Sign In
  • हिंदी

क्या पेरिनियम मसाज से episiotomy से बचा जा सकता है?

प्रेगनेंसी के दौरान पेरिनियम मसाज से पहले यह पढ़ें।

Written by Editorial Team |Published : November 28, 2017 1:23 PM IST

कई डॉक्टर और एंटीनटाल एक्सपर्ट गर्भवती होने के दौरान प्रेगनेंट माताओं को पेरिनियम के दौरान एक पेरिनियम मालिश करने की सलाह देते हैं, क्योंकि इससे गर्भावस्था के 34 वें सप्ताह के बाद वैजाइनल डिलीवरी आसान बनता हैं। यह भी माना जाता है कि लगातार पेरिनियम मसाज से वैजाइनल  बर्थ के दौरान क्षेत्र को पर्याप्त रूप से वैजाइना को फैलने में मदद होती है और आपको  एपीसीओटॉमी (episiotomy) करने से बचने में मदद कर सकती है।

एक पेरिनियम मालिश करना आसान है। आपको अपनी उंगलियों पर थोड़ा तेल (आपकी पसंद के अनुसार, ऑलिव ऑयल या नारियल तेल) लगाना होगा और हर दिन कुछ मिनट के लिए मालिश करनी होगी। पेरिनियम वह हिस्सा होता है जो वैजाइना से एनस तक फैलता है। बच्चे के जन्म के दौरान यह हिस्सा फैल जाता है या सर्जरी के दौरान इस  काट दिया जाता है और बच्चे को गर्भ से बाहर निकलने के लिए मदद करता है। अगर सर्जिकल कट किया जाता है तो डिलीवरी के बाद उसे सिलना ज़रूरी हो जाता है, जो  एपीसीओटॉमी कराने पर जरूरी हो जाता है।

एपीसीओटॉमी हालांकि वैजाइनल बर्थ में मदद करती है, लेकिन उपचार और उपचार की प्रक्रिया को कुछ ज़्यादा ध्यान देने की जरूरत है। अगर इस एरिया  की सही तरीके से देखभाल नहीं की जाती है तो इससे संक्रमण, दर्द और ठीक होने में बहुत ज़्यादा समय लग सकता है। लेकिन यह जानना समझदारी है कि क्या पेरिनियम मालिश वास्तव में एपीसीओटॉमी की संभावना कम करने में मदद करती है।

Also Read

More News

1999 में किए गए एक अध्ययन जो, अमेरिकन जर्नल ऑफ़ आब्स्टिट्रिक्स एंड गायनकोलॉजी में छापा गया था। इस स्टडी में बताया गया कि गर्भावस्था के 34 वें या 35 वें सप्ताह में महिलाओं को रोज़ाना 10 मिनट की मालिश करना उनके लिए फायदेमंद था। ये ऐसी महिलाएं थी जिनकी पहली बार वैजाइनल डिलीवरी हो रही थी। इस स्टडी में 493 ऐसी महिलाएं शामिल थी जिनकी पहले वैजाइनल डिलीवरी हो चुकी थी और 1035 महिलाएं ऐसी थीं जो पहली बार वैजाइनल डिलिवरी की कोशिश कर रही थीं।

दोनों ग्रुप की महिलाओं को मालिश करानेवाली और मालिश ना करानेवाली प्रेगनेंट महिलाओं के छोटे-छोटे ग्रुप में बांटा गया।

Read this in English.

अनुवादक: Sadhana Tiwari

चित्र स्रोत: Shutterstock Images.

संदर्भ: [1]1: Labrecque M, Eason E, Marcoux S, Lemieux F, Pinault JJ, Feldman P, Laperrière L. Randomized controlled trial of prevention of perineal trauma by perineal massage during pregnancy. Am J Obstet Gynecol. 1999 Mar;180(3 Pt 1):593-600.PubMed PMID: 10076134.

[2]1: Mei-dan E, Walfisch A, Raz I, Levy A, Hallak M. Perineal massage during pregnancy: a prospective controlled trial. Isr Med Assoc J. 2008 Jul;10(7):499-502. PubMed PMID: 18751626.

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on