Advertisement

हाल ही में बने हैं पापा? ऐसे बनाएं अपने न्यूबार्न बेबी से स्ट्रॉन्ग कनेक्शन, जानें 4 असरदार टिप्स

अगर आप हाल ही में पिता बने हैं तो इन 4 टिप्स के साथ आप अपने बेबी के साथ स्ट्रॉन्ग कनेक्शन बना सकते हैं।

शिशु के जन्म के बाद उसके सबसे ज्यादा करीब होती है मां। क्योंकि शिशु के शुरुआती दिनों में माताएं उसे स्तनपान कराती हैं और अपना ज्यादातर वक्त उसी के साथ बिताती हैं इसलिए शिशु का संबंध मां के साथ सबसे ज्यादा मजबूत होता है। नवजात शिशुओं को भी अपनी मां के करीब रहने से आराम मिलता है, जो मां-शिशु के बीच बॉन्डिंग प्रक्रिया को मजबूत बनाता है। अक्सर देखा जाता है कि पिता अपने शिशु के उतने करीब नहीं होते हैं, जितनी की मां। लेकिन ऐसे कुछ टिप्स हैं कि आप भी अपने नवजात शिशु के साथ रिश्ते को स्ट्रॉन्ग कर सकते हैं।

टिप्स, जो शिशु और पिता के बीच संबंध को बनाएंगे स्ट्रॉन्ग

उनके आस-पास ही रहें

बच्चों को हिलना-डुलना पसंद होता है क्योंकि गर्भ में रहते हुए ही वे लगातार हिलते रहते हैं। इस मूवमेंट से उन्हें आराम मिलता है और वे इसका आनंद लेना भी सीखते हैं। इसलिए जब आपका बेबी हिल-डुल रहा हो तो अपने बच्चे को इधर-उधर ही रहे हें। मूवमेंट से शिशुओं की मांसपेशियों की टोनहोने में भी मदद मिलती है।

बच्चे के साथ बिताएं शांत समय

जब आप अपने शिशु को बोतल से दूध पिला रहे हों तो उसके साथ कुछ शांतिपूर्वक समय बिताने की कोशिश करें। ऐसा करने से आपको बच्चों को करीब जाने का मौका मिलता है क्योंकि बच्चे को आपसे आने वाली गंध का अहसास होता है और वो खुद को आपसे जुड़ा हुआ पाता है। आपकी यही गंध वह पहचान लेते हैं और आपको पहचानने की कोशिश करने लगते हैं। ये भी उनके करीब जाने का एक खास तरीका है।

Also Read

More News

स्किन से स्किन का संपर्क बनाएं

जब कोई बच्चा अपने माता या पिता से स्किन का स्किन से संपर्क बनाता है तो उसे मजा आता है। इससे बच्चे का ब्लड शुगर सही रहेगा और उसका तापमान, नाड़ी और सांस लेने की दर भी बेहतर होगी। यह शिशु को आपकी सुगंध से परिचित होने में भी मदद करता है, और आपके दिल की धड़कन बच्चे के लिए एक शांत लय बन जाती है। इसलिए अपने शिशु के साथ जब भी समय मिले स्किन का स्किन संपर्क बनाएं।

अपने बच्चे के लिए गाना गाएं

आप अपने बच्चे के लिए कोई लोरी या फिर गाना गा सकते हैं। अगर आपका बच्चा बहुत छोटा है तो वे जरूर अपने पिता की आवाज़ को सुनकर शांत हो जाते हैं, जो उन्हें सुरक्षित और परिचित महसूस कराती है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या गा या फिर पढ़ रहे हैं, बस इतना ही मायने रखता है कि ऐसा करने के लिए आप कितना समय निकाल रहे हैं।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on