Sign In
  • हिंदी

World Hypertension Day: 10 मिनट में आपकी हाई बीपी को कम कर देंगे ये 5 प्राणायाम, जानें तरीका और फायदे

Pranayama for high bp: हाई बीपी के दौरान हमरा ब्लड सर्कुलेशन बहुत तेज होता है, जिससे हमारे दिल पर दवाब पड़ता है। ऐसे में आप इन प्राणायम की मदद से बीपी कंट्रोल कर सकते हैं।

Written by Pallavi Kumari | Published : May 16, 2022 4:21 PM IST

1/6

हाई बीपी कंट्रोल करने वाले प्राणायाम (Pranayama For High Bp)

ब्लड प्रेशर आपकी धमनियों में खून का प्रेशर है। हाई ब्लड प्रेशर या कहें हाइपरटेंशन के मरीजों में तेज हो जाता है, जो कि हमारे हृदय, ब्लड वेसेल्स और शरीर के दूसरे अंगों पर अतिरिक्त दबाव बनाता है। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन 120/80 को नॉर्मल ब्लड प्रेशर(normal blood pressure) मानता है। प्री-हाइपरटेंशन तब होता है जब आपकाब्लड प्रेशर पैरामीटर 120/80 और 140/90 के बीच होता है और अगर आपका ब्लड प्रेशर 140/90 से ऊपर होता है इसे हाई ब्लड प्रेशर यानी कि हाइपरटेंशन (Hpertension in hindi) कहा जाता है। इस स्थिति को कंट्रोल करना बेहद जरूरी होता है नहीं तो ये आपके ब्रेन और शरीर के बाकी अंगों को भी प्रभावित कर सकता है। तो, आइए हम आपको बताते हैं ऐसे 5 प्राणायाम के बारे में जो तुरंत ही आपके हाई बीपी को कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं।

2/6

1. भस्त्रिका प्राणायाम (Bhastrika Pranayama)

भस्त्रिका प्राणायाम शरीर के सभी हिस्सों में ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाता है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है। यह तनाव और उच्च रक्तचाप को दूर करता है। इसे करने के लिए रामदायक अवस्था में बैठ जाएं और बैठकर अपनी गर्दन, शरीर और सिर को सीधा रखें। इसके बाद अपनी आंखें बंद करें और थोड़ी देर के लिए सांस बलपूर्वक खींचे और वैसे ही उसे छोड़ें। भस्त्रिका प्राणायाम करते वक्त धौंकनी की तरह आपको अपनी छाती को फुलाना और पिचकाना है। इस प्रक्रिया को 4 से 5 बार दोहराएं। ये आपकी हाई बीपी को कम कर देगा।  Also Read - हल्दी वाला पानी पीने के 7 बेहतरीन फायदे

3/6

2. कपालभाति प्राणायाम (Kapalbhati Pranayam)

कपालभाति प्राणायाम आपके आते-जाते ब्लड सर्कुलेशन में एक आराम पैदा करता है। ये आपके ब्लड सर्कुलेशन को सही करता है और हाई बीपी को कम करने में मदद करता है। इसे करने के लिए एक शांत मुद्रा में बैठ जाएं। फिर एक तरफ के नाक को हाथों की एरक उंगली बंद करें और फिर खोलें। फिर दूसरे तरफ की नाक को बंद करें और खोलें। इस दौरान लंबी-लंबी सांस लें और छोड़े।

4/6

3. भ्रामरी प्राणायाम (Bhramari Pranayama)

इस प्राणायाम से उत्पन्न कंपन भीतर प्रतिध्वनित होते हैं और शरीर और मन को गहराई से आराम देते हैं। यह तनाव और चिंता से राहत देता है और उच्च रक्तचाप को संतुलित करने में भी मदद करता है। सबसे पहले बैठें और अपनी आंखें बंद कर लें। अपनी तर्जनी उंगलियों को दोनों कानों पर रखें। अपना मुंह बंद रखते हुए नाक से ही सांस लें और छोड़ें। इस प्रकिया को 5 बार दोहराएं।  Also Read - अब आधुनिक और पारंपरिक चिकित्सा पद्धति से होगा गंभीर रोगों का उपचार, देशभर के अस्पतालों में बनेगा 'इंटीग्रेटिव मेडिसिन विभाग'

5/6

4. सूर्य भेदन प्राणायाम (Surya Bhedana Pranayama)

इसे करने के लिए अपनी बाएं हाथ को अपने घुटने पर रखें और आखें बंद कर लें। इसके बाद दाएं हाथ को कोहनी से मोड़कर नाक के दाईं ओर अंगूठा रखें, अनामिका व कनिष्ठा अंगुली को नाक के बाईं ओर रखें और तर्जनी व मध्यम अंगुली को ललाट रखें। अब नाक के बाएं छिद्र को अनामिका व कनिष्ठ अंगुली से बन्द करके नाक के दाएं छिद्र से गहरी सांस ले। जितना हो सके सांस को अंदर रोककर रखें। नाक के दाएं छिद्र को बन्द करके बाएं छिद्र से सांस को तेजी से बाहर निकालें।

6/6

5. नाड़ी शोधन प्राणायाम (Nadi Shodhana Pranayama)

नाड़ी शोधन प्राणायाम में बाद बारी-बारी से (alternate) दायीं और बायीं नासिका से श्वास लेने और छोड़ने का अभ्यास करें। कम से कम 9 राउंड में इसे पूरी करें लेकिन अगली बार उसी नाक से श्वास लें जिससे कि आपने श्वास छोड़ा हो। यह शांत और शक्तिशाली प्राणायाम आपकी धमनियों में रुकावटों को काफी हद तक दूर करने में मदद करता है। यह सिर के क्षेत्र में रक्त परिसंचरण में भी सुधार करता है और हाई बीपी को कम करने में मदद करता है। Also Read - Akshay kumar fitness routine: अक्षय कुमार फिटनेस रूटीन हैरान कर देगा आपको