Sign In
  • हिंदी

Inhaled Covid Vaccine: चीन ने निकाली दुनिया की पहली सूंघने वाली वैक्सीन, इमरजेंसी के लिए दी मंजूरी

Covid vaccine: चीन ने कोविड 19 के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए सूंघने वाली वैक्सीन बनाई है, जिसे सूंघने मात्र से ही कोरोना वायरस संक्रमण से बचा जा सकता है। इस लेख में जानें क्या है ये वैक्सीन और यह कितनी असरदार है।

Written by Mukesh Sharma |Published : September 6, 2022 9:42 AM IST

चीन ने कोरोना के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए एक नया हथियार बनाया है। चीन कोविड 19 से निपटने के लिए इनहेल्ड वैक्सीन या नीडल फ्री वैक्सीन बनाकर दुनिया को हैरान कर दिया है। चीन की कैनसिनो बायोलॉजिक्स इंक कंपनी द्वारा बनाई गई इस वैक्सीन का नाम Ad5-nCoV है और यह दुनिया की पहली इनहेल्ड एंटी-कोविड वैक्सीन है, जिसे आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी भी मिल चुकी है। हालांकि, इस पर चीन के कुछ एक्सपर्ट्स सवाल भी उठा रहे हैं, जबकि निर्माताओं व अन्य एक्सपर्ट्स का दावा है कि इस वैक्सीन को सूंघने मात्र से ही कोरोना से बचाव किया जा सकता है। बताते चलें कि चीन में एक बार भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं, कुछ दिन पहले शंघाई में लॉकडाउन लगा था और अब चीन के बड़े शहर चेंगदू में बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन लगा दिया गया है। लोगों को उम्मीद है कि इस नई वैक्सीन से बढ़ते कोरोना के मामलों को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी।

कितनी असरदार है ये वैक्सीन

अगर इस नीडल फ्री वैक्सीन के प्रभाव की बात करें तो इसे बनाने वाली कंपनी का दावा है कि यह लक्षणों को रोकने में 66 प्रतिशत प्रभावी है और गंभीर बीमारी निपटने में 91 प्रतिशत प्रभाव के साथ काम करती है। रिपोर्ट्स के अनुसार Ad5-nCoV चीन की सिनोवैक बायोटेक लिमिटेड और सिनोफार्म की वैक्सीन के बाद तीसरे नंबर पर आती है।

हवा के माध्यम से करेगी काम

कंपनी से मिली जानकारी के अनुसार सूंघने वाली वैक्सीन की मदद से सेलुलर इम्यूनिटी को स्टीमुलेट किया जा सकता है, जिससे इंट्रामस्कुलर इंजेक्शन के बिना ही सुरक्षा को बढ़ाया जा सकता है। जैसा कि यह वैक्सीन सुई रहित है, इसलिए इसका इस्तेमाल खुद भी किया जा सकता है। इस वैक्सीन को खुद लेने वाली खासियत से लोगों को यह आकर्षित कर सकती है और इसकी डिमांड बढ़ सकती है।

Also Read

More News

दूसरे देश भी बना रहे ऐसी वैक्सीन

सिर्फ चीन ही नहीं दुनिया के कई ऐसे देश हैं, जो नाक के ऊतकों में एंटीबॉडी को प्रभावित करने वाली वैक्सीन बनाने पर काम कर रहे हैं। हालांकि, चीन को छोड़कर अभी तक कोई देश सफलता हासिल नहीं कर पाया है और वहीं चीन ने बनाकर इसके इमरजेंसी उपयोग के लिए मंजूरी भी दे दी है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on