Advertisement

क्‍या सेक्‍स लाइफ पर भी पड़ता है डायबिटीज का असर ?

डायबिटीज रोगियों का सेक्स जीवन भी डायबिटीज के प्रभाव से अछूता नहीं रहता। सेक्‍स के प्रति उनकी रुचि कम हो जाती है। जिससे उनके यौन जीवन का आनंद ही चला जाता है।

डायबिटीज एक गंभीर समस्‍या है। इससे पीड़ि‍त व्‍यक्ति को जीवन के हर पक्ष से संबंधित समस्‍याओं को झेलना पड़ता है। साथ ही डायबिटीज रोगियों का सेक्स जीवन भी डायबिटीज के प्रभाव से अछूता नहीं रहता। सेक्‍स के प्रति उनकी रुचि कम हो जाती है। जिससे उनके यौन जीवन का आनंद ही चला जाता है। लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि इसके लक्षणों को पहचान कर आप सेक्‍स को मजेदार बना सकते हैं और अपने यौन संतुष्टि के समय को बढ़ा सकते हैं। सेक्स अधिक सुखद बनाने के लिए इन विशेषज्ञ सुझावों पर चाहें तो अमल कर सकते हैं।

इसलिए प्रभावित होती है सेक्‍स लाइफ

डायबिटीज से पीड़ि‍त लोगों में खून की नलियों में निरंतर फैट व कैल्शियम का जमाव होता रहता है, जब फैट का जमाव इतना अधिक हो जाता है कि खून की नलियां सकरी होकर सिकुड़ जाती हैं, तो लिंग में जाने वाले शुद्ध खून की सप्लाई बुरी तरह से बाधित हो जाती है और लिंग के सख्त होने में भारी कमी आ जाती है।

Also Read

More News

सेक्‍स हार्मोन की कमी

मधुमेह में सेक्स क्षमता में कमी आने का दूसरा कारण खून में हार्मोंन जैसे टेस्टोस्टरोन की कमी। अक्सर डायबिटीज में थॉयराइड की समस्या रहती है। खून में थॉयराइड हार्मोंन की कमी से भी सेक्स प्रभावित होता है। डायबिटीज के मरीज अक्सर ब्लड प्रेशर की समस्या से भी पीडि़त रहते हैं और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए दी जाने वाली दवाएं भी सेक्स क्षमता को आंशिक रूप से प्रभावित करती है।

यह भी पढ़ें – एक आसन हर रोज : खुद से प्यार करना सिखाता है न्यूड योगा

कुछ नए खिलौनों का पता लगाये

डायबिटीज में योनि में रक्त वाहिकाओं में परिवर्तन के कारण रक्त प्रवाह में कमी आ जाती है। जिससे सेक्‍स में उत्तेजना और सनसनी की कमी हो जाती है। विशेषज्ञ कहते हैं कि आप अपनी समस्‍या को वाइब्रेटर की मदद से दूर कर सकते हैं। और अगर आपका पार्टनर अद्भुत है, तो आप बैटरी संचालित खिलौना की थोड़ी मदद से आर्गेंज्‍म की प्राप्ति कर सकते हैं।

पीएच पर ध्यान दें

रक्त शर्करा की बढ़ा हुआ स्‍तर योनि के पीएच संतुलन को बढ़कार योनि में संक्रमण का कारण बनता है। पीएच संतुलन के बढ़ने में योनि में मौजूद स्‍वस्‍थ लैक्टोबैसिलस जीवित नहीं रह पाता और बुरे बै‍क्‍टीरिया के विकास के रूप में बैक्टीरियल वेजिनोसिस और खमीर संक्रमण का कारण बनता है। बैक्‍टीरिया को संतुलन में रखने के लिए आपको अपनी योनी में सप्‍ताह में एक या दो बार ओटीसी जेल का प्रयोग करना चाहिए। सेक्‍स और फर्टिलिटी से जुड़े ये चार सवाल, जिनका जवाब आपको जानना चाहिए

ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करें

अपने ग्‍लूकोज की जांच करके अपने सेक्‍स जीवन में सुधार कर सकते हैं। रक्त शर्करा को सामान्‍य श्रेणी में रखने से आप रक्त वाहिकाओं की रक्षा, तंत्रिका के नुकसान और योनि में संक्रमण से आसानी से लड़ सकते है।

योग

रिसर्च से पता चला है कि एक्‍सरसाइज मधुमेह के लक्षणों को दूर करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह दिल को मजबूत बनाकर और लचीलेपन और सहनशक्ति में सुधार करके उन सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में रक्त के प्रवाह को बढ़ाकर अपने सेक्स जीवन के लिए अद्भुत काम करता है। लेकिन इसके लिए आपको मैराथन धावक होने की जरूरत नहीं है। योग की तरह कम प्रभाव वाले वर्कआउट करके जननांगों में सनसनी, परिसंचरण को बढ़ा सकते हैं।

मूड बनाने के लिए खाये

कई प्रकार के आहार आपके सेक्‍स ड्राइव को बढ़ाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मिनरल जिंक टेस्टोस्टेरोन उत्पादन में मदद करके कामेच्‍छा बढ़ाने के रूप में काम करते हैं। और हार्मोन का उच्च स्तर इच्छा में वृद्धि के साथ जुड़ा होता है। अंडे की पीले भाग, तिल, ओइस्‍टर, मूंगफली, लहसुन, मशरूम, सनबीज और लाल मीट में भरपूर मात्रा में जिंक पाया जाता है।

शुगर फ्री लुब्रिकेंट का प्रयोग करें

लुब्रीकेंट, हर किसी के यौन शस्त्रागार का एक हिस्सा होना चाहिए, लेकिन मधुमेह रोगियों को इसके चुनाव के समय कुछ सावधानी बरतने की जरूरत होती है। कुछ लु‍बिकेंट में वास्‍तव में शुगर के रूप में प्रोपाइलिन ग्लाइकोल और ग्लिसरीन मौजूद होता है। जो आपके योनि में पीएच को दूर कर, खमीर संक्रमण को ट्रिगर करता है।

यह भी पढ़ेें- तेजी से वजन कम करता है ‘पी प्रोटीन’, जानें इसके फायदे

कम करें वजन

डा‍यबिटीज से पीडि़त लोगों को चिकित्‍सक वजन कम करने की सलाह देते हैं। क्‍योंकि वजन आपके कई अन्‍य प्रकार की महत्वपूर्ण समस्‍याओं को जन्म दे सकता है। जिसमें सेक्‍स में अनिछा भी शामिल हैं। इसलिए अपने वजन को काबू में रखें।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on