Sign In
  • हिंदी

fistula (भगंदर) में इस जगह तकिया लगाकर बैठने से नहीं होता दर्द! पढ़ें गुदा पर सूजन-दर्द से बचने के आसान नुस्खे

fistula ka ilaj : फिस्टुला की स्थिति में लोगों को असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है और उनका एक जगह पर बैठा रहना मुश्किल हो जाता है। हालांकि आप फिस्टुला के कई लक्षणों में से कुछ में घरेलू उपचारों से राहत पा सकते हैं।

Written by Jitendra Gupta | Published : September 24, 2022 1:47 PM IST

1/6

गुदा पर सूजन-दर्द से बचने के आसान नुस्खे

fistula ka ilaj : पाइल्स यानी की बवासीर के बारे में लगभग सभी लोग जानते ही होंगे लेकिन फिस्टुला (Fistula)के बारे में जानकारी बहुत कम लोगों को है। फिस्टुला एक ऐसी स्थिति है, जिसमें पीड़ित व्यक्ति की गुदा में फोड़े निकल आते हैं। दरअसल गुदा के अंदर ऐसी बहुत सी ग्रंथियां होती हैं, जो तरल पदार्थ बनाने का काम करती है। जब ये ग्रंथि बंद हो या जाती है तो बैक्टीरिया पस वाले सूजे हुए घाव बनाने शुरू कर देती है, जिसकी वजह से टिश्यू संक्रमित हो जाते हैं और बाहर निकले हुए तरल पदार्थ फोड़े बनाने का काम करती है। जब ज्यादा दिनों तक इस स्थिति का इलाज नहीं किया जाता है तो ये बाहर भी निकलना शुरू हो जाते हैं। फिस्टुला की स्थिति में लोगों को असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है और उनका एक जगह पर बैठा रहना मुश्किल हो जाता है। आइए जानते हैं फिस्टुला में आराम पाने के कुछ घरेलू नुस्खों (anal fistula home remedies in hindi)के बारे में, जिन्हें आजमाकर आपको आराम मिल सकता है।

2/6

1-Fistula घरेलू नुस्खों से मिलने वाला आराम (anal Fistula Home Remedies In Hindi)

फिस्टुला में आपको अजीब से लक्षण महसूस होते हैं, जिसमें तेज जलन होना और खुजली शामिल है। ये लक्षण आमतौर पर अपने आप ठीक नहीं होते हैं। हालांकि आप फिस्टुला के कई लक्षणों में से कुछ में घरेलू उपचारों से राहत पा सकते हैं। इन लक्षणों में शामिल हैं: 1- गुदा के आसपास सूजन के साथ दर्द महसूस होना। 2- गुदा के खुलने पर आसपास की स्किन में लालपन, जलन या लगातार खुजली होना। 3-बैठने, घूमने, हिलने-डुलने या फिर खांसने पर अचानक तेज दर्द महसूस होना। 4-बुखार और ठंड लगना। 5-थकान और बीमार महसूस करना। 6-गुदा के पास बदबूदार स्त्राव का रिसाव। 7-मल में रक्त या मवाद निकलना। 8-मल त्याग करते वक्त कठिनाई।  Also Read - Alert! आखों पर मोबाइल स्क्रीन का गहरा असर, करें ये उपाय, Watch Video

3/6

2-फिस्टुला में क्या करें (what To Do In Fistula)

