Advertisement

35 की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी प्लान कर रही हैं तो इन 5 बातों का रखें विशेष ध्यान

35 की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी प्लान कर रही हैं तो इन 5 बातों का रखें विशेष ध्यान

35 साल की उम्र में या इसके बाद प्रेग्नेंट होने में महिलाओं को कई तरह की समस्याएं आने लगती हैं। इस उम्र में कई बार महिलाओं को इनफर्टिलिटी का सामना भी करना पड़ता है। हर महिला कुछ तय एग्स के साथ पैदा होती है। जैसे जैसे उम्र बढ़ती है वह एग्स अपने आप घटने लगते हैं। साथ ही जो एग्स बचते हैं उनके साथ प्रेग्नेंट होने में दिक्कत आने लगती है। इस उम्र में यदि 6 महीने के प्रयास बाद भी आप गर्भवती नहीं होती हैं तो आपको डॉक्टर से कन्सल्ट करना चाहिए। इसके साथ ही आज हम आपको कुछ ऐसी टिप्स बता रहे हैं जिन्हें फॉलो कर आपको गर्भवती होने में मदद मिल सकती है।

प्रेग्नेंसी भगवान ने महिलाओं को एक ऐसा तोहफा दिया है जिसे हर महिला फील करना चाहती है। छोटी उम्र में यानि कि 18 साल से 28 साल तक की उम्र में गर्भवती होना आसान होता है। लेकिन जब उम्र बढ़ने लगती है या कह सकते हैं कि 35 साल की उम्र में या इसके बाद प्रेग्नेंट होने में महिलाओं को कई तरह की समस्याएं आने लगती हैं। इस उम्र में कई बार महिलाओं को इनफर्टिलिटी का सामना भी करना पड़ता है। हर महिला कुछ तय एग्स के साथ पैदा होती है। जैसे जैसे उम्र बढ़ती है वह एग्स अपने आप घटने लगते हैं। साथ ही जो एग्स बचते हैं उनके साथ प्रेग्नेंट होने में दिक्कत आने लगती है। इस उम्र में यदि 6 महीने के प्रयास बाद भी आप गर्भवती नहीं होती हैं तो आपको डॉक्टर से कन्सल्ट करना चाहिए। इसके साथ ही आज हम आपको कुछ ऐसी टिप्स बता रहे हैं जिन्हें फॉलो कर आपको गर्भवती होने में मदद मिल सकती है।

भरपूर नींद लें

वैसे तो भरपूर नींद हर व्यक्ति के लिए आवश्यक होती है लेकिन यदि आप 35 साल की उम्र के बाद प्रेग्नेंसी प्लान कर रही हैं तो आपको अपनी नींद को लेकर गंभीर हो जाना चाहिए। सुनिश्चित करें कि आप हर रात कम से कम 7 घंटे सोएं। यह आपके और आपके अजन्मे बच्चे दोनों के लिए अच्छा है। यूनिवर्सिटी ऑफ पिट्सबर्ग स्कूल ऑफ हेल्थ साइंसेज के एक अध्ययन में कहा गया है कि गर्भावस्था के दौरान खराब नींद की गुणवत्ता और मात्रा सामान्य प्रतिरक्षा प्रक्रियाओं को बाधित कर सकती है और जन्म के समय कम वजन और अन्य जटिलताओं को जन्म दे सकती है।

Baby names

Also Read

More News

हेल्दी डाइट लें

आपको अपनी डाइट को सबसे ज्यादा प्राथमिकता देने की आवश्यकता है। अपनी डाइट में ज्यादा से ज्यादा पोषक तत्वों को शामिल करें। अपने भोजन की योजना इस तरह से बनाएं कि प्रत्येक भोजन में सभी आवश्यक पोषक तत्व शामिल हों। फोलिक एसिड की अतिरिक्त खुराक के लिए पालक, बीन्स, दाल और सूरजमुखी के बीज का सेवन अवश्य करें। यदि आपको समझ नहीं आ रहा है कि किस वक्त आपको क्या खाना चाहिए तो किसी डाइटशियन से अपने लिए डाइट चार्ट बनवाएं और उसे फॉलो करें।

नियमित रूप से एक्सरसाइज करें

इस उम्र में प्रेग्नेंसी प्लान करने वाली महिलाओं को एक्सरसाइज व मेडिटेशन को अपने लाइफस्टाइल का एक जरूरी हिस्सा बना लेना चाहिए। यदि आपको एक्सरसाइज करने में आलस्य आता है या आपका शरीर किसी रोग से ग्रसित है तो रोज योगाभ्यास करें और टहलने जाएं। यदि इससे प्रेग्नेंसी के दौरान आने वाली जटिलताओं से बचा जा सकता है।

सप्लीमेंट भी करेंगे मदद

अपने चिकित्सक से परामर्श करें। आपकी संपूर्ण स्वास्थ्य स्थिति के आधार पर वह फोलिक एसिड जैसे प्रसव पूर्व की खुराक आपके लिए लिख सकते हैं। सप्लीमेंट तंत्रिका ट्यूब जन्म दोषों को रोक देगा जैसे कि स्पाइना बिफिडा, एक ऐसी स्थिति जिसमें बच्चे की रीढ़ की हड्डी के ऊपर ऊतक बंद नहीं होता है। इसके अलावा भी सप्लीमेंट के कई अन्य लाभ होते हैं। लेकिन अपनी मर्जी से कोई भी सप्लीमेंट न लें।

Pregnancy tips

अपने डॉक्टर से कन्सल्ट करें

यदि तमाम तरह के प्रयासों को अपनाने के बाद भी आपको गर्भवती होने में दिक्कत आ रही है तो आपको अपने डॉक्टर से कन्सल्ट करना चाहिए। इस उम्र में डॉक्टर आपको आईवीएफ, सिजेरियन डिलीवरी और आईयूआई जैसे विकल्प दे सकते हैं। इसलिए घबराने से बेहतर है कि डॉक्टर से मिलें और खुलकर बात करें।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on