Sign In
  • हिंदी

टोमाटो फ्लू को रोकने के लिए चंड़ीगढ़ प्रशासन ने बताया खुद कैसे करें उपाय, पढ़ें एडवाइजरी में लिखी जरूरी जानकारी

टोमाटो फ्लू को रोकने के लिए चंड़ीगढ़ ने बताया खुद कैसे करें उपाय, पढ़ें एडवाइजरी में लिखी जरूरी जानकारी

शुरू में ये रैशेज लाल रंग के और बहुत छोटे आकार के होते हैं लेकिन जब ये आकार में बड़े हो जाते हैं तो बिल्कुल टमाटर की तरह दिखाई देते हैं।

Written by Jitendra Gupta |Updated : September 2, 2022 12:38 PM IST

चंड़ीगढ़ प्रशासन के स्वास्थ्य विभाग ने केंद्र सरकार की एक एडवाइजरी को जारी करते हुए टोमाटो फ्लू के बारे में कुछ सावधानियां और इस बीमारी से जुड़ी जानकारी शेयर की है। भले ही केंद्र शासित चंडीगढ़ में इस बीमारी का कोई मामला सामने नहीं आया हो लेकिन लोगों में जागरुकता बढ़ाने के लिए ये दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। बता दें कि टोमाटो फ्लू एक वायरल रोग है और इस बीमारी के मुख्य लक्षण में शरीर के हिस्सों में पर टमाटर के आकार के रैशेज होने लगते हैं।

कैसे दिखते हैं टोमाटो फ्लू के रैशेज

शुरू में ये रैशेज लाल रंगके और बहुत छोटे आकार के होते हैं लेकिन जब ये आकार में बड़े हो जाते हैं तो बिल्कुल टमाटर की तरह दिखाई देते हैं। टोमाटो फ्लू को आप खुद से भी रोक सकते हैं हालांकि ये एक संक्रामक रोग है। बच्चों में शुरुआती लक्षण अन्य प्रकार के वायरल इंफेक्शन की ही तरह दिखाई देते हैं, जिसमेंः

1-बुखार

Also Read

More News

2-रैशेज

3-जोड़ों में दर्द शामिल है।

इसके अलावा स्किन पर होने वाले रैशेज की वजह से आपको स्किन पर खुजली भी महसूस होने लगती है।

कैसे चलता है इस बीमारी का पता

अन्य वायरल इंफेक्शन की ही तरह इसके लक्षणों में शामिल हैं थकान, मतली, उल्टी, दस्त, बुखार, शरीर में पानी की कमी, जोड़ों की सूजन , शरीर में दर्द और फ्लू जैसे लक्षण। इन लक्षण वाले बच्चों में डेंगू, चिकनगुनिया, जीका वायरस, वेरिकोला-जोस्टर वायरस और हर्पिस के निदान के लिए मॉलिक्युलर और सीरोलॉजिक्ल टेस्ट किए जाते हैं। अगर इनमें से किसी भी प्रकार के इंफेक्शन की बात सामने नहीं आती है तो टोमाटो फ्लू की पहचान हो पाती है।

कैसे करें इलाज

इस बीमारी के उपचार के तरीके ठीक अन्य वायरल इंफ्केशन की तरह ही होते हैं, जिसमें बीमारी को फैलने से रोकने के लिए रोगी को 5 से 7 दिन तक आइसोलेट किया जाता है। इसके अलावा उसे पर्याप्त रूप से आराम करना होता है और ढेर सारा पानी पीना होता है। खुजली और रैशेज से आरान पाने के लिए गर्म पानी से स्पंजभी कर सकते हैं। बुखार और शरीर में दर्द को रोकने के लिए पैरासिटामॉल भी दी जाती है लेकिन ये लक्षणों पर निर्भर करता है। टोमाटो फ्लू को आप खुद से भी रोक सकते हैं और इसके लिए कोई विशिष्ट दवा उपलब्ध नहीं है।

बीमारी की रोकथाम

इस बीमारी को रोकने का सबसे बेहतर तरीका है साफ-सफाई का ध्यान रखना और अपने आस-पास के माहौल में भी स्वच्छता बनाए रखना। संक्रमित रोगी के सीधे संपर्त में आने से बचें। रैशेज या फिर छालों पर खुजली करने से बचें और जब-जब इन रैशेज को छुए तो हाथ धोना न भूलें। खुद को हाईड्रेट रखें। बच्चों को नहलाने के लिए या फिर स्किन को साफ करने के सिए गर्म पानी का ही प्रयोग करें। इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए पोषण से समृद्ध डाइट लें।

बता दें कि टोमाटो फ्लू के उपचार और रोकथाम के लिए फिलहाल कोई एंटी-वायरल दवा या फिर वैक्सीन उपलब्ध नहीं है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on