Advertisement

Sex tips in Hindi: कैसे सेक्स संबंध की शुरूआत करें

Sexual health in hindi: इन प्राथमिक बातों का ध्यान रख कर आप अपने सेक्स जीवन की अच्छी शुरूआत कर सकते हैं जिससे कि वह सारी जिंदगी के लिए आपके लिए यादगार पल बन जाये।

सेक्स पहली बार हो या दूसरी बार लेकिन इसको सही तरीके से करना बहुत मुश्किल होता है। सेक्स करने का सही तरीका (Sex karne ka sahi tarika) ही दोनों साथी को और ज़्यादा करीब लाता है। लेकिन सबसे मुश्किल की बात यह है कि इसके बारे में बहुत कम लोगों को ही मालुम होता है। बहुत लोगों के मन में इसके बारे में बहुत सवाल होते हैं कि कैसे सेक्स की शुरूआत अच्छी तरह से की जाये (Sex shuru kaise kare)। इसलिए यहाँ कुछ बातों के बारे में एक-एक करके बताया जा रहा है जिसके द्वारा आप सेक्स संबंध की शुरूआत अच्छी तरह से कर पायेंगे-

पहले इस बात का पता लगायें कि आपका साथी सेक्स करने के लिए इच्छुक है कि नहीं-

सेक्स करने का पहला नियम यह है कि आप अपने साथी के मन की बात को जानें। हर समय हर कोई सेक्स के लिए तैयार नहीं भी हो सकता है इसलिए साथी से पुछ लेना अच्छा होता है या प्यार भरे स्पर्श से भी इस बात का पता लगाया जा सकता है कि वह मानसिक और शारीरिक तौर पर तैयार है कि नहीं।

Also Read

More News

पहले से मानसिक रूप से तैयार हो जायें-

सेक्स करना एक ऐसा अनुभव होता है जो न सिर्फ आपको आनंद प्रदान करता है बल्कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी बहुत लाभ मिलता है, जैसे- कैलोरी बर्न होता है, अवसाद से निजात मिलता है। लेकिन सावधानी की बातों पर ध्यान रखना ज़रूरी होता है नहीं तो इस आनंद का मजा किरकिरा हो सकता है, जैसे- अनचाहा गर्भ, कोई संक्रमक बीमारी आदि। इसलिए सेक्स करने के पहले कॉन्डोम या गर्भनिरोधक गोलियों का बंदोबस्त रखना ज़रूरी होता है। सेक्स करने के पहले साथी के मन की बात को समझना अच्छा होता है और यदि पत्नी बच्चा लेने के लिए तैयार नहीं है तो सेक्स करने के वक्त कॉन्डोम का इस्तेमाल ज़रूर करें। कभी भी जबरदस्ती न करें।

आराम प्रदान करने वाले जगह का चुनाव करें-

सेक्स करने के लिए ऐसे जगह का चुनाव करना चाहिए जो जगह आपके मन और शरीर दोनों को आराम पहुँचा सके। जो जगह सिर्फ आपका अपना हो वही जगह अच्छा होता है।

सेक्स करने के लिए कभी भी साथी के साथ जबरदस्ती न करें-

यौन संबंध स्थापित करने के सबसे पहला नियम है प्यार। इस नियम को कभी न भूलें क्योंकि जबरदस्ती प्यार नहीं अत्याचार होता है। आप दोनों को एक-दूसरे के इच्छाओं का सम्मान करना चाहिए तभी एक अच्छा सेक्स जीवन शुरू हो सकता है। यह तभी हो सकता है जब आप एक दूसरे से खुलकर अपने मन की बात कहेंगे।

प्यार भरा स्पर्श और चुंबन (kiss) या किस करना-

शारीरिक संपर्क स्थापित करने के पहले प्यार भरा संपर्क स्थापित करना ज़रूरी होता है। ज़्यादातर महिलाओं को प्रेम संबंध स्थापित करने के पहले मानसिक रूप से तैयार होने के लिए चुंबन, उनका परवाह करना, कामुक स्पर्श करना अच्छा लगता है। इसके