एसिडिटी से हैं परेशान, तो इन पांच चीजों को लिमिट में खाएं

वे चॉकलेट, केक वगैरह जो आप टीनएज में खूब खा लिया करते थे तीस की उम्र के बाद शरीर को नुकसान पहुंचाने लगती हैं।

1 / 6

Acidic-food1

एक उम्र के बाद खानपान में जरा सी भी लापरवाही सेहत पर भारी पड़ जाती है। वे चॉकलेट, केक वगैरह जो आप टीनएज में खूब खा लिया करते थे तीस की उम्र के बाद शरीर को नुकसान पहुंचाने लगती हैं। इसलिए यह जरूरी है कि उम्र बढ़ने के साथ आप उन फूड्स के बारे में जाने लें जिनके असंयमित सेवन से सेहत को नुकसान पहुंचता है। बार-बार होने वाली एसिडिटी और गैस की समस्या पेट की गड़बडि़यों और भविष्य में होने वाली गंभीर समस्याओं का संकेत हो सकता है।

2 / 6

Acidic-Chocolate

चॉकलेट - यह आपके पेट के लिए काफी नुकसानदायक साबित हो सकती है। चॉकलेट को उन लोगों के लिए एक बुरा विकल्प हैं जो अक्सर एसिड से परेशान रहते हैं। इसमें कैफीन और थियोब्रोमाइन जैसे अन्य पदार्थ होते हैं, जो एसिड का कारण बनते हैं। इसमें काफी फैट होता है, जो एसिड का कारण भी बनता है और इसकी अतिरिक्त कोको सामग्री है, जो रिफ्लक्सम को बढ़ावा देने के लिए भी जिम्मेदार होती है।

3 / 6

Acidic-food-alchohol

अल्कोहल - बीयर और वाइन जैसे विभिन्न मादक पेय न केवल पेट में गैस्ट्रिक एसिड को बढ़ाते हैं, बल्कि शरीर को डिहाइड्रेट कर एसिड बनाते हैं। इसके अलावा, यहां तक कि अगर आप अल्कोहल ले रहे हैं, तो इसे सोडा या कार्बोनेटेड पेय के साथ न मिलाएं।

Advertisement
Advertisement
4 / 6

Acidic-food-caffeen

कैफीन - एक दिन में एक कप कॉफी या चाय पीना ठीक है, इसका अधिक सेवन आपको एसिडिटी का शिकार बना सकता है, क्योंकि इनमें कैफीन की मात्रा अधिक होती है। कैफीन के सेवन से पेट में गैस्ट्रिक एसिड का स्राव होता है, जिससे एसिडिटी होती है। कभी भी खाली पेट चाय या कॉफी न पिएं।

5 / 6

Acidic-food-soda

सोडा - पेट में एसिड पैदा करने के सोडा और अन्य कार्बोनेटेड ड्रिंक्सव जिम्मेदार हैं। कार्बोनेशन के बुलबुले पेट के अंदर फैलते हैं। बढ़ते दबाव के कारण जलन होने लगती है। वास्तव में, सोडे में कैफीन भी होता है, जो एसिड बनाने में योगदान देता है।

6 / 6

Acidic-food-spicy

मसालेदार खाना - मसालेदार खाने का अधिक सेवन हमारे स्वास्थ्य पर बुरा असर डालता है। मिर्च, गर्म-मसाला और काली मिर्च सभी नेचुरल रूप से एसिडिक होते हैं। इन्हें खाने से एसिड बनने लगता है. ये हेल्दीऔ हो सकते हैं, अगर आप इनका सेवन सीमित मात्रा में करते हैं।