Sign In
  • हिंदी

हॉस्टल में जाकर बिगड़ सकता है आपका बच्चा, अगर आप भी भेज रहे हैं घर से दूर तो इन 5 बातों का जरूर रखें ध्यान

Children in hostel: बेहतर पढ़ाई के लिए घर से बाहर जाना भी बहुत जरूरी है, लेकिन कई बार हॉस्टल या बोर्डिंग स्कूल जाकर गलत संगत में पड़ जाते हैं। जानें बच्चे को घर से दूर भेजते समय किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

Written by Mukesh Sharma |Updated : October 4, 2022 3:35 PM IST

Tips for parenting: अपने बच्चों के खुद से दूर करना कोई नहीं चाहता है, बच्चा कितना भी बड़ा हो जाए लेकिन पेरेंट्स को फिर भी लगता है कि जैसे उनका बच्चा बाहर सेफ नहीं है। लेकिन एक समय आता है जब पेरेंट्स को ना चाहते हुए भी बच्चे को खुद से दूर करना पड़ता है। जब बच्चा बड़ा हो जाता है और उसे अच्छी स्टडी के लिए घर से दूर जाना पड़ता है, तो उसे हॉस्टल में रहना पड़ता है, जो पेरेंट्स को बिल्कुल भी पसंद नहीं होता है। पेरेंट्स के मन में यही रहता है कि कहीं उनका बच्चा हॉस्टल में सुरक्षित न हो, कहीं उसका पढ़ाई पर ध्यान न हो या फिर कहीं वह किसी गलत संगत में न पड़ गया हो। यह सच भी है कि कुछ बच्चे हॉस्टल में जाकर गलत संगत में पड़ जाते हैं और कम उम्र में ही स्मोकिंग व ड्रिंकिंग जैसी गलत आदतें पाल लेते हैं, जिन्हें वे पूरी जिंदगी नहीं छोड़ पाते हैं। अगर आपका बच्चा भी हॉस्टल या बोर्डिंग स्कूल जा रहा है, तो आप भी इन 5 बातों का ध्यान रखें जिससे आपका बच्चा हॉस्टल या बोर्डिंग स्कूल जाने के बाद भी गलत संगत में नहीं पड़ेगा। (How to Prepare Your Child For Hostel)

1. बच्चे की सहमति है जरूरी

अगर अच्छी स्टडी के लिए आप अपने बच्चे को घर से दूर भेज रहे हैं और उसे आगे हॉस्टल में रहना है, तो उसमें बच्चे की सहमति होना बहुत जरूरी है। अगर बच्चा घर से दूर जाने पर सहमत नहीं है, तो उसपर किसी भी प्रकार का दबाव न बनाएं, क्योंकि ऐसा करने पर बच्चा वहां जाकर जानबूझकर गलत संगत में पड़ सकता है।

2. हॉस्टल या बोर्डिंग स्कूल का माहौल

यह भी जरूरी है कि जिस हॉस्टल या बोर्डिंग स्कूल बच्चा जा रहा है वहां का माहौल जानें। क्योंकि हॉस्टल जाने के बाद आपका बच्चा कैसा बनने वाला है, यह वहां का माहौल ही बताएगा। इसलिए पहले ही पता करें कि वहां का माहौल कैसा है और आपको सब कुछ सही लग रहा है, तब ही आपको बच्चा वहां भेजना चाहिए।

Also Read

More News

3. सही उम्र होना है जरूरी

हॉस्टल जाने के लिए बच्चे की सही उम्र होना भी जरूरी है। अगर बच्चे की उम्र कम है, तो उसे ज्यादा समझ नहीं होगी और ऐसे में उसके गलत संगत में पड़ने का खतरा ज्यादा रहता है। साथ ही कम उम्र में बच्चे का अपने पेरेंट्स से दूर होना भी सेफ नहीं है। इसलिए कम से कम 15 साल या फिर उस से ज्यादा उम्र होने के बाद ही उसे हॉस्टल भेजना चाहिए।

4. हॉस्टल भेजने की वजह

बच्चे को हॉस्टल भेजने की वजह भी सही होनी चाहिए। ऐसा इसलिए अगर बच्चे को लग रहा है कि उसे जबरदस्ती हॉस्टल भेजा जा रहा है, तो ऐसे में उसके मन में नेगेटिव ख्याल आते हैं और उसे लगता है कि उसे जानबूझकर खुद से अलग किया जा रहा है। अगर पास में ही अच्छा कॉलेज या स्कूल है, तो उसे हॉस्टल या बोर्डिंग स्कूल नहीं भेजना चाहिए।

5. बच्चे को करें मानसिक रूप से तैयार

बच्चे के लिए अपने घर से दूर जाना थोड़ा अनकंफर्टेबल हो सकता है, क्योंकि वह अपने कंफर्ट के बाहर जा रहा है। इसलिए उसे मानसिक रूप से तैयार करना भी जरूरी है। उसे बताएं कि अच्छी स्टडी के लिए बाहर जाना जरूरी है। साथ ही अपने बच्चे से खुलकर बात करें और उसके मन के सारे सवाल उन से पूछ लें। अपने बच्चे को बताएं कि आप हॉस्टल में भी उसका पूरा ख्याल रखेंगे, उस से बात भी करेंगे और उसके मिलने भी आया करेंगे।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on