Advertisement

क्या आप जानते हैं कि, दिमाग भी हो सकता है बीमार? एक्सपर्ट्स ने किया खुलासा

एक्सपर्ट्स ने दावा किया है कि हमारे शरीर के बाकी अंगों यानि ऑर्गन्स की तरह हमारा दिमाग भी बीमार (Brain Health) हो सकता है। वैज्ञानिकों के अनुसार जिस तरह शरीर के अन्य अंग की सेहत से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं। ये समस्याएं बीमारी और मेंटल डिसॉर्डर्स के तौर पर उभर सकती हैं।

Brain Health: दिमाग या ब्रेन हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। जिससे, शरीर के हर हिस्से की कार्यप्रणालियां सुचारू रूप से चलने के संकेत मिलते हैं। इसीलिए, ब्रेन की भूमिका बहुत ही अहम मानी जाती है। जैसा कि इन दिनों दुनियाभर में लोग लॉकडाउन के कारण घरों में बंद हैं। ऐसे में उदासी, असुरक्षा, अकेलापन और चिंता जैसे कारणों से उनकी मानसिक सेहत पर भी असर पड़ा है। ये सारी समस्याएं दिमाग को बीमार कर सकती हैं। (Brain Health and Mental Illness)

एक्सपर्ट्स ने दावा किया है कि हमारे शरीर के बाकी अंगों यानि ऑर्गन्स की तरह हमारा दिमाग भी बीमार (Brain Health) हो सकता है। वैज्ञानिकों के अनुसार जिस तरह शरीर के अन्य अंग की सेहत से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं। ये समस्याएं बीमारी और मेंटल डिसॉर्डर्स के तौर पर उभर सकती हैं।

क्या दिमाग हो सकता है बीमार? जानें एक्सपर्ट्स की राय (Can Brain Fall Sick?)

हाल ही में एक वेबिनार का आयोजन किया गया जिसका शीर्षक था क्या आपका दिमाग खुश है’। इस वेबिनार में हिस्सा ले रहे एक्सपर्ट्स ने यह बयान दिया है। बेविनार के दौरान मनोवैज्ञानिक चिकित्सक निवेदिता सिंह ने कहा कि, हालांकि आमतौर पर लोग इसे स्वीकार नहीं करते हैं, लेकिन यह सच है कि जब भी हमारे सामने कोई ऐसी चुनौती आती है जो दिमाग से जुड़ी होती है तो इससे हमारा दिमाग बीमार हो सकता है।

Also Read

More News

निवेदिता सिंह के अनुसार, यह समस्याएं आगे चलकर सिजोफ्रेनिया, डिप्रेशन, बाई पोलर डिज़िज़ और क्रोनिक स्ट्रेस जैसी बीमारियों में तब्दील हो सकती है। जैसा कि इन मानसिक बीमारियों को बहुत अधिक गम्भीर मानी जाती हैं। इसीलिए, इनसे मरीज़ की ओवरऑल हेल्थ और लाइफ क्वालिटी भी प्रभावित होती है। इन बीमारियों से राहत पाने के लिए प्रोफेशनल हेल्प या मनोवैज्ञानिकों की सलाह की आवश्यकता पड़ सकती है।

मेंटल हेल्थ के प्रति लोगों को जागरूक करने और उन्हें महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध कराने के लिए इस वेबिनार का आयोजन किया गया। इस अवसर पर डॉ. निवेदिता ने कहा, आजकल लोगों में मानसिक स्वास्थ्य यानि मेंटल हेल्थ और मनोरोग यानि दिमाग से जुड़ी बीमारियों को लेकर भ्रम की स्थिति देखने को मिली है। ज़्यादातर लोग इस बात को स्वीकार नहीं करना चाहते कि शरीर के दूसरे अंगों की तरह दिमाग भी बीमार हो सकता है।

इस महत्वपूर्ण वेबिनार में हिस्सा ले रहे लोगों को संबोधित करने का काम, अमेरिका की टेक्सास यूनिवर्सिटी में बिजनेस के प्रोफेसर राज रघुनाथन ने भी किया। जिन्होंने मनोरोग, उसकी पहचान और उसके इलाज से जुड़ी चुनौतियों के समाधान के लिए टिप्स दीं और लोगों को मेंटली हेल्थ सुधारने के लिए कई तरह के सुझाव दिए।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on