Advertisement

बढ़ानी है सेक्स क्षमता? ट्राई करें सफेद मूसली!

Erectile dysfunction प्रॉब्लम है? ये हर्ब करेगी आपकी मदद!

Read this in English.

अनुवादक: Mousumi Dutta

प्रतियोगिता के कारण  देर तक ऑफिस में काम करने, तनाव भरी जिंदगी और हेल्दी डायट और लाइफस्टाइल पर नहीं टिके रहने का कुप्रभाव आपके सेहत पर ही सिर्फ नहीं पड़ता है बल्कि आपके सेक्स परफॉर्मेंस पर भी पड़ता है। अगर सचमुच आप सेक्स का प्लेज़र न उठा पा रहें है और न दे पा रहे हैं तो आपको इसके उपचार के बारे में सोचने की ज़रूरत है। इस मामले में आपकी सहायता एक हर्ब कर सकती है, वह है सफेद मूसली। सफेद मूसली कामोत्तेजना को बढ़ाने में बहुत मदद करती है। ये क्लोरोफाइटम वोरीविरिअनम (Chlorophytum borivilianum) के जड़ से बनी होती है और इस हर्ब की सबसे अच्छी बात ये है कि भारत के कई प्रांतों में ये आसानी मिल जाती है।

Also Read

More News

आयुर्वेद के अनुसार ये सूखे जड़ लगभग 25 एल्कलॉयड (alkaloids) का स्रोत है। स्टडी के अनुसार ये जड़ नपुसंकता का इलाज असरदार रूप से करने की क्षमता रखता है क्योंकि इसके सेवन से स्पर्म काउन्ट बढ़ता है।

अध्ययन के दौरान इस हर्ब का प्रयोग अलाबिनो रैट पर किया गया और पाया गया कि उनके सेक्चुअल बिहेवियर में काफी बदलाव आया है यहाँ तक कि पेनियल इरेक्शन भी बेहतर हुआ है। क्योंकि सफेद मूसली  टेस्टास्टरोन इफेक्ट जैसा काम करती है। वैसे ये अध्ययन भारत में सदियों से चले आ रहे परंपरा के आधार पर किया गया था लेकिन मानव के ऊपर सीधे तौर पर कोई अध्ययन नहीं किया गया है। फिर भी ये हर्ब इरेक्टाइल डिसफंक्शनमें नैचुरल उपचार के रूप में अपनी दक्षता प्रदर्शित करती है।

सफेद मूसली पाउडर के रूप में या जड़ के रूप में भारत के मार्केट में पाई जाती है। लेकिन इस हर्ब का सेवन करने के पहले आयुर्वेदिक वैद्द या डॉक्टर से सलाह ले लें। वैसे तो इसके साइड इफेक्ट्स के बारे में अभी तक कोई प्रमाण नहीं मिला है।

चित्र स्रोत:Shutterstock

संदर्भ-

Arch Sex Behav. 2009 Dec;38(6):1009-15. doi: 10.1007/s10508-008-9444-8. Epub 2009 Jan 13.  A comparative study on aphrodisiac activity of some ayurvedic herbs in male albino rats.  Thakur M(1), Chauhan NS, Bhargava S, Dixit VK.


Total Wellness is now just a click away.

Follow us on