सेक्सुअल बातों से उत्तेजित होना सही या गलत ?

सेक्सुअल बातों में उत्तेजित हो जाना सही होता है या गलत ? इस तरह के सवाल कई लोगों के मन में रहते हैं. आइए जानते हैं Sexual Questions and answers के कुछ टिप्स.

1 / 8

Sexual-things

सेक्सुअल बातों से उत्तेजित हो जानाः मेरी समस्या यह है कि पिछले 4-5 सालों से मैं सेक्स संबंधी किसी भी प्रकार की बातों से उत्तेजित हो जाती हूं। योनिमार्ग से चिपचिपा-सा स़फेद द्रव निकलता है, जिससे मैं परेशान हो जाती हूं। इसकी वजह से विवाह के बाद मुझे किसी तरह की द़िक़्क़तों का सामना तो नहीं करना पड़ेगा ? Sexual Questions.

2 / 8

Women-yoga-for-sex

जवाबः आपको जो कुछ भी महसूस हो रहा है, वह आपकी उम्र के अनुरूप है। इस उम्र में जो भी शारीरिक व मानसिक विकास होता है, उसमें इस तरह की उत्तेजना एकदम स्वाभाविक है। कोई उत्तेजक चीज़ या दृश्य सामने आ जाएं तो ज़ाहिर है मन व शरीर पर इसका प्रभाव पड़ेगा। ऐसे में प्रतिक्रिया स्वरूप ही आपकी योनि से चिपचिपा द्रव भी निकलता है। अतः परेशान होने की ज़रूरत नहीं है. उपरोक्त बातों का आपके वैवाहिक जीवन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। आप निश्‍चित होकर शादी कर सकती हैं।

3 / 8

Female-condom

फीमेल कंडोमः मैं व मेरे पति अभी बच्चा नहीं चाहते, परन्तु मेरे पति कंडोम का भी इस्तेमाल नहीं करते. यूं तो मैं गर्भनिरोधक गोलियां लेती हूं, पर मैंने महिला कंडोम के बारे में सुना है। क्या इसका इस्तेमाल करना सुरक्षित है ? Sexual Questions.

Advertisement
Advertisement
4 / 8

Female-condom 1

जवाबः महिला कंडोम यानी कि फीमेल कंडोम इन दिनों काफ़ी चर्चा में है और आजकल इसे एक विकल्प के रूप में भी आज़माया जा रहा है. इसे संभोग के पहले योनि में डाला जाता है, जो वीर्य को अंदर जाने से रोकता है. इससे फ़ायदा यह होता है कि यदि पुरुष साथी कंडोम का इस्तेमाल नहीं करना चाहता तो स्त्री कर सकती है। फीमेल कंडोम सुरक्षित भी है, लेकिन मेल कंडोम जितना नहीं. गर्भनिरोधक गोलियां यक़ीनन एक सुरक्षित विकल्प हैं, परन्तु फीमेल कंडोम ने महिलाओं को और अधिक विकल्प दिए हैं जिसका लाभ ख़ासकर वे महिलाएं उठा सकती हैं, जो गर्भनिरोधक गोलियां नहीं लेना चाहतीं या फिर इनके साइडइ़फेक्ट से बचना चाहती हैं।

5 / 8

Masturbation

हस्तमैथून की आदतः मुझे आजकल सेक्स की इच्छा होती है, जिससे पढ़ने में मन नहीं लगता, बेचैनी बनी रहती है. ऐसे में मैं हस्तमैथुन करता हूं। क्या मैं ग़लत करता हूं ? Sexual Questions.

6 / 8

Masturbation 1

जवाबः किशोरावस्था में सेक्स की इच्छा बेहद बढ़ जाती है, ऐसे में हस्तमैथुन करना इस बात का संकेत है कि आपका सेक्सुअल विकास स्वस्थ व सामान्य रूप से हो रहा है. किसी ग़लत जगह जाकर सेक्स करने से तो यह ज़रिया बेहतर व सुरक्षित है. हस्तमैथुन पूर्णत: सामान्य है, जब तक आप इसे ह़फ़्ते में 4-5 बार या रोज़ाना भी करें तो भी. हां, अति किसी भी चीज़ की अच्छी नहीं होती।

7 / 8

Stretch-Marks

स्ट्रेच मार्क्सः मेरी बॉडी पर काफ़ी स्ट्रेच मार्क्स हैं. मैंने सुना है कि ये मार्क्स प्रेग्नेंसी के बाद होते हैं तो फिर मेरी बॉडी पर क्यों हैं? क्या मेरी सेक्स लाइफ़ इससे प्रभावित होगी ?

8 / 8

Stretch Marks

जवाबः यह सोच ग़लत है कि स्ट्रेच मार्क्स स़िर्फ प्रेग्नेंसी के बाद होते हैं. यह कोई बहुत बड़ी समस्या नहीं है. बहुत-सी लड़कियों के साथ ऐसा होता है. अगर बार-बार शरीर का वज़न कम-ज़्यादा हो तो भी स्ट्रच मार्क्स पड़ जाते हैं, क्योंकि स्किन लूज़ और टाइट होती रहती है तो उसका लचीलापन थोड़ा कम होकर वो लूज़ रह जाती है, जो स्ट्रेच मार्क्स के रूप में हमें दिखती है. इसके अलावा ग़लत एक्सरसाइज़ से भी ऐसा हो सकता है. यह कोई सेक्स से संबंधित समस्या नहीं है। अत: मन से सारे डर निकाल दें। निश्‍चिंत रहें, आपकी सेक्सुअल लाइफ़ में कोई मुश्किलें नहीं आएंगी।