Sign In
  • हिंदी

सेक्‍स सवाल : क्‍या वजाइना में नारियल तेल लगाना सुरक्षित होता है ?

नारियल तेल अन्‍य वॉटर और सिलिकॉन बेस्‍ड ल्‍यूब्‍स से बहुत बेहतर है पर अगर आपको यीस्‍ट इंफेक्‍शन है तो आपके लिए इसका इस्‍तेमाल जोखिम भरा हो सकता है। ©Shutterstock.

नारियल तेल अन्‍य वॉटर और सिलिकॉन बेस्‍ड ल्‍यूब्‍स से बहुत बेहतर है पर अगर आपको यीस्‍ट इंफेक्‍शन है तो आपके लिए इसका इस्‍तेमाल जोखिम भरा हो सकता है।

Written by Editorial Team |Published : April 21, 2019 3:44 PM IST

कुछ महिलाएं वजाइनल ड्राइनैस की शिकार होती हैं। जिसकी वजह से उनके लिए सेक्‍स का अनुभव तकलीफ भरा हो जाता है। इस तकलीफ भरे अनुभव से बचने के लिए विशेषज्ञ सेक्‍स के समय ल्‍यूब्‍स यानी ल्‍यूब्रीकेंट्स का इस्‍तेमाल करने की सलाह देते हैं। पर कुछ ऐसे प्राकृतिक ल्‍यूब्‍स भी हैं जो आपके घर में ही मौजूद हैं। ऐसा ही नेचुरल ल्‍यूब है नारियल तेल यानी कोकोनट ऑइल। आइए जानते हैं कि वजाइना की सेंसिटिव स्किन के लिए यह कितना सुविधाजनक है।

यह भी पढ़ें - इरेक्‍टाइल डिस्‍फंक्‍शन की वजह कहीं आपका खानपान तो नहीं ?

नारियल का तेल स्किन, बाल, वेट लॉस, कुकिंग ऑइल के तौर पर पहले से ही इस्तेमाल किया जाता रहा है। क्या आपको पता है कि इसे लूब्रिकेंट के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है? जी हां, ज्यादातर महिलाएं ऐसा मानती हैं कि मार्केट में मिलने वाले लूब्रिकेंट उन्हें नुकसान पहुंचा सकते हैं। इस वजह से वे ल्यूब्स का इस्तेमाल करने से बचती हैं या गलत चीजें भी इस्तेमाल कर लेती हैं।

Also Read

More News

यह भी पढ़ेें – नुकसानदायक हो सकता है कैजुअल सेक्‍स, जानें इसके साइइ इफैक्‍ट्स

आसान हो जाता है सेक्‍स

ज्यादातर को इस बात का अहसास नहीं होता कि लूब्रिकेंट के इस्तेमाल से इंटरकोर्स काफी आरामदायक बन सकता है। फिर भी अगर आप ल्यूब नहीं खरीदना चाहतीं तो कोकोनट ऑइल का इस्तेमाल कर सकती हैं। दरअसल नारियल का तेल सेंसेशन बढ़ाता है और आपके सेक्स को ज्यादा मजेदार बनाता है, ठीक वैसे ही जैसे मार्केट के दूसरे लूब्रिकेंट्स। लेकिन क्या कोकोनट ऑइल वजाइना के लिए पूरी तरह से सेफ या इससे कोई दिक्कत भी हो सकती है?

यह भी पढ़ें – गर्मियों में सेक्‍स के बाद जरूर फॉलो करें पर्सनल हाइजीन के ये टिप्‍स, हेल्‍दी रहेगी सेक्‍स लाइफ

कितना सुरक्षित है नारियल तेल

नारियल का तेल प्राकृतिक होता है साथ ही इसमें प्रिजर्वेटिव्स भी नहीं होते, इन सबके अलावा यह सस्ता भी होता है। इस तेल में नैचुरल ऐंटीमाइक्रॉबियल और ऐंटीफंगल प्रॉपर्टीज भी होती हैं। वॉटर और सिलिकॉन बेस्ड ल्यूब्स की तुलना में यह गाढ़ा और लॉन्ग लास्टिंग होता है। इसमें मॉइश्चराइजिंग प्रॉपर्टीज भी होती हैं। दूसरे तेलों की तुलना में नारियल के तेल को लूब्रिकेंट के तौर पर इस्तेमाल करना आसान होता है।

ऐसे में न इस्‍तेमाल करें कोकोनट ऑइल 

- नारियल तेल लैटेक्स कॉन्डम के साथ यूज न करें क्योंकि तेल से लैटेक्स के खराब होने की संभावना हो सकती है। ऐसा करने से आप प्रेग्नेंट हो सकती हैं या STD का डर रहता है। कॉन्डम ब्रेक भी हो सकता है।

-लैटेक्स कॉन्डम के साथ सिर्फ वॉटर बेस्ड या सिलिकॉन बेस्ड कॉन्डम का इस्तेमाल करना चाहिए।

-नारियल तेल का इस्तेमाल सिर्फ पॉलियूरेथेन कॉन्डम्स के साथ करना चाहिए।

-अगर आपको वजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन हो जाता है तो नारियल तेल का इस्तेमाल ल्यूब के तौर पर न करें, इससे आपकी वजाइना का पीएच बिगड़ सकता है।

-यह भी जरूरी है कि रिफाइंड नारियल तेल के बजाय वर्जिन नारियल तेल का इस्तेमाल करें। कोई भी एक्सिपेरिमेंट करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह ले लें।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on