Sign In
  • हिंदी

आंखों में है पीलापन तो आज ही अपने लिवर की जांच करवाएं, Watch Video

Written by Nikhil Khattar |Published : November 16, 2022 11:36 AM IST

Bad Liver: अक्सर कुछ बीमारियां चुपके से दस्तक देती हैं। उनमे से एक बीमारी हैं लिवर की। दरअसल लिवर की बीमारी भी चुपके से आती हैं ओर इसके कई संकेत भी होते हैं। अगर इसे समय रहते पहचान लिया जाए तो आप अपने लिवर को बचा सकते हैं। आपतौर पर इसके कुछ लक्षण दिखाई नहीं देते लेकिन यह बीमारी एकदम से आती हैं। लिवर हमारे शरीर का मत्वपूर्ण हिस्सा हैं ओर इसे ठीक रखना हमारा काम हैं। लिवर हमारे शरीर में खाना पचाने का काम करता हैं जिससे हमें ऊर्जा मिलती हैं। अगर आपका लिवर खराब हो जाए तो आपका डाइजेस्टिव सिस्टम बिगड़ जाता हैं। इससे आपको पेट सम्बन्धी बीमारियां हो सकती हैं। हमारा लिवर हमारे शरीर को डेटॉक्स करने का काम करता हैं जिससे हम स्वस्थ रह सकें। अगर हमारा लिवर खराब हो जाये तो हमें भूख नहीं लगेगी ओर हम कमज़ोर होते जाएंगे। दरअसल हमारे लिवर के लिए शराब, हाई कैलोरी और फैट वाला खाना बहुत खराब है क्यों की इसे पचाने में महारे लिवर को बहुत मेहनत करनी पड़ता हैं, ओर अगर यह बार बार हो तो आपका लिवर खराब हो सकता हैं।

लिवर खराब होने के संकेत -

मल का रंग बदलना- अगर आपके लिवर में बार-बार दिक्कत आती है तो आपका मल पतला ओर हल्का होने लगता हैं। लेकिन अगर बाइल सॉल्ट्स की वजह से आपके मल का रंग ओर गहरा है तो आपका लिवर स्वस्थ है।

उलटी या जी मचलना- दरअसल जब आपका लिवर कुछ पचा नहीं पाता या विषाक्त पदार्थों को ठीक से साफ़ नहीं कर पाता तो इसका मतलब है की आपके लिवर में कुछ गड़बड़ हैं।

गैस्ट्रोकॉलिक रिफ्लेक्स- ऐसे में आपको कुछ भी खाने के बाद टॉयलेट जानें की इच्छा होती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्यों की आपका लिवर कुछ भी पचाने में असमर्थ होता हैं, ओर आप ओर भी ज़्यादा मज़ोर होने लगते हैं। ऐसे में आपके शरीर से पानी भी निकल जाता हैं।

आखों ओर त्वचा का रंग बदलना- जब आपका लिवर ठीक से काम नहीं करता तो आपकी त्वचा ओर आखों में पीला पन आ जाता हैं। यह इसलिए होता हैं क्यों की आपने खून में बिलीरुबिन नाम का केमिकल आ जाता हैं, जो की अच्छी बात नहीं।

घाव न भरना- खराब लिवर का एक संकेत ओर भी है आपका घाव भरने में समय लगता हैं। ओर यह इसलिए होता है क्यूंकि आपका लिवर प्रोटीन प्रोडूस नहीं कर पाता। इसलिए भी आपको चोट जल्दी लगती हैं ओर देर से घर भरता हैं।

यूरिन- अगर आपका लिवर खराब है तो आपके यूरिन का रंग बदल जाता हैं। याने की आपका लिवर बिलीरुबिन नमक केमिकल तो तोड़ नहीं पाता। जिस वजह से मरीज़ के यूरिन का रंग गहरा पीला हो जाता हैं।

पेट फूलना- अगर आपका पेट फूल रहा हैं तो इसका मतलब है की आपके पेट में फ्ल्यूड्स भरने लगे हैं और ऐसे में आपके पैर, टखनों और एड़ियों में सूजन आने लगती हैं। यह संकेत है की आपका लिवर खराब है और वह ठीक से काम नहीं कर रहा।

अगर आपको ये बताए गए संकेत अपने शरीर में दिखाई दे रहे है तो तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाएं और अपना इलाज शुरू करवाएं।

फिटनेस वीडियोView More

ब्यूटी वीडियोView More

डिज़ीज़ वीडियोView More

सेक्‍सुअल हेल्थ वीडियोView More

प्रेगनेंसी वीडियोView More

Health Calculator

लेटेस्‍ट आर्टिकल्‍स

Anti Cholesterol Food

नसों में बैड कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकती हैं ये 5 चीजें! खाते ही शरीर पर दिखने लगता है असर

Foods reduce Cholesterol : ब्लड में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से हार्ट डिजीज का खतरा रहता है। इसलिए बैड कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करना बहुत ही जरूरी है। आइए जानते हैं कोलेस्ट्रॉल कैसे करें कंंट्रोल?

How To Identify Pneumonia Fever

निमोनिया का खांसी, बुखार इस तरह होता है दूसरे खांसी-बुखार से अलग, इस तरह पहचानें गंभीर बीमारी के लक्षण

How to identify pneumonia fever : आइए जानते हैं कैसे आप आम सर्दी-बुखार के मुकाबले ये पहचान सकते हैं कि कहीं आपको तो निमोनिया वाला बुखार और खांसी तो नहीं हुई।

Vitamin D Defficiency

देश में 4 में से 3 लोगों को है विटामिन डी की कमी, जानें किन गलतियों से होती है इस न्यूट्रिएंट की कमी

टाटा ग्रुप के एक्सपर्ट्स द्वारा किए गए इस सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में हर 4 में से 3 लोगों में विटामिन डी की कमी देखी जाती है।

Black Tea

हार्ट अटैक के खतरे को कम करती है ब्लैक टी, जानें दिल को इससे मिलने वाले फायदों के बारे में

Black tea for Heart: दिल को स्वस्थ रखने के लिए सही उचित डाइट और सही लाइफस्टाइल होने के साथ-साथ कुछ खास देखभाल होना भी जरूरी है। रोजाना ब्लैक टी पीने की आदत भी आपके दिल के लिए काफी फायदेमंद हो सकती है।

Health Tips

अपने दिल का स्वास्थ्य जानने के लिए 30 के बाद जरूर कराएं ये 4 सिंपल टेस्ट, बुढ़ापे में भी नहीं आएगा हार्ट अटैक!

Simple Tests To Know Your Heart Health: हार्ट अटैक के मामले अब युवाओं में भी दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में अब उन्हें भी सतर्क रहने की जरूरत है।