Sign In
  • हिंदी

अगर हो गया है प्‍यार, तो पहल से क्‍यों डरना

पुरानी अवधारणाओं को तोड़ अब डेट के लिए भी पहल करने से नहीं डरती लड़कियां।

Written by Editorial Team |Published : July 20, 2018 7:05 PM IST

अभी तक यह माना जाता था कि प्‍यार और रिलेशनशिप में सिर्फ लड़के ही पहल करते हैं। पर अब यह धारणा बदल रही है। बल्कि अब तो पॉवरफुल और मेंटली स्‍ट्रॉन्‍ग लड़कियां खुद कर रही हैं लव और रिलेशनशिप में पहल। जानें क्‍यों होता है ऐसा और क्‍या हैं इसके फायदे।

बदल रही है अवधारणा

जब भी डेट या प्रपोज करने की बात आती है तो यह माना जाता है कि इन सबके लिए पुरुषों को ही पहल करनी चाहिए। हालांकि यह सब बातें पहले के समय में मानी जाती थी। आज के समय में लड़कियां भी लड़कों की तरह पहल करके प्रपोज करती हैं। आजकल लोग बहुत व्यस्त रहते हैं कि अगर इस व्यस्त जीवन में आपको कई पसंद आ जाए तो उसे खुद से दूर ना जाने दें। आजकल लड़कियों को इस दौरान पहल करने में कोई बुराई नहीं लगती है।

Also Read

More News

खुद ले रहीं हैं अपने फैसले

एजुकेशन, कॅरियर, घर, गाड़ी तक के फैसले लड़कियां अब खुद ले रही हैं, तो फि‍र प्‍यार के लिए किसी और के पहल करने का इंतजार करना उन्‍हें बहुत बोरिंग लगता है। बल्कि कई लड़कियां तो इसे सेल्‍फ एस्‍टीम से जोड़कर देखती हैं। अपने सारे फैसले खुद लेने वाली लड़कियां जब प्रपोज करने के लिए पार्टनर का इंतजार करती हैं, तो यह कई बार बहुत बनावटी भी लगने लगता है।

आत्मविश्वास दिखता है: अगर महिला को पता है कि उसे अपने जीवन में क्या चाहिए इससे ज्यादा आकर्षित कुछ नहीं होता है। उनका यही आत्मविश्वास आपको उनकी तरफ आकर्षित करता है और आपको उस इंसान के साथ रिलेशनशिप में जाने का मौका मिलता है जो सच में आपको पसंद करता है।

पावरफुल महसूस होता है:

अपने रिलेशनशिप का फैसला खुद करने से उनमें पावरफुल होने का अहसास होता है। उन्‍हें लगता है कि वह कुछ ऐसा कर रहीं हैं जो अब तक नहीं किया गया। इस तरह वे पुराने नियमों को तोड़ते हुए खुद को बहुत मजबूत महसूस करती हैं।

नहीं करना पड़ता इंतजार : सभी लड़के एक से नहीं होते हैं कुछ लड़के शर्मीले भी होते हैं। तो अगर आप इस तरह के लड़के से डेट के लिए पूछती हैं तो शायद वह भी आपके इसी मौके का इंतजार कर रहा हो।

तैयार हैं रिजेक्‍शन के लिए भी : इस तरह की पहल में एक खतरा रिजेक्‍शन का भी होता है। पर लड़कियां अब किसी तरह के रिजेक्‍शन से भी नहीं घबरातीं। वे जानती हैं कि जैसे उनकी पसंद नापसंद है, इसी तरह किसी दूसरे की भी पसंद नापसंद हो सकती है। और इसके लिए वे मानसिक रूप से भी तैयार हैं।

चित्रस्रोत: Shutterstock.

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on