Advertisement

अपनी बेहतरी के लिए 30 की उम्र के बाद बंद कर दें ये 6 ग़लतियां!

30 की उम्र पार करने के बाद आपको ये चीज़ें ज़रूर सीखनी चाहिए।

30 की उम्र पार करना या यूं कहें कि अधेड़ उम्र आपको पूरी तरह से एक अलग यात्रा पर ले जाती है। मैं कुछ साल पहले अपना 30वां जन्मदिन मनाने के लिए उत्साहित थी। लेकिन कुछ महीनों बाद ही, मुझे एहसास हुआ कि 30 की उम्र पार करने के बाद ज़िंदगी में कुछ बड़े बदलाव होते हैं। बीते समय में मुझे जो काम करना चाहिए था या यूं कहें जिसपर ध्यान देना था वह थी मैं खुद। मुझे जीवन को बेहतर और सरल बनाने के लिए कुछ बदलाव करने होंगे। मैं और अधिक स्पष्ट रूप से सोचने में सक्षम हो गई और इसलिए मैं यहां आपको बता रही हूं कुछ ग़लतियां, जो मुझे लगता है कि मुझे 30 साल की उम्र से पहले नहीं करनी चाहिए।

  • स्वास्थ्य: मैंने वास्तव में यह नहीं सोचा था कि मेरी उम्र मेरी सेहत पर असर डालेगी। शरीर बूढ़ा होने लगता है और ऐसे में प्रभावित होने वाली पहली चीज है आपका मेटाबॉलिज़्म। मैंने अपनी जीवनशैली या आदतों को बदलना ज़रूरी नहीं समझा। लेकिन शरीर पर लव हैंडल और टायर दिखने लगे और चेहरे ने अपनी चमक को खोना शुरू कर दिया। इससे पहले कि मैं यह समझ भी सकती, मेरा वजन कुछ किलो बढ़ गया और ज़ाहिर है मैं इससे खुश नहीं थी। यदि आप स्वस्थ और सक्रिय रहना चाहते हैं, खासकर 30 की उम्र के बाद, तो विशेष रूप से आपके स्वास्थ्य की अनदेखी करना बंद कर दें।

Also Read

More News

  • लोगों को खुश करना: मेरी बात पर विश्वास करें, 30 की उम्र के बाद आपको लोगों को खुश करने की कोशिश बहुत कम करनी चाहिए। लोगों का प्यार पाने के लिए उनकी खुशामद करना या यूं ही लोगों को खुश करने की कोशिशे बंद कर दें। लोग अजीब होते हैं। हो सकता है कि आप उनके लिए जो कुछ भी कर रहे हैं, वह उसकी तारीफ न करें लेकिन उन सभी बातों को गिनाने लगें जो आपने उनके लिए नहीं किया। अधिकांश लोग आपकी आलोचना भी करेंगे और आप निश्चित रूप से इस बात पर पछताना नहीं चाहेंगे कि आपने उन्हें खुश करने की कोशिश नहीं की। इसीलिए अपने आप पर फोकस करें ना कि दूसरों पर।

  • आर्थिक स्थिति: पैसे खर्च करें लेकिन बचाना भी न भूलें। वैसे पैसा आपकी ख़ुशी नहीं खरीद सकता, लेकिन जब आप दुखी और उदास महसूस करते हैं, तब आपके पास पैसे होना बेहतर होता है। इस उम्र में पैसों से जुड़ा संघर्ष करना काफी निराशाजनक हो सकता है। इसीलिए किसी और पर निर्भर रहने (आपका परिवार, प्रेमी, सीए या पति या पत्नी) की बजाय, अपने पैसों का हिसाब रखना और भविष्य के लिए पैसे बचाने का काम शुरु करें।

  • अनावश्यक चीजों पर समय बर्बाद करना: इसमें ओछे लोग और रिश्ते भी शामिल हैं। मैं मानती हूं कि हम सभी को अपने बारे में अच्छा महसूस करने के लिए जीवन में कुछ ध्यान भटकानेवाली चीज़ों की ज़रूरत पड़ती ही है, जिसे हम खुशी मानने की ग़लती कर बैठते हैं। दूसरे लोगों या चीजों को अपनी प्राथमिकता बनाना बंद करें। आपकी प्राथमिकता सूची में शीर्ष पर एकमात्र व्यक्ति आप हैं। आपको जो पसन्द है और आप जो करना चाहते हैं वही करें, क्योकि वही सही है।

  • उम्मीदें: आप लोगों से जितनी कम उम्मीदें करते हैं, आप उतना अधिक खुश रहेंगे। मुश्किल लगता है, लेकिन आप बड़े हो रहे हैं और यह एक बात है जिसे आपको सीखना ही चाहिए। लोग समय के साथ बदल जाते हैं, इसीलिए विभिन्न परिस्थितियों में उनका आपकी अपेक्षाओं पर खरा उतरना मुश्किल हो सकता है। लोगों से ज़्यादा की उम्मीद करने की आपकी आदत की वजह से खुद को चोट न पहुंचाए।
  • नकली खुशी: सोशल मीडिया पर तस्वीरें पोस्ट करना और लोगों को बताना कि आप कितने खुशमिजाज और कूल हैं, ठीक नहीं है। खुश रहने का दिखावा करना या जबरन खुश रहने की कोशिश करना बंद करें। आपको अनावश्यक चीजों या मतलबी दोस्तों के साथ समय बर्बाद करने की आवश्यकता नहीं है। हो सकता है कि आप उनके साथ अच्छा समय बिता रहे हों, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आप खुश हैं।

Read this in English.

अनुवादक-Sadhana Tiwari

चित्रस्रोत-Shutterstock.

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on