Advertisement

सेक्स न करने के बावजूद हो सकते हैं एसटीडी के ये 5 रोग

सेक्स न करने के बावजूद होने वाले ये एसटीडी रोग उतने ही घातक होते हैं जितना की अनसेफ सेक्स करने जो STD रोग होते हैं।

सेक्स लाइफ में कई बार हाइजिन का ख्याल न रखने या अनसेफ सेक्स करने से कई तरह की बीमारियां हो जाती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ सेक्स की बीमारियां ऐसी हैं जो सेक्स न करने के बावजूद हो जाती हैं ? सेक्स न करने के बावजूद होने वाले ये एसटीडी रोग उतने ही घातक होते हैं जितना की अनसेफ सेक्स करने जो STD रोग होते हैं। सेक्स न करने के अलावा भी कई तरह से इंसान एक दूसरे के टच में आता है और इन घातक बीमारियों का शिकार हो जाता है। हम यहां 5 ऐसी ही बीमारियों के बारे में बता रहे हैं जो सेक्स न करने के बावजूद भी इंसान को अपना शिकार बना लेती हैं।

प्यूबिक लाइस

प्यूबिक लाइस एक तरह का इंफेक्शन हैं जो STD रोग के अंतर्गत ही आता है। यह बीमारी बिना सेक्स के भी इंसान को शिकार बना लेती है। अगर आपके पार्टनर में यह इंफेक्शन है तो पूल या स्पा शेयर करते वक्त यह आप में भी आ सकती है। यह एक अन-हाइजेनिक बीमारी है, इसके कीटाणु लंबे समय तक शरीर से चिपके रहते हैं और कई तरह की बीमारियों को जन्म देते हैं।

Also Read

More News

मोलोस्कम कन्टेजियोसम

मोलोस्कम कंटेजियोसम एक तरह से त्वचा का रोग है। इसकी वजह से स्किन में गांठ हो जाती है और इसमें खुजली भी होती है। अगर आपके पार्टनर में यह बीमारी है तो स्किन के टच होने से भी आपको यह रोग हो सकता है। इसका सही समय पर इलाज न किया जाय तो यह फैल सकती है।

ये भी पढ़ेंः अस्थमा रोगियों के लिए दिवाली के पटाखे हो सकते हैं खतरनाक, अपनाएं ये घरेलू उपाय।

हरपीज

हरपीज की बीमारी सबसे आम सेक्सुअल डिजीज माना जाता है। अगर आप अपने पार्टनर से सेक्स नहीं भी करते हैं लेकिन ओरल सेक्स करते हैं तो यह बीमारी आपको हो सकती है। यह एक त्वचा की बीमारी है जो पार्टनर से फैलती है।

एचपीवी

यह भी एक स्किन डिजीज है जो ओरल सेक्स के कारण ही होता है। स्किन का एक दूसरे से टच होना और ओरली शरीर के अंदर अन हाइजेनिक चीजें जाना इस रोग का कारण होता है। इस बीमारी में शरीर में दर्द देने वाले मस्से होने लगते हैं। ये कहीं पर भी हो सकते हैं।

क्लेमाडिया

ये भी सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज है। एक तरह का ये इंफेक्शन होता है जो पार्टनर के जेनिटाइल को ओरली टच करने से होता है। बार बार ये करना इंफेक्शन का कारण बन सकता है। खास कर इस डिजीज से फिमेल्स ज्यादा इफेक्टेड होती हैं। इसमें उनके यूटरेस में इंफेक्शन फैलता है और फ्यूचर में उन्हें प्रेग्नेंसी तक में दिक्कत आ सकती है क्योंकि इस इंफेक्शन से उनके ट्यूब्स ब्लॉक हो सकते हैं।

गोनोरिया

यह ओरल जेनिटाइल कांटेक्ट से होता है। ये मेल और फीमेल दोनों को ही हो सकते हैं। ये यूरेनरी ट्रैक, एनल और गले तक में ये इंफेक्शन हो जाता है। ये इनफर्टिलिटी का बड़ा कारण बन सकता है। खास कर ये भी डिजीज फीमेल्स को ही ज्यादा नुकसान पहुंचाती है। सिफलिस या उपदंश ये एक बैक्टेरियल इंफेक्टेड डिजीज है जो मेल और फीमेल्स दोनों को ही हो सकती है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on