Advertisement

paracetamol for kids in hindi : बुखार होने पर बच्चे को पेरासिटामोल देने से पहले इन 8 बातों का ध्यान रखें पेरेंट्स! Side effects से बचेंगे बच्चे

बुखार होने पर बच्चे को पेरासिटामोल देने से पहले इन 8 बातों का ध्यान रखें पेरेंट्स

बुखार होने पर पहले कोशिश करें कि उसे स्पंज बाथ दें या गुनगुने पानी से नहलाएं। आप कोल्ड कॉम्प्रेस भी ट्राई कर सकते हैं। इसके बाद भी अगर बच्चा गर्म है, तो उसे पेरासिटामोल ड्रॉप या सिरप से मदद मिल सकती है।

paracetamol for kids in hindi : बुखार की वजह से बच्चा थोड़ा गर्म हो सकता है। बुखार के साथ चिड़चिड़ेपन, भूख में कमी और डिहाइड्रेशन से उसे कमजोरी और अन्य असुविधाएं हो सकती हैं। इसके लिए जरूरी नहीं है कि बच्चे को डॉक्टर के पास ले जाएं। क्योंकि कभी-कभी बुखार इतना भी बुरा नहीं होता है। वास्तव में इससे बच्चे की इम्यूनिटी बढ़ती है। हालांकि अगर तापमान 100 डिग्री सेल्सियस या उससे अधिक है, तो बच्चे को पैरासिटामोल देना सुरक्षित है।

घर पर बुखार का इलाज कैसे करें

बुखार होने पर पहले कोशिश करें कि उसे स्पंज बाथ दें या गुनगुने पानी से नहलाएं। आप कोल्ड कॉम्प्रेस भी ट्राई कर सकते हैं। इसके बाद भी अगर बच्चा गर्म है, तो उसे पेरासिटामोल ड्रॉप या सिरप से मदद मिल सकती है। पेरासिटामोल को सही मात्रा में देने के लिए, आपको ड्रॉप या सिरप की ताकत को जानने की आवश्यकता है। दवा दो शक्तियों में आती है - 120 एमजी / 5 एमएल और 250 एमजी / 5 एमएल जो क्रमशः 2 एमएल और 5 एमएल के रूप में दी जा सकती है। आप अपने बच्चे को एक दिन में पेरासिटामोल ड्रॉप या सिरप की चार खुराक दे सकते हैं।

बच्चे को पेरासिटामोल देने से पहले इन बातों का रखें ख्याल

  1. अगर बुखार इन्फेक्शन से हुआ है, तो यह तीन से पांच दिन तक रह सकता है, जब तक आपका बच्चा ठीक नहीं हो जाता। बुखार वापस आने पर खुराक ना बढ़ाएं। इससे बुखार कम नहीं होगा। इसके बजाय, पेरासिटामोल की अधिक मात्रा आपके बच्चे को नुकसान पहुंचा सकती है।
  2. बच्चे को पेरासिटामोल देने से पहले चिकित्सक की सलाह लें। तीन महीने के बच्चे को बिना परामर्श के दवा ना दें।
  3. ओरल ड्रग देने से पहले एक बार टेम्प्रेचर जरूर देख लें। यदि तापमान 100 डिग्री से कम है और बच्चा अभी भी गर्म है, तो पैरासिटामोल देने से बचें।
  4. इस बात का ध्यान रखें कि कहीं आपका बच्चा कोई अन्य दवा तो नहीं ले रहा है। दवाओं के ओवरडोज से बच्चे को नुकसान हो सकता है।
  5. पेरासिटामोल की खुराक भी आपके बच्चे के वजन और खुराक की ताकत के अनुसार दी जानी चाहिए। यदि आपके बच्चे का वजन कम है या 5 किलो से कम है तो उसे पेरासिटामोल देने से बचें।
  6. टीकाकरण के तुरंत बाद अपने बच्चे को पेरासिटामोल देने से बचें क्योंकि इससे टीकाकरण की प्रभावशीलता कम हो सकती है।
  7. याद रखें, पेरासिटामोल का उपयोग केवल बुखार के लिए नहीं बल्कि दर्द के लिए भी किया जाता है। जब तक आपका बुखार के कारण बच्चे को ज्यादा असुविधा ना हो तब तक पेरासिटामोल न दें।
  8. अगर बच्चे को पेरासिटामोल देने के तीन दिन बाद भी बुखार कम नहीं हो रहा है, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on