Advertisement

ECG Test: ये एक टेस्ट बता देगा कितना हेल्दी है आपका दिल, जानें कैसे किया जाता है ईसीजी और इसके फायदे

यदि आप चाहते हैं यह जानना कि आपका दिल सही ढंग से कार्य कर रहा है कि नहीं तो सबसे पहला और आसान टेस्ट है ईसीजी (ECG Test)। इस जांच के जरिए दिल की सभी बीमारियों का पता आसानी से लगाया जा सकता है।

''विश्व हृदय दिवस 2019'' यानी ''वर्ल्ड हार्ट डे'' (world heart day 2019) प्रत्येक वर्ष 29 सितंबर को सेलिब्रेट किया जाता है। हृदय शरीर का सबसे अधिक महत्वपूर्ण अंग है। यदि आपका दिल सही तरीके से काम नहीं करेगा, तो आपका सांस लेना भी दूभर हो जाएगा। आप हृदय रोगों की चपेट में आ जाएंगे, जिससे कभी भी आपकी मौत हो सकती है। कार्डियोवैस्कुलर डिजीज को आज नंबर वन किलर माना जाता है। वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन के अनुसार, कार्डियोवैस्कुलर डिजीज, जिसमें हार्ट डिजीज (heart diseases) और स्ट्रोक भी शामिल हैं, से प्रत्येक वर्ष 17,900,000 लोगों की मृत्यु हो जाती है। ऐसे में बेहद जरूरी है कि आप अपने दिल की सही तरीके से देखभाल करें, उसकी जांच करवाते रहें। दिल के रोगों का पता लगाने के लिए ईसीजी (ECG Test for heart) करवाना बेहद जरूरी है। ईसीजी टेस्ट (ECG Test for heart) के जरिए आप आसानी से जान सकते हैं कि आपका दिल कितना हेल्दी है। इसके साथ ही, प्रत्येक दिन संतुलित आहार लेना, नियमित रूप से व्यायाम करना, शराब का सेवन कम करना, धूम्रपान छोड़ना जैसे अच्छी आदतों को जीवनशैली में शामिल करके भी आप हृदय रोगों से बचे रह सकते हैं।

दिल की सेहत को जानने के लिए टेस्ट भी है जरूरी

यदि आप चाहते हैं यह जानना कि आपका दिल सही ढंग से कार्य कर रहा है कि नहीं तो सबसे पहला और आसान टेस्ट है ईसीजी (ECG Test)। इस जांच के जरिए दिल की सभी बीमारियों का पता आसानी से लगाया जा सकता है। ईसीजी (ECG) को इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम (Electrocardiogram) भी कहते हैं।

ईसीजी टेस्ट में क्या करते हैं

ईसीजी टेस्ट (What is ECG) के जरिए ऑक्सीजन की कमी, रक्त वाहिकाओं में परेशानी, हार्ट आर्टरीज में ब्लॉकेज, नसों में कोई भी ब्लॉकेज, सीने में दर्द, जलन, सांस लेने में परेशानी, हार्ट अटैक के लक्षण और हृदय रोग से संबंधित कोई भी समस्या का पता लगाने के लिए ईसीजी सबसे पहला स्टेप है। इस टेस्ट में डॉक्टर दिल की धड़कनों के जरिए हृदय रोगों का पता लगाते हैं। हर किसी को एक साल में ईसीजी टेस्ट करवा लेने चाहिए ताकि आप हृदय रोगों से बचे रहें। इसके जरिए समय रहते पता चल जाता है कि आपको हृदय से संबंधित कौन सी बीमारी है या भविष्य में हो सकता है। इससे समय रहते अपना इलाज करवा कर हार्ट अटैक के कारण होने वाली असमय मृत्यु से बचे रह सकते हैं।

Also Read

More News

सस्ती होती है ईसीजी जांच

अक्सर लोगों को लगता है कि इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम या ईसीजी टेस्ट (ECG Test for heart) बहुत महंगा होता है, पर ऐसा नहीं है। ना तो यह बहुत ज्यादा महंगा होता है और ना ही टेस्ट करवाते समय कोई भी शारीरिक दर्द होता है। लगभग 100 से 500 रुपये के अंदर इस टेस्ट को आप किसी भी हॉस्पिटल में करवा सकते हैं।

जब ये परेशानियां दिखें तो जरूर करवाएं ईसीजी टेस्ट

जब ब्लड प्रेशर घटता-बढ़ता रहे यानी कभी हाई हो जाए तो कभी लो ब्लड प्रेशर हो जाए।

सीने में लगातार जलन या दर्द महसूस हो।

दिल की धड़कनें असामान्य हो जाएं।

सांस लेने में परेशानी हो या सीने में भारीपन महसूस हो, तो करवाएं ईसीजी टेस्ट।

घबराहट महसूस हो और खूब पसीना निकले।

दिल में खून पहुंचाने वाली धमनियों में ब्लॉकेज या किसी भी तरह की कोई बाधा आ जाए।

दिल प्रॉपर तरीके से खून शरीर में वापस ना पहुंचा सके या दिल तक खून ना पहुंचे।

हार्ट वाल्व में किसी भी तरह की समस्या आने पर भी यह टेस्ट जरूरी है।

हार्ट अटैक के लक्षण नजर आएं, तो यह टेस्ट सबसे पहले करवा लें।

कैसे किया जाता है ईसीजी

इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम एक बेहद ही सुरक्षित और दर्द रहित टेस्ट है। उपरोक्त किसी भी तरह के लक्षण नजर आएं तो यह टेस्ट जरूर करवाएं। टेस्ट के दौरान (How to do ECG test) आपके सीने, हाथों, पैरों पर छोटे इलेक्ट्रोड पैच लगा दिए जाते हैं। इन इलेक्ट्रोड पैच के जरिए दिल की इलेक्ट्रिक एक्टिविटी को रिकॉर्ड किया जाता है। इससे आप अपना नियमित शारीरिक हेल्थ चेकअप भी करवा सकते हैं, लेकिन हार्ट डिजीज का पता लगाने के लिए यह बेस्ट और फर्स्ट जांच होता है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on