Sign In
  • हिंदी

Oral Care Tips for Kids: बच्चों को होता है दांतों में कैविटीज़ होने का खतरा ज़्यादा, छोटी उम्र में उनके दांतों का रखें ख्याल इन 5 ओरल केयर टिप्स के साथ

बच्चों को दांतों से जुड़ी समस्याएं अक्सर होती हैं। इसके पीछे ओरल हाइजिन से जुड़ी वो ग़लतियां हैं जो बच्चे करते हैं। दरअसल, बच्चों को ओरल हाइजिन (Oral Hygiene) से जुड़ी आदतें समझने में थोड़ा समय लगता है। लेकिन, माता-पिता अगर इस तरफ ध्यान दें। तो, बच्चों को ओरल हेल्थ प्रॉब्लम्स से बचाना आसान हो सकता है।

Written by Sadhna Tiwari | Updated : February 22, 2020 9:44 PM IST

1/6

Kids-brushing-teeth

Oral Care Tips for Kids: बच्चों को दांतों से जुड़ी समस्याएं अक्सर होती हैं। इसके पीछे ओरल हाइजिन से जुड़ी वो ग़लतियां हैं जो बच्चे करते हैं। दरअसल, बच्चों को ओरल हाइजिन (Oral Hygiene) से जुड़ी आदतें समझने में थोड़ा समय लगता है। लेकिन, माता-पिता अगर इस तरफ ध्यान दें। तो, बच्चों को ओरल हेल्थ प्रॉब्लम्स से बचाना आसान हो सकता है। (Oral Care Tips for Kids)

2/6

Raw-fruits

फ्लूरॉयड से भरपूर खाना: फ्लूरॉयड एक नैचुरल मिनरल है जो बच्चों के दांतों को मज़बूत बनाता है। यह तत्व अंगूर, किशमिश, ककड़ी, सेब, सफेद चावल, आलू और पीने के पानी में पाया जाता है। Also Read - बच्चों को जरूर खिलाएं सर्दियों में ये फल व सब्जियां

3/6

Toothpaste

सही टूथब्रश और सही टूथपेस्ट का इस्तेमाल करें (Oral Care Tips for Kids): फ्लूरॉयड-युक्त टूथपेस्ट का इस्तेमाल 2 साल से पहले ना करें। जब, बच्चा टूथपेस्ट थूकना सीख जाए तो, उसे फ्लूरॉयड वाला पेस्ट दें। दरअसल, इस तरह के टूथपेस्ट निगलने से बच्चे को नुकसान हो सकता है। इसी तरह ऐसा ब्रश चुनें जो नर्म हो और उसमें साधारण- गोल ब्रिसल्स हों।

4/6

Brushing-baby-teeth1

बच्चे को सिखाएं ब्रश करने का सही तरीका: दांतों की देखभाल और साफ-सफाई ओरल हाइजिन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसीलिए, सही तरीके से ब्रशिंग करना बहुत ज़रूरी है। बच्चों को एक साल बाद से ही सॉफ्ट ब्रश से ब्रशिंग कराना शुरु करें। इसी तरह बच्चों को केवल 2 मिनट तक ही ब्रश कराएं। लेकिन, सुबह उठने और रात में सोने से पहले ब्रशिंग की आदत बच्चों को डालें।  Also Read - विद्युत जामवाल के फिटनेस सीक्रेट्स

5/6

Keep-the-mouth-clean

मीठी चीज़ें खाने से बचें: बच्चों को मीठी चीज़ें खाना पसंद आता है। लेकिन, इनमें बहुत अधिक चीनी होती है और किसी भी प्रकार के पोषक तत्व नहीं होते। बच्चों के दांतों में कैविटी की परेशानी की सबसे आम वजह हैं मीठा खाने की आदत। इसीलिए, अपने बच्चे को टॉफी, कैंडी और कूकिज़ खाने से रोकें।

6/6

Brush-and-floss-daily

कैविटीज़ से बचाएं: जैसा कि बच्चों को दांतों में सड़न, गड्ढे और कैविटीज़ होने का डर ज़्यादा होता है। इसीलिए, उन्हें इस प्रॉब्लम से बचने में मदद करें। जब, भोजन में मौजूद शक्कर और कार्बोहाइड्रेट बच्चों के दांतों की ऊपरी परत पर चिपक जाती है। तो, दांतों में मौजूद बैक्टेरिया एसिड में बदल जाते हैं। इसीलिए, बच्चों को कुछ भी खाने के बाद पानी पिलाएं और उनका मुंह साफ कराएं। Also Read - सर्दियों में फटे होंठों की समस्याओं के लिए रामबाण हैं ये 6 उपाय