Sign In
  • हिंदी

टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने से हो सकती है यह खतरनाक बीमारी

टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने से हो सकती है यह खतरनाक बीमारी.

टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने की आदत हाल के दिनों में बहुत लोगों की हो गयी है. एक शोध के अनुसार अगर टॉयलेट में मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया जाता है, तो बवासीर का खतरा कई गुना बढ़ जाता है. टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने की आदत से पेट के निचले हिस्से में अजीब सा दबाव बनता है. इसकी वजह है बहुत देर त टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाना है.

Written by akhilesh dwivedi |Updated : October 6, 2019 1:09 PM IST

टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने की आदत लोगों में लगातार बढ़ रही है. पहले लोग टॉयलेट में अखबार लेकर जाते थे अब टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने लगे हैं. इसको लेकर डॉक्टर और विशेषज्ञों ने चिंता जताई है. उनका मानना है कि टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने से लोगों में बवासीर का खतरा बढ़ रहा है. डॉक्टर मानते हैं कि टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने से ज्यादा समय तक इंसान टॉयलेट में बैठा रहता है. ज्यादा देर तक टॉयलेट में बैठे रहने से लोवर रेक्टम की नसों पर दबाव बढ़ने लगता है. लोवर रेक्टम में दवाब की वजह से बवासीर की समस्या होने लगती है. टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने से लोवर रेक्टल में अधिक खिंचाव होता है और इंसान धीरे-धीरे बवासीर का शिकार हो जाता है.

हेल्थ एक्पर्ट्स और डॉक्टरों का कहना है कि टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाने से ज्यादातर लोग घंटों बैठे रह जाते हैं. लोगों में मोबाइल फोन की लत इस कदर होती है कि टॉयलेट में मोबाइल फोन चलाते समय भूल जाते हैं कि वो कितनी देर से बैठे हैं.

डॉक्टर मोबाइल फोन और बवासीर पर क्या कहते हैं 

जेपी अस्पताल, नोएडा के जीआई एंड एचपीबी सर्जरी विभाग के एक्जीक्यूटिव कंसलटेंट दिपांकर शंकर मित्रा के अनुसार "टॉयलेट में बैठे-बैठे फोन पर बेफिजूल का समय बिताने से हमारे लोवर रेक्टल मुकोसा के साथ-साथ एनल कुशन में भी अधिक खिंचाव पैदा हो जाता है, इसकी वजह से बवासीर या पाइल्स की बीमारी हो जाती है."

Also Read

More News

नारायणा सुपर स्पेशियालटी हॉस्पिटल के गैस्ट्रोनेटेरोलॉजी कंसलटेंट नवीन कुमार भी मानते हैं कि अधिक समय तक टॉयलेट सीट पर बैठे रहने या मोबाइल फोन की वजह से ज्यादा समय तक टॉयलेट सीट पर बैठे रहने से पाइल्स या बवासीर का खतरा कई गुना बढ़ जाता है. उनका मानना है कि ज्यादातर लोग मोबाइल फोन चलाते समय एक ही जगह पर एक ही पोजिशन में ज्यादा देर तक बैठे रहते हैं.

नवीन कुमार बताते हैं कि, ''दरअसल स्मार्टफोन या मोबाइल फोन का प्रयोग करना वास्तविक समस्या नहीं है. बल्कि लंबे वक्त तक टॉयलेट सीट पर बैठे रहने से बवासीर की समस्या हो सकती है.'' उन्होंने कहा कि ज्यादा देर तक बैठे रहना और खिंचाव पैदा होने से खूनी बवासीर का खतरा बढ़ जाता है. इसके साथ ही दर्द, सूजन और खून भी आ सकता है.

टॉयलेट में स्मार्टफोन उपयोग करने वाले लोग 

हाल ही में यूजीओवी (UGOV) के सर्वे में खुलासा हुआ है कि 57 प्रतिशत ब्रिटिश लोग टॉयलेट में अपने फोन का प्रयोग करते हैं. इनमें से 8 प्रतिशत लोग बहुत दिनों से हमेशा ऐसा करते आ रहे हैं.

ब्रिटिश लोगों की तरह ही भारत के शहरी इलाके में रहने वाले लोग भी मोबाइल फोन लेकर टॉयलेट सीट पर बैठे रहते हैं. अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ हो रहा है तो आपको सावधान होने की जरूरत है.

बचना है मोबाइल फोन से होने वाले खतरों से, तो फॉलो करें ये सेफ्टी टिप्‍स.

सेक्स लाइफ पर मोबाइल फोन का कितना असर है.

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on