Advertisement

महाराष्ट्र में कोरोना की तीसरी लहर दूसरे से भी होगी ज्यादा खतरनाक, राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों को दी चेतावनी!

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण लाख प्रयासों के बावजूद कम होने का नाम नहीं ले रहा है. राज्य में पहले के मुकाबले मामले कम हुए हैं मगर तीसरी लहर को लेकर डर बहुत ज्यादा है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर चिंता व्यक्त की है.

देश में कोरोना की दस्तक के साथ ही महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक रहा है. महाराष्ट्र में आज भी कोरोना का संक्रमण और मौत का आंकड़ा बाकी राज्यों के मुकाबले सबसे ज्यादा है. महाराष्ट्र में अब तक 62.14 लाख कोविड -19 मामले और 1,27,031 मौतें हुई हैं। महाराष्ट्र में कोरोना की स्थिति को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी चिंता व्यक्त कर चुके हैं. अब महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे का भी बयान आया है.

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने रविवार को आशंका व्यक्त की कि कोविड -19 महामारी की तीसरी लहर राज्य भर में लगभग 60 लाख लोगों को संक्रमित करेगी और इससे राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन की आवश्यकता वर्तमान 2,000 मीट्रिक टन से बढ़कर 4,000 मीट्रिक टन हो सकती है।

टोपे ने अपने गृहनगर जालना में मीडिया से बात करते हुए कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ शुक्रवार हुई वीडियो कॉन्फ्रेंस बैठक में, अब और अधिक सतर्क रहने और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश दिए गए थे। सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ से बचा जाना चाहिए और नहीं सार्वजनिक कार्यों के लिए अनुमति दी जानी चाहिए।”

Also Read

More News

पीएम मोदी के साथ बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया और तीसरी लहर की तैयारियों पर चर्चा की।

टोपे ने कहा, "केंद्र ने राज्यों को तीसरी लहर के लिए तैयार रहने और इससे निपटने के लिए बुनियादी ढांचे को तैयार रखने का भी निर्देश दिया।"

“मैं कहूंगा कि पहली लहर में 20 लाख लोग प्रभावित हुए और दूसरी लहर में 40 लाख लोग प्रभावित हुए। अनुमान है कि तीसरी लहर 60 लाख नागरिकों को संक्रमित कर सकती है। इसलिए, हमें तीसरी लहर पर अंकुश लगाने के लिए हर तरह से तैयार रहना चाहिए।"

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on