Advertisement

क्या है क्लेफ्ट लिप की बीमारी, क्यों कुछ बच्चे कटे-फटे होंठो के साथ लेते हैं जन्म

क्लेफ्ट लिफ्ट की समस्या प्रेगनेंसी के दौरान अंगों के सही विकास के कारण होती है।

कुछ लोगों के होंठ या जीभ जन्म से ही कटे-फटे हुए या दो हिस्सों में बंटे हुए होते हैं। इस स्थिति को क्लेफ्ट लिफ्ट  कहते हैं। हाल ही में हिमाचल प्रदेश सरकार ने घोषणा की कि वह क्लेफ्ट लिप वाले यानि जन्म से ही कटे-फटे होंठ वाले बच्चों के चेहरों पर मुस्कुराहट लौटाने के लिए ऐसे बच्चों को मुफ्त सर्ज़री की सुविधा देगी।

एक गैर-सरकारी संगठन स्माइल ट्रेन इंडिया और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन हिमाचल प्रदेश ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण निदेशालय के साथ मिलकर कटे-फटे होंठ और तालू के साथ पैदा हुए बच्चों के लिए मुफ्त सर्जरी करवाने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। यह समझौता तीन साल के लिए है, जिसके अंतर्गत राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) के स्वास्थ्य कार्यकर्ता इलाज से वंचित बच्चों की पहचान करेंगे और जिला नोडल अधिकारी ऐसे बच्चों को नि:शुल्क सर्जरी की सुविधा प्रदान करने के लिए स्माइल ट्रेन इंडिया के निकटतम सहयोगी अस्पताल को रेफर करेंगे। स्माइल ट्रेन कटे-फटे होंठ व तालू से ग्रसित बच्चों के लिए सर्जरी करेंगे और सर्जरी के बाद देखभाल में मदद करेगी।

क्या है क्लेफ्ट लिप-

Also Read

More News

क्लेफ्ट लिप की स्थिति गर्भ के समय बच्चे के सही विकास ना होने के कारण होती है। यह प्रेगनेंसी के दौरान इन अंगों के सही विकास के कारण नहीं होता। कटे हुए होठों के कारण सांस से दुर्गंध आ सकती है। क्योंकि बैक्टेरिया आसानी से मुंह में प्रेवश कर सकता है और वहां काफी समय तक टिका रह सकता है। कुछ बच्चों में जन्म के समय से ही यह समस्या होती है जिसमें उनके होंठ कटे हुए रहते हैं या ऊपर तालू में चिपके हुए रहते हैं। यह देखने में बहुत ही बुरा लगता है। प्रेगनेंसी के आखिरी स्टेज में हुए कुछ गड़बड़ियों के कारण ही ऐसी समस्या हो जाती है। कई बच्चों को इस समस्या के कारण सांस लेने में दिक्कत होने लगती है वहीँ कुछ बच्चों का मुंह भी ठीक से नहीं खुल पाता है। हालांकि अब इसका इलाज संभव है और ऑपरेशन की मदद से इसे पूरी तरह ठीक किया जा सकता है। इसलिए ऐसे कोई भी लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on