी! जानें लक्षण से लेकर सब कुछ

आमतौर पर अधिकांश कोविड रोगी चार सप्ताह में पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं जबकि कुछ को ठीक होने में कुछ हफ्ते या महीने भी लग जाते हैं।