Advertisement

मां-बाप और बच्चे के रिश्ते में 'जहर' घोलने का काम करती हैं ये 5 चीजें! बच्चे के मन में खत्म हो जाएगा प्यार

Bad relationship with parents : जब मां-बाप हर चीज में सिर्फ खुद के बारे में सोचते हैं और बच्चे की परवाह नहीं करते हैं तो बच्चों के मन में मां-बाप के लिए जहर बनना शुरू हो जाता है।

1 / 6

रिश्ते में 'जहर' घोलने का काम करती हैं ये 5 चीजें!

Bad relationship with parents : हर माता-पिता का अपने बच्चों के साथ एक अनूठा कनेक्शन (relationship with parents) होता है लेकिन जब ये कनेक्शन कमजोर हो जाता है तो रिश्ते में झगड़े शुरू हो जाते हैं। इन झगड़ों की शुरुआत तब होती है जब मां-बाप खुद को सही और बच्चों को हमेशा गलत ठहराने लगते हैं। जब मां-बाप हर चीज में सिर्फ खुद के बारे में सोचते हैं और बच्चे की परवाह नहीं करते हैं तो बच्चों के मन में मां-बाप के लिए जहर बनना शुरू हो जाता है। अगर आप शुरू में इस चीज को रोक सकें तो ये आपके और आपके बच्चों के लिए सही साबित हो सकता है नहीं तो बच्चा धीरे-धीरे घृणा, भ्रम और अविश्वास से भर जाता है। आइए जानते हैं ऐसी 5 चीजों के बारे में जो बच्चे के मन में आपके लिए प्यार को खत्म (Bad relationship with parents) करती हैं।

2 / 6

1-आपसे बेहतर है दूसरा (Dont Compare Your Child)

अपने बच्चे की तुलना कभी भी दूसरों से न करें। यह प्यार और बच्चे का आपके ऊपर विश्वास को तोड़ने का काम करता है। हालांकि हमारे समाज में अपने बच्चों की दूसरों से तुलना करना सामान्य माना जाता है, जिसकी वजह से बच्चा ईर्ष्या से भर जाता है। इसलिए इस गलती से बचें और अपने बच्चे को उसकी प्रतिभा और क्षमता के अनुसार जीने दें।  Also Read - Weight Loss: ये फल खाने से आपका वजन होगा कम, जानें और क्या हैं इसके फायदे, Watch Video

3 / 6

2-दोस्ती में न घुसें (do Not Interfere In Kids Friendship)

दोस्ती हर किसी के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। बच्चे अक्सर अपने दोस्तों पर विश्वास करते हैं और जैसे-जैसे वे बड़े होते हैं और उनके बीच विश्वास बढ़ता जाता है। इसलिए उनके दोस्त के खिलाफ सख्त शब्दों का प्रयोग न करें। ये न कहें कि किस से दोस्ती करनी है या नहीं करनी है। कोई परेशानी महसूस हो तो धैर्य रखें और बच्चे से विनम्रता से बात करें।

Advertisement
Advertisement
4 / 6

3-तुम एक गलती हो (do Not Abuse Kids In Hindi)

बहुत बार माता-पिता अपने बच्चे से ये कह बैठते हैं कि वो एक गलती हैं। कुछ बच्चे इसे गंभीरता से नहीं लेते हैं लेकिन कई बच्चे इस पर बुरा मान जाते हैं। किसी भी बच्चे से ये न कहें कि वह एक गलती है। इससे बच्चा खुद को उपेक्षित महसूस करता है और रे-धीरे आपसे अलग हो जाता है।  Also Read - ऑमलेट बनाने के बेस्ट तरीके और उससे मिलने वाले फायदे

5 / 6

4-तुम हम पर बोझ हो (dont Tell You Have Been A Burden For Us)

भले ही आप किसी भी परिस्थिति से गुजर रहे हों लेकिन उसकी भड़ास अपने बच्चे पर न निकालें। इसमें कोई दो राय नहीं कि बच्चा कई बार माता-पिता के गुस्से का शिकार बनता है लेकिन ये कहना कि तुम हम पर बोझ हो ये उसे निराश कर सकता है और बच्चे के लिए खतरनाक हो सकता है।

6 / 6

5-तुमसे बहुत उम्मीदें थी (dont Tell So Much Expectations From You)

अपने बच्चे पर अपनी उम्मीदें थोपना और इस बात के लिए दोष देना कि वे उम्मीदें पर खरा नहीं उतरा ये सरासर गलत है। आप अपने बच्चे को अपनी महत्वाकांक्षाओं और सपनों को पूरा करने के लिए मजबूर न करें। इसके बजाए बच्चों को अपने सपने और आशाओं को पूरा करने के लिए प्रेरित करें। ऐसा न करने से बच्चा बिगड़ सकता है और आपका रिश्ता खराब हो सकता है।  Also Read - Heart Attack In Women: महिलाओं में हार्ट अटैक के क्या हैं लक्षण, इससे कैसे बच सकते हैं, Watch Video