Sign In
  • हिंदी

Allopathy में भी नहीं है इन 5 बीमारियों का तोड़! इलाज के बावजूद पूरी जिंदगी खानी पड़ती है 'दवाइयां'

Incurable diseases : ये बीमारियां ऐसी हैं, जो एक बार शरीर में प्रवेश कर जाएं तो आपको ताउम्र दवाओं का सेवन करना पड़ता है और इतना ही नहीं आपकी रातों की नींद तक उड़ सकती है।

Written by Jitendra Gupta | Published : October 2, 2022 11:21 AM IST

1/6

Allopathy में नहीं इन 5 बीमारियों का तोड़!

Incurable diseases : हेल्दी शरीर के लिए हेल्दी डाइट का होना बहुत जरूरी है लेकिन मौजूदा वक्त में तमाम ऐसी बीमारियां (Incurable diseases) मौजूद हैं, जो आपके शरीर को अंदर से खोखला बनाने का काम करती हैं। वैसे तो एलोपैथिक दवाओं की मदद से बीमार व्यक्ति को ठीक किया जा सकता है लेकिन इन बीमारियों को जड़ से खत्म करना ना के बराबर होता है। दरअसल ये बीमारियां ऐसी हैं, जो एक बार शरीर में प्रवेश कर जाएं तो आपको ताउम्र दवाओं का सेवन करना पड़ता है और इतना ही नहीं आपकी रातों की नींद तक उड़ सकती है। आइए इस लेख में जानते हैं ऐसी ही 5 बीमारियों (Incurable diseases in hindi) के बारे में, जिनका तोड़ खुद एलोपैथी में भी नहीं हैं।

2/6

1-ह्रदय रोग (Cardiovascular Diseases Is Incurable Diseases)

ह्रदय रोग कहीं न कहीं आपके खराब खान-पान और बिगड़ी हुई जीवनशैली का परिणाम है। ये एक ऐसी स्वास्थ्य स्थिति है, जिससे सबसे ज्यादा लोग पूरी दुनिया में अपनी जान गंवाते हैं। इसमें हार्ट अटैक और स्ट्रोक शामिल है। इस स्थिति में रोगी को पहले की तरह ठीक नहीं किया जा सकता और उसे आगे होने वाले गंभीर परिणामों को रोकने के लिए ताउम्र दवाओं का सेवन करना पड़ता है।  Also Read - Alert! आखों पर मोबाइल स्क्रीन का गहरा असर, करें ये उपाय, Watch Video

3/6

2-कैंसर (cancer Is Incurable Diseases)

पूरी दुनिया में कैंसर के मामले बहुत तेजी से बढ़े हैं और इसमें कोई दो राय नहीं कि आप अमीर हैं या गरीब कैंसर किसी को भी अपना शिकार बना सकता है। कैंसर एक ऐसी बीमारी है, जिसमें ज्यादातर मामलों में रोगी को अपनी जान गंवानी पड़ती है। भल ही कैंसर को रोका जा सकता है लेकिन इसे पूरी तरह ठीक नहीं किया जा सकता है।

4/6

3-सांस संबंधी बीमारी (Chronic Respiratory Diseases Is Incurable Diseases)

सबसे आम श्वसन रोगों में से कुछ हैं क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज और अस्थमा। ये स्थितियां वायुमार्ग और फेफड़े को प्रभावित करती हैं। लंबे तक सांस की बीमारियों के जोखिम कारकों में धूम्रपान और वायु प्रदूषण शामिल हैं। ये बीमारी एक बार किसी को हो जाती हैं तो इन्हें ठीक कर पाना मुश्किल होता है और आपका ताउम्र दवाओं का सेवन करना पड़ता है।  Also Read - सर्दियों में किडनी के मरीजों को खास ध्यान की जरूरत, एक्सपर्ट ने बताए गुर्द स्वस्थ रखने वाले 5 फूड्स

5/6

4-मानसिक बीमारियां (Mental Diseases Is Incurable Diseases)

चिंता, एंग्जाइटी, डिप्रेशन, पार्किंसंस जैसी ढेर मानसिक बीमारियां ऐसी हैं, जो आपके रोजाना के काम को मुश्किल बना देती हैं। ये ऐसी बीमारियां हैं, जो एक बार अगर किसी को हो जाएं तो जिंदगी भर पीछा नहीं छोड़ती। इन बीमारियों में आपको ताउम्र दवाओं का सेवन करना पड़ता है और ये जल्दी से ठीक नहीं होती हैं।

6/6

5-डायबिटीज (Diabetes Is Incurable Diseases)

डायबिटीज एक क्रॉनिक डिजीज है, जिसमें पैंक्रियाज पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन नहीं कर पाता है या फिर हमारा शरीर इंसुलिन का प्रभावी ढंग से उपयोग नहीं कर पाता है। शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ने से व्यक्ति अंधेपन, किडनी फेल्योर, दिल के दौरे और स्ट्रोक का शिकार हो सकता है। इस बीमारी में आपको जिंदगी भर दवा खानी पड़ती है और रोगी पहले जैसा ठीक नहीं हो पाता है।  Also Read - सुबह नहीं होता पेट साफ तो रात को सोते समय अपनाएं यह घरेलू नुस्खा, कब्ज की दवा खाने की नहीं पड़ेगी कभी जरूरत