Nutrient Deficiency in Women: अधिकांश महिलाओं में होती है इन 5 पोषक तत्‍वों की कमी, जानिए उनके नैचुरल सोर्स

महिलाएं आजकल खाने पीने में बहुत ज्यादा लापरवाहियां बरतती जा रही हैं और वह पौष्टिक चीजें खाने की बजाए अन हेल्दी चीजें खाती रहती हैं। यही आदतें हमारे जीवन को अस्वस्थ बनाने की जिम्मेदार होती है। अनियमित डाइट व खराब खाने की आदतें आपके शरीर में पोषण की कमी बढ़ा देती हैं। इससे आपके शरीर में बहुत सी बीमारियां व इंफेक्शन पैदा हो जाते हैं। इसलिए आपको अपने शरीर में पोषण की कमी को अवश्य पूरा करना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा हेल्दी चीजें खानी चाहिए।

1 / 5

महिलाओं में आयरन की कमी

आयरन की कमी बहुत सी महिलाओं में देखने को मिलती है क्योंकि वह हर महीने मासिक धर्म के दौरान अपना बहुत सा ब्लड खो देती है । आयरन की कमी के कारण आपको एनीमिया जैसी बीमारियां भी हो सकती हैं। जबकि गर्भवती महिलाओं को आयरन की ज्यादा जरूरत होती है। यदि आपके शरीर में आयरन की कमी होती है तो इससे आपको थकावट, चक्कर आने जैसे लक्षण दिखने लगते हैं जोकि अच्छे लक्षण नहीं हैं। इसलिए आपको पालक, सीरियल, बीन्स, राजमा आदि को खाना चाहिए।

2 / 5

महिलाओं में विटामिन डी की कमी

बहुत सी महिलाएं धूप में जाने से बचती हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि धूप में जाने से यूवी किरणों के कारण उन्हें बहुत सी हानियों का सामना करना पड़ेगा। विटामिन डी का मुख्य स्रोत धूप ही होती है। इस कारण भी महिलाओं में विटामिन डी की कमी पाई जाती है। विटामिन डी हमारी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए व हमारी हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए भी जिम्मेदार होता है। इसकी कमी के कारण मोटापा व टाइप 2 डायबिटीज जैसी बीमारी हो सकती हैं।

3 / 5

महिलाओं में कैल्शियम की कमी

कैल्शियम हड्डियों के लिए एक मुख्य पोषण माना जाता है। इसलिए आपके शरीर में कैल्शियम भी प्रचुर मात्रा में होना चाहिए। जैसे जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती है उनमें कैल्शियम की कमी के कारण ओस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारियां ज्यादा होने लगती है। इसलिए आपको नियमित रूप से चेकअप करवाते रहने चाहिए। इसकी कमी को पूरा करने के लिए आप ज्यादा से ज्यादा डेयरी उत्पाद खा व पी सकती हैं।

Advertisement
Advertisement
4 / 5

महिलाओं में विटामिन बी12 की कमी

यह सबसे ज्यादा पाई जाने वाली कमी है। इस विटामिन की कमी के कारण आपकी रेड ब्लड सेल्स नहीं बन पाते हैं व आपका पाचन अच्छा नहीं होता। इसके कारण आपको एनीमिया, जीभ सूज जाना, सोचने में परेशानी होना व मसल्स में कमजोरी आदि बीमारियां हो सकती है। शाकाहारी महिलाओं में यह कमी ज्यादा पाई जाती है क्योंकि विटामिन के रिच सोर्स अधिकतर पशु अधारित खाद्य होते हैं।

5 / 5

महिलाओं में आयोडीन की कमी

आयोडीन थायरॉयड हार्मोन्स के उत्पादन के लिए आवश्यक होता है। यह मेटाबॉलिज्म व शरीर के तापमान के लिए जरूरी माना जाता है। आयोडीन की कमी गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत खतरनाक मानी जाती है। इसकी कमी के कारण थकान, मोटापा, सर्दी महसूस होना आदि लक्षण देखने को मिलते हैं इसलिए आपको सी फूड व अंडों का सेवन करना चाहिए ताकि आयोडीन की कमी पूरी की जा सके।