Advertisement

इन टिप्स को अपनाकर जल्द ही उबर सकती हैं सिजेरियन डिलीवरी की तकलीफों से

कुछ घरेलू तरीके हैं, जिनके इस्तेमाल से सीजेरियन डिलीवरी की वजह से उत्पन्न हुई समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

सीजेरियन डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में काफी बदलाव आ जाते हैं। इस प्रक्रिया से बच्चा पैदा होने के बाद महिलाओं का शरीर काफी कमजोर हो जाता है। सीजेरियन के कुछ समय बाद भी महिलाओं को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है मगर इसके लिए आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। आप अच्छे भोजन के द्वारा सीजेरियन से होने वाली तकलीफ से निजात पा सकते हैं। कुछ घरेलू तरीके हैं जिनके इस्तेमाल से सीजेरियन डिलीवरीकी वजह से उत्पन्न हुई समस्याओं को दूर किया जा सकता है। जानते हैं उन तरीकों और उपायों के बारे में।

ज्यादा मात्रा में आयरन से प्रचुर भोजन का सेवन करें

ज्यादा थकान आयरन की कमी से होने वाली बीमारी एनिमिया के लक्षण होते हैं। एनिमिया से बचने के लिए आपको अपने भोजन में आयरन की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए। इसके साथ ही आपको मल्टी विटामिन सप्लीमेंट जिसमें आयरन हो, का सेवन करना शुरू कर देना चाहिए। रेड मीट, अंडे, हरी सब्जियों, सूखे मेवों का सेवन करके आयरन की कमी को दूर किया जा सकता है।

Also Read

More News

गम्भीर जटिलताएं पैदा कर सकता है गर्भावस्था में पेट दर्द

ज्यादा मात्रा में विटामिन बी, सी और ई वाले भोजन का सेवन करें

फॉलिक एसिड और विटामिन बी 12 के स्रोत अंडे, मीट, दूध का सेवन करना चाहिए। विटामिन ई का सेवन करने से कोलेजन फाइबर और ऊतकों को भरने में मदद मिलती हैं। साथ ही विटामिन सी आपके शरीर में आयरन को अवशोषित करता है। अगर आप आयरन टेबलेट का सेवन कर रहे हैं तो इसके साथ आपको एक गिलास संतरे का जूस भी पीना चाहिए। आयरन खून में कमी और विटामिन सी इंफेक्शन से लड़ने के साथ कमर में दर्द से लड़ने में मदद करता है।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद संक्रमण से बचना है, तो यूं रखें अपना ख्याल

मैग्नीशियम से भरपूर भोजन

मैग्नीशियम मांसपेशियों की लचक और चिकनाई के लिए एक बहुत ही अच्छा पोषक तत्व होता है। अगर आपको ज्यादातर चॉकलेट खाने की इच्छा होती है या आपको खिंचाव महसूस होता है तो यह मैग्नीशियम की कमी के लक्षण हैं। दिन भर में 400 मिलीग्राम मैग्नीशियम का सेवन करना चाहिए मगर ज्यादातर लोग ऐसा नहीं करते हैं। महिलाएं खानें में मैग्नीशियम का सेवन करके सीजेरियन सेक्शन से आसानी से रिकवर कर सकती हैं। एवोकाडो, केला, टोफू, बादाम, काजू और डार्क चॉकलेट का सेवन करके आप मैग्नीशियम की कमी को दूर कर सकती हैं।

प्रेगनेंसी के 8वें महीने में खाएंगी ये चीजें, तो हो सकती है आपके लिए मुसीबत

बोन ब्रोथ (हड्डियों का सूप)

सीजेरियन डिलीवरी के बाद इससे जल्दी रिकवर होने के लिए बोन ब्रोथ का सेवन सबसे अच्छा घरेलू तरीका है। बोन ब्रोथ हड्डियों के सूप को कहते हैं। बोन ब्रोथ में प्रोलाइन और ग्लाइसिन जैसे अमीनो एसिड होते हैं, जो त्वचा को हील करने में मदद करते हैं। ब्रोथ में जिलेटिन होता है जो घावों को भरने में मदद करता है। इससे आपके पाचन क्रिया में भी सुधार होता है। कुछ महिलाओं को सीजेरियन के बाद कब्ज की दिक्कत हो जाती है इससे वह भी ठीक हो जाती है।

ये हैं वे पोषक तत्व, जिन्हें प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए

एलोवेरा का सेवन करें

एलोवेरा का इस्तेमाल करने से आपके घाव, इंफेक्शन और त्वचा की परेशानी जल्दी ठीक हो जाती है। एक स्टडी के मुताबिक सीजेरियन के बाद घावों को भरने के लिए ताजे एलोवेरा के साथ ड्रेसिंग करें तो घाव जल्दी भरते हैं। घाव पर एलोवेरा क्रीम का इस्तेमाल करके इन्हें जल्दी भरा जा सकता है।

क्या पहला बच्चा सिजेरियन से होने के बावजूद दूसरे बच्चे की नॉर्मल डिलीवरी हो सकती है?

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on