1- फाइबर, फिस्टुला को नियंत्रित करने में बहुत मदद करता है। फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ मल को कठोर बनाते हैं और उन्हें आसानी से बाहर निकालने में मदद करते हैं। अपनी डेली डाइट में ऐसे फूड्स को शामिल करें, जिसमें फाइबर की मात्रा ज्यादा हो। इसमें अनाज, सब्जियां और फल शामिल हैं। ये आपकी आंतों को साफ रखते हैं और कब्ज को रोकने या फिर ठीक करने में मदद करते हैं। इनमें मौजूद विटामिन और मिनरल्स इम्यूनिटी को बूस्ट करते हैं और संक्रमण को तेजी से ठीक करने में मदद कर सकते हैं। 2-हेल्दी फैट जैसे कोल्ड प्रेस्ड ऑयल या मक्खन का मध्यम मात्रा में सेवन पोषक तत्वों के बेहतर तरीके से अवशोषण में मदद करता है और मल त्याग को बेहतर बनाता है। 3-मछली, जैतून, नट्स और बीज जैसे हेल्दी फूड्स, जिसमें ओमेगा -3 और ओमेगा -6 होता है आपकी इम्यूनिटी को मजबूत बनाते हैं और फिस्टुला में सूजन को कम करते हैं।

4/6

3-फिस्टुला में क्या न करें (what To Avoid In Fistula)

3.1- अपच और दस्त से बचने के लिए भारी और ज्यादा भोजन करने से बचें। 3.2- मसालेदार और गर्म खाद्य पदार्थ खाने से बचें, जो कि गुदा वाले हिस्से में रक्तस्राव और जलन को बढ़ा सकते हैं। 3.3- बहुत अधिक कैफीन या अल्कोहल का सेवन न करें क्योंकि ये आपको डिहाइड्रेट कर सकता है और कब्ज की समस्या बढ़ सकती है। 3.4- रिफाइन्ड, मीठा और तले हुए फूड्स को खाने से बचें, जो आंतों के कार्य को नुकसान पहुंचा सकते हैं।  Also Read - सर्दियों में किडनी के मरीजों को खास ध्यान की जरूरत, एक्सपर्ट ने बताए गुर्द स्वस्थ रखने वाले 5 फूड्स

5/6

4-साफ-सफाई का ध्यान जरूरी (Healthy Bowel Habits In Fistula)

फिस्टुला में वॉशरूम से जुड़ी अच्छी आदतों को फॉलो करना जरूरी है, जो बैक्टीरिया के अवशेषों को जमा होने से रोकने में मदद कर सकती हैं और संक्रमण के खतरे को कम कर सकती है। इन आदतों में शामिल हैं: 1-जब भी शौच के लिए जाएं तो मल त्याग के बाद गुदा वाले हिस्से को अच्छी तरह से धोएं। 2-हाथों को साफ रखना चाहिए क्योंकि उन पर कीटाणुओं का सबसे ज्यादा असर होता है। 3-फिस्टुला लीक होने पर अंडरक्लॉथ को बदलने की जरूरत है। 4-अगर आवश्यक हो तो गुदा पैड का प्रयोग करें। 5-मल को रोकने की कोशिश न करें। 6-शौचालय में सीट पर लंबे समय तक बैठे रहने से पेट का दबाव बढ़ सकता है और हालत खराब हो सकती है।

6/6

5-ये नुस्खें देंगे तुरंत आराम (effective Home Remedies For Fistula In Hindi)

5.1- सिट्ज़ बाथ: फिस्टुला के लक्षण जैसे जलन, सूजन, दर्द को कम करने के लिए सिट्ज़ बाथ कारगर है। इसमें आपको गुदा वाले हिस्से को सादे गर्म पानी में भिगोने होता है। दिन में कम से कम 3-4 बार सिट्ज़ बाथ लेने से आपको आराम मिलता है। 5.2- डोनट तकिए का इस्तेमाल करनाः आप इसे लगाकर बैठ सकते हैं, जिससे गुदा पर दबाव नहीं पड़ेगा और बैठने के दौरान दर्द से राहत मिलेगी। 5.3- लैक्सेटिव का उपयोग करेंः मल को हल्का बनाए रखने में मदद करता है और मल सूखता नहीं है, जिसकी वजह से शौच के दौरान ज्यादा जोर नहीं लगाना पड़ता और कब्ज होने की संभावना कम हो जाती है।  Also Read - सुबह नहीं होता पेट साफ तो रात को सोते समय अपनाएं यह घरेलू नुस्खा, कब्ज की दवा खाने की नहीं पड़ेगी कभी जरूरत