• हिंदी

World Acupuncture Day 2022: एक्यूपंचर क्या है? जानें इस विधि के कुछ फायदे और नुकसान, Watch Video

एक्यूपंचर से आप अपनी बीमारी का इलाज कर सकते हैं, इस वीडियो में जाने इसके फायदे ओर नुक्सान भी।

Published by Nikhil Khattar |Published : November 15, 2022 8:41 PM IST

World Acupuncture Day 2021: दरअसल जब भी हमे कही कोई दर्द होता है तो हम अन्य इलाज की ओर रुख़ करते हैं और उन्हीं इलाज में से एक इलाज है एक्यूपंचर। एक्यूपंचर का उपयोग सबसे पहले चीन में ही हुआ था। वास्तव में एक्यूपंचर एक तरह के इलाज की क्रिया हैं। इस क्रिया में आपके शरीर के कुछ ऐक्टिव पॉइंट्स पे दबाव दिया जाता हैं और यह दबाव एक सुई के जरिए दिया जाता हैं। वैसे तो इसके कई फायदे होते हैं, लेकिन इसके कुछ नुक्सान भी हैं। कुछ लोग दवाइयों की जगह एक्यूपंचर करवाना ज़्यादा बेहतर समझते हैं। एक्यूपंचर में बारीक सुई को आपके शरीर में लगाया जाता हैं। इनका इस्तेमाल शरीर में ऊर्जा देने के लिए किया जाता हैं। यह कई बीमारियों को सही करने के लिए किया जाता हैं जो पूरी तरह नेचुरल होता हैं। एक्यूपंचर से आप पीठ दर्द, मुंहासे, अनिद्रा, अस्थमा और मोटापे जैसी समस्या दूर कर सकते हैं। बस इसे सही तरीके से करवाना चाहिए। अगर इसका तरीका गलत हुआ तो यह नुक्सान भी पहुँच सकता हैं। जानते हैं एक्यूपंचर के फायदे ओर नुक्सान -

एक्यूपंचर के फायदे -

स्ट्रेस को कम करता हैं एक्यूपंचर- स्ट्रेस लेवल को सही रखने में काम अता है एक्यूपंचर, एक्यूपंचर आपका तनाव, चिंता और एंग्जायटी को सही रखता हैं। साथ ही यह माइग्रेन की समस्या को भी दूर करता हैं।

नींद की समस्या- एक्यूपंचर ने आप अपनी नींद की समस्या को भी सही कर सकते हैं। अगर आपको नींद ठीक से नहीं आती या नींद पूरी नहीं होती यह आप नींद की क्रिया को सही करती हैं। एक्यूपंचर से आपके शरीर में मेलाटोनिन नामक हॉर्मोन पैदा होता हैं जिससे आपको नींद की समस्या से रहत मिलती हैं और कुछ ही हफ़्तों में आप ठीक हो सकते हैं।

अर्थराइटिस को सही करता हैं- एक्यूपंचर से आप अपने कमर और पीठ दर्द से रहत पा सकते हैं। इससे आपके जोड़ों के दर्द में भी रहत मिलती हैं। यह हमारी मांसपेशियों में दर्द की समस्या को भी सही करता हैं।

उलटी- एक्यूपंचर से आप उलटी की समस्या या जी मचलने की समस्या से भी छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए आपको कलाई के आस-पास सुई लगानी होती हैं। इसके लिए एक सही डॉक्टर ही आपका इलाज कर सकता हैं।

याद्दाश्त- एक्यूपंचर से किसी भी मरीज़ की याद्दाश्त लाई जा सकती हैं या उसे ठीक किया जा सकता हैं। अगर कोई पार्किंसंस का मरीज़ हैं और अगर वह एक्यूपंचर सही तरीके से करवाता है तो उसकी याद्दाश्त में सुधार आ सकता हैं।

एक्यूपंचर के नुकसान-

थकान- कुछ लोगों को एक्यूपंचर के बाद थकान महसूस होती हैं। कुछ लोगों को 3 से 4 दिन तक थकान रहती हैं। इसका मतलब की आपके शरीर को आराम की सख्त ज़रूरत हैं।

शरीर में दर्द- एक्यूपंचर करवाने के बाद अक्सर आपके शरीर में दर्द रहता हैं क्यों की आपकी मांसपेशियों में ऐंठन आ जाती हैं जो कुछ ही समय में ठीक हो जाती हैं।

नील पड़ना- एक्यूपंचर में अहमारे शरीर में सुई लगाई जाती हैं जिसके बाद उसी जगह पे नील पढ़ जाता हैं। इसे आप साइड इफ़ेक्ट भी बोल सकते हैं। ऐसा होने पर आपको दर्द का शरीर में सूजन भी हो सकती हैं।

सर दर्द- एक्यूपंचर के बाद अक्सर लोगों को सर में दर्द होता हैं। लेकिन इससे बचने के लिए आप एक्यूपंचर से पहले कुछ खा लें और एक्यूपंचर की क्रिया के बाद कुछ देर उसी जगह पर लेटे रहें और गहरी सांस लें।

भावुक- एक्यूपंचर चिकित्सा के दौरान व्यक्ति मानसिक और शारीरिक रूप से टूट जाता हैं क्यूंकि इस क्रिया में आपकी एनर्जी निकल जाती हैं जिस वजह से मरीज रोने भी लगता हैं। ऐसे में आपको घबराना नहीं चाहिए।

अगर आप भी अपना इलाज एक नेचुरल तरीके से करवाना चाहते हैं तो घबराए नहीं, किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाएं और अपना इलाज करवाएं।

फिटनेस वीडियोView More

ब्यूटी वीडियोView More

डिज़ीज़ वीडियोView More

सेक्‍सुअल हेल्थ वीडियोView More

प्रेगनेंसी वीडियोView More

Health Calculator

लेटेस्‍ट आर्टिकल्‍स

High Uric Acid

केवल महिलाओं में दिखते हैं हाई यूरिक एसिड बढ़ने के ये लक्षण, इग्नोर करना बढ़ा देगा बीमारी

महिलाओं में यूरिक एसिड लेवल बढ़ जाने के बाद जो लक्षण दिखायी देते हैं वे पुरुषों में दिखने वाले लक्षणों से अलग होते हैं। यहां पढ़ें उन्हीं लक्षणों के बारे में।

Agastya Nanda

अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता को है यह बीमारी, परिवार के इस सदस्य को भी है यह स्किन डिजिज..

अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता बच्चन को एक्जिमा नाम की बीमारी है। जानें क्या है स्किन से जुड़ी ये बीमारी और इसके लक्षण।

Benefits Of Quitting Smoking

शाहिद कपूर को थी स्मोकिंग की लत, इस इंसान के लिए छोड़ी यह आदत

शाहिद कपूर ने कुछ समय पहले ही बताया कि एक ऐसा वक्त भी था जब वे अपनी बेटी मीशा से छुपते फिरते थे और इसकी वजह थी शाहिद की सिगरेट पीने की आदत।

Bad Cholesterol

प्रेगनेंसी में बैड कोलेस्ट्रॉल बढ़ना है खतरे की घंटी, मां-बच्चे दोनों को हो सकते हैं ये बड़े नुकसान

गर्भावस्था में बैड कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से प्रेगनेंट महिला और उसके भ्रूण को भी नुकसान पहुंच सकता है।