Advertisement

World Asthma Day: आप भी हैं Asthma से परेशान, तो डॉक्टर से जानिए इसका सही इलाज

शरीर के किसी भी अंग से जुड़ी कोई भी बीमारी आपको काफी परेशान कर सकती है। अगर फेफड़े से जुड़ी बीमारी की बात करें तो सबसे आम समस्या है अस्थमा यानी दमा। अस्थमा के रोगी को सांस लेने में काफी दिक्कत होती है। डॉक्टरों का मानना है कि सांस लेने में जरा सी भी दिक्कत हो तो उसको नजरंदाज नहीं करना चाहिए क्योंकि ये शरीर को कई तरह से नुकसान पहुंचा सकती है। अस्थमा के लक्षणों की बात करें तो इनमें सांस लेने में दिक्कत, बलगम आना और सीने में जकड़न जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जिसके चलते कामकाज करने में काफी दिक्कत होती है।

What are the types of Asthma:

दमा के दो प्रकार होते हैं। यह बच्चों से लेकर 30-40 साल तक की उम्र के लोगों में हो सकता है। अस्थमा की बीमारी ज्यादातर अधिक प्रदूषण, धूल, मिट्टी, या कुछ खाने की वजह से होती है ऐसे में जरूरी है कि आप उन चीजों से दूर रहें जिनकी वजह से आपको सांस लेने में दिक्कत होती है। World Asthma Day पर हम आपको दमा से जुड़ी कुछ ऐसी ही बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप इस बीमारी से अपना बचाव कर सकते हैं।

Advertisement

फिटनेस वीडियोView All

Advertisement

ब्यूटी वीडियोView All

डिज़ीज़ वीडियोView All

सेक्‍सुअल हेल्थ वीडियोView All

प्रेगनेंसी वीडियोView All

Health Calculator

Latest Articles

Migraine Treatment

Migraine vs Sinus Headache: माइग्रेन और साइनस वाले सिरदर्द में क्या अंतर है, जानिए दोनों में क्या समानता है और कौन है ज्‍यादा पेनफुल

माइग्रेन (Migraine) के सिरदर्द की तरह ही साइनस की वजह से होने वाला दर्द भी बहुत तेज होता है। लेकिन, कई बार लोगों को माइग्रेन और साइनस के बीच अंतर समझ नहीं आता और वे इनका सही तरीके से इलाज नहीं कर पाते।

Happy Married Life

शादी के बाद भूलकर भी न करें ये 6 गलतियां, वरना आपकी मैरिड लाइफ हो जाएगी तबाह!

शादीशुदा लाइफ को हैपी रखने के लिए काफी सोच समझकर कदम उठाने पड़ते हैं, आपकी एक छोटी गलती आपके रिश्ते को तबाह कर सकती है।

Mastika Gum

मैस्टिक गम क्या है, जो कई रोगों में है फायदेमंद; जानिए Mastika Gum के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

मैस्टिक गम एक तरह का राल है। जो कई तरह की बीमारियों के इलाज के लिए फायदेमंद है। इसका इस्तेमाल सदियों से किया आता जा रहा है। जो काफी फायदेमंद भी है।

Heat Wave Before During After

लू से बचने के लिए पानी जरूर पिएं, मगर ज्यादा पानी किडनी के लिए है हानिकारक; जानिए हीट वेव से बचने के लिए और क्या-क्या करें

मुंबई के वॉकहार्डट अस्पताल की कंसल्टेंट डॉक्टर हनी सावला ने लू से बचने के लिए 1 दिन में कितनी मात्रा में पानी पीने की सलाह से लेकर इससे बचने के अन्य कई सारे उपाय बताए हैं, जिसके बारे में हम आपको यहां विस्तार से बता रहे हैं।

Child Obesity

बच्चे को मोटा होने से रोकेंगी ये 7 अच्छी आदतें! इन 5 कारणों से बढ़ता है बच्चों में मोटापा

मोटापा एक आम समस्या है, जो बच्चों में हो जाए तो आगे चलकर काफी ज्यादा परेशानी खड़ी करता है। आइए जानते हैं कैसे बच्चे को मोटा होने से बचाएं।