Advertisement

सुष्मिता सेन की तरह स्वरा भास्कर भी एडॉप्ट करना चाहती हैं बच्चा, सिंगल पेरेंट्स इस तरह कर सकते हैं भविष्य की तैयारियां

स्वरा भास्कर सिंगल पेरेंटिंग के तरीके को बेहतर मानती हैं और स्वरा की तरह ही दुनियाभर में बहुत-सी महिलाएं और पुरुष  भी सिंगल फादर या सिंगल मदर बनने का फैसला ले रहे हैं। (Swara Bhaskar On Single Parenting)

बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) ने कहा है कि वे एक बच्चे को गोद ले रही हैं और सिंगल पेरेंट के तौर पर उसकी देखभाल करेंगी। बता दें कि स्वरा ने अभी शादी  नहीं कि है और वे अपने गोद लिए जा रहे बच्चे की परवरिश अकेले ही करना चाहती हैं। स्वरा भास्कर कहती हैं कि यह ज़रूरी नहीं कि बच्चे की परवरिश के लिए 2 माता और पिता दोनों ही हों। सिंगल पेरेंटिंग के बारे में स्वरा ने कहा कि किसी बच्चे के लिए माता-पिता यानि दोनों पार्टनर का होना तभी फायदेमंद है जब उनके बीच अच्छा तालमेल हो। बहुत से बच्चे ऐसे भी हैं जिनके माता-पिता का तलाक हो चुका है । इसीलिए, मुझे लगता है कि टूटे हुए परिवारों में बच्चों को रखने की बजाय उनकी परवरिश अकेले  ही की जाए। स्वरा भास्कर सिंगल पेरेंटिंग के तरीके को बेहतर मानती हैं और स्वरा की तरह ही दुनियाभर में बहुत-सी महिलाएं और पुरुष  भी सिंगल फादर या सिंगल मदर बनने का फैसला ले रहे हैं। (Swara Bhaskar On Single Parenting)

भारत में भी हैं कई 'सिंगल पेरेंट्स'

सिंगल पेरेंट एक ऐसा शब्द है जो अब भारत के लोगों के लिए भी जाना-पहचाना-सा बन गया है। बदलते सामाजिक परिवेश में अब एकल परिवारों के बाद अकेले अभिभावक की कॉन्सेप्ट (Single Parenting In India) आम हो चला है। सिंगल पेरेंट फैमिलीज में बच्चे के साथ उसके माता या पिता में से कोई एक ही मौजूद होता है। कुछ परिवारों में दादा-दादी या नाना-नानी का सपोर्ट उपलब्ध होता है तो वहीं, कुछ परिवारों में बच्चा पूरी तरह से अपने पिता या माता पर ही आश्रित होता है।   भारत में कई तलाकशुदा, विधवा लोगों को सिंगल पेरेंट के तौर पर आपने बच्चों की परवरिश करते देखा ही होगा। वहीं, कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने बच्चों को एडॉप्ट किया है और उनकी परवरिश कर रहे हैं।

Also Read

More News

फिल्म इंडस्ट्री जो रिलेशनशिप्स और पेरेंटिंग के क्षेत्र में कई बड़े उदाहरण पेश करता रहा है उसी बॉलीवुड में कई सिंगल पेरेंट्स मौजूद हैं। बॉलीवुड अभिनेत्री सुष्मिता सेन और रवीना टंडन लम्बे समय पहले ही बच्चों को गोद लेकर इस तरह की पहल कर चुकी हैं। वहीं, पिछले कुछ वर्षों में करन जौहर, तुषार कपूर और उनकी बहन एकता कपूर भी सरोगेसी की मदद से माता-पिता बने और अब अपने बच्चों का पालन-पोषण मां और बाप दोनों के तौर पर कर रहे हैं।

बच्चे को गोद लेने से पहले करें इस तरह की तैयारियां

  • फाइनेंस के बारे में सबसे पहले विचार करें। क्या आप बच्चे का खर्च उठाने में सक्षम हैं और क्या आप अपने खर्चे के साथ-साथ बच्चे को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करा सकेंगे।
  • शादी से पहले बच्चे को एडॉप्ट कर रहे हैं तो भविष्य में आप अपने पार्टनर को अपने बच्चे के साथ कैसे घुलने-मिलने में मदद करेंगे।
  • अगर आप नौकरी करने वाले हैं और बार-बार शहर या देश से बाहर जाना पड़ता है तो ऐसे में आपका बच्चा किन लोगों के साथ रहेगा। क्या आप बच्चे को उनके पास छोड़ सकते हैं? क्या आप उन लोगों पर विश्वास कर सकते हैं, इन सब बातों पर गौर ज़रूर करें।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on