Sign In
  • हिंदी

इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या से हैं परेशान? पहचानकर इनके लक्षणों को करें हर दिन ये 2 योगासन

सेक्स के दौरान पर्याप्त इरेक्शन ना होना ही इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहलाता है। आप इस समस्या से जूझ रहे हैं, तो कुछ योग और पेल्विक एक्सरसाइज का अभ्यास करना शुरू करे दें।

Written by Anshumala |Updated : May 30, 2022 4:47 PM IST

Yoga To Cure Erectile Dysfunction: इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile dysfunction) यानी नपुंसकता दोष पुरुषों में होने वाली एक सेक्सुअल समस्या है। इस समस्या के कारण कई बार शादीशुदा जिंदगी में प्यार कम होने लगता है। झगड़े-लड़ाइयां आदि शुरू हो जाती हैं। ऐसे में सही समय पर इसका (Erectile dysfunction in men) इलाज करना ही समझदारी है। आप इस समस्या से जूझ रहे हैं, तो कुछ योग और पेल्विक एक्सरसाइज का अभ्यास (Yoga To Cure Erectile Dysfunction in hindi) करना शुरू करे दें।

क्या है इरेक्टाइल डिसफंक्शन?

सेक्स के दौरान पर्याप्त इरेक्शन ना होना ही इरेक्टाइल डिसफंक्शनकहलाता है। इस समस्या में सेक्स के दौरान इरेक्शन पाने या उसे बरकरार रखने में असमर्थ होता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन में पुरुष का लिंग या पेनिस संभोग के दौरान सही तरीके से उत्तेजित नहीं हो पाता और उसका आकार बड़ा नहीं होता। सेक्स के समय जब आपको यह समस्या बार-बार हो, तो तुरंत ही किसी सेक्सोलॉजिस्ट से मिलें। यदि आपको थकान, तनाव या किसी भी तरह की शारीरिक कमजोरी के कारण (Causes of erectile dysfunction) ऐसा होता है, तो आप इस समस्या को खुद से भी कुछ आदतों को फॉलो करके दूर कर सकते हैं।

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के लक्षण

-समय से पहले एजैकुलेशन होना

Also Read

More News

-इरेक्शन होने में कठिनाई

-यौन इच्छा में कमी

-लिंग में इरेक्शन लाने में कठिनाई

-सेक्स के दौरान इरेक्शन बनाए रखने में मुश्किल

-शारीरिक गतिविधियों के दौरान उत्तेजना में कमी

-संभोग तक पहुंचने में असमर्थता

1. करें पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज

इससे मांसपेशियों की शक्ति में सुधार होता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या से जूझ रहे हैं, तो इसका अभ्यास प्रतिदिन करना शुरू कर दें। यह यौन स्वास्थ्य को भी बढ़ावा देती है। वियाग्रा जैसी दवाओं का सेवन खुद से न करें। ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी में हुए एक अध्ययन के अनुसार, पेल्विक एरिया की एक्‍सरसाइज करने से लगभग 40 प्रतिशत पुरुषों में इरेक्‍टाइल की समस्‍या सामान्य हो गई। 33.5 प्रतिशत लोगों में समस्‍या का सुधार भी दिखा।

2. हलासन दूर करे इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या

पेट के आसपास के अंगों के लिए हलासनबहुत ही फायदेमंद आसन है। यह आसन कंधे को फैलाता है, दिमाग को शांत करता है, राज्नोवृति को नियंत्रित करता है तथा पाचन तंत्र को भी मजबूत बनाता है। इस आसन को करने के लिये सबसे पहले सर्वांगासन में आ जाएं। अब अपने पैरों को अपने सिर के ऊपर से ले जाते हुए नीचे टिकाएं।

इस अवस्था में कुछ देर रहें और सांसे लें। यह व्यायाम पुरुषों में यौन शक्ति को बढ़ाता है। नियमित रूप से हलासन करने से शीघ्र पतन और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या में कमी आती है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on