Advertisement

क्या contraceptive pill का इस्तेमाल बार-बार करने पर infertility का प्रॉबल्म हो सकता है?

क्या गर्भनिरोधक गोलियों से भविष्य में प्रजनन क्षमता यानि fertility पर असर पड़ सकता है?

क्या आप जानती हैं कि महिलाओं को गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल कब करना चाहिए? आपको बता दें कि इन गोलियों का इस्तेमाल केवल उस दौरान ही करना चाहिए, जब यौन संबंध बनाते समय किसी भी तरह का प्रोटेक्शन लेना भूल जाते हैं। एक सवाल अक्सर महिलाओं को परेशान करता है कि क्या गर्भनिरोधक गोलियां लेने के बाद भी प्रेगनेंसी का खतरा रहता है? आपको बता दें कि ये कोई स्थायी समाधान नहीं होता है। दिल्ली स्थित एडवांस फर्टिलिटी एंड गाइनोकोलोजिस्ट सेंटर की डायरेक्टर और इनफर्टिलिटी स्पेशलिस्ट डॉक्टर काबेरी बनर्जी आपको गर्भनिरोधक गोलियों से संबंधित ऐसे ही चार बड़े सवालों को जवाब दे रही हैं।

1) क्या गर्भनिरोधक गोलियों से फर्टिलिटी यानि प्रजनन क्षमता पर प्रभाव पड़ सकता है?

गर्भनिरोधक गोलियां लॉन्ग टर्म फर्टिलिटी को प्रभावित नहीं करती हैं। हालांकि इस दावा का अनुचित और लगातार उपयोग हार्मोनल असंतुलन का कारण बन सकता है। गर्भनिरोधक गोलियां लेने के बाद अगर आपको इनमें से कोई समस्या होती है, तो आपको तुरंत गाइनोकोलोजिस्ट की सलाह लेनी चाहिए।

Also Read

More News

  • अगर आपको रैशेज, खुजली, सांस लेने में परेशानी होती है, तो डॉक्टर से मिलें।
  • ज्यादातर महिलाओं को अनुमानित तारीख से सात दिन के भीतर पीरियड्स हो सकते हैं। अगर आपको पीरियड्स नहीं हुए हैं, तो आपको इस संबंध में डॉक्टर से मिलना चाहिए।
  • अगर आपको पेट के निचले हिस्से और पीठ में दर्द या ऐंठन हो, चक्कर आने लगे या फिर योनि से खून बहने लगे। यहां तक कि पीरियड्स के शुरू होने से पहले भी अगर इस तरह की समस्याएं हों तो, आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।
  • अगर आप पहले से ही किसी तरह की एंटीबायोटिक या एंटीएपलेप्टिक दवाएं ले रहे हैं, तो पहले आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

2) गर्भनिरोधक गोली कैसे काम करती हैं?

लेवोनोरगेस्ट्रेल (Levonorgestrel) गर्भनिरोधक गोलियां ओव्यलैशन में देरी करके और स्पर्म को एग्स से मिलने से रोककर प्रेगनेंसी से बचाती हैं। अगर गर्भधारण की प्रक्रिया पहले से ही शुरू हो चुकी है, तो ये गोलियां प्रभाव नहीं डालती हैं।

3) इसके साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

गर्भनिरोधक गोलियों से उल्टी, पेट दर्द, मतली, थकान, सिर दर्द, मासिक-धर्म परिवर्तन, दस्त, चक्कर आना, स्तन कोमलता, एलर्जी आदि की समस्याएं हो सकती हैं। गोली खाने दो से तीन घंटे के भीतर उल्टी हो जाने पर इसे दोबारा खाना चाहिए।

4) क्या इससे प्रजनन क्षमता या भविष्य में बच्चे को जन्म देने की क्षमता पर असर पड़ सकता है?

हालांकि ऐसा अभी तक देखा नहीं गया है कि गर्भनिरोधक गोलियों से भविष्य में प्रजनन क्षमता पर असर पड़े। चूंकि यह गोलियां शरीर में सामान्य चल रहे हार्मोनल सिस्टम को बाधित करती हैं, इसलिए जरूरत पड़ने पर ही इनका इस्तेमाल करना चाहिए। वैसे सीधे तौर पर इन गोलियों का प्रजनन क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता है।

Read this in English

अनुवादक – Usman Khan

चित्र स्रोत - Shutterstock


Total Wellness is now just a click away.

Follow us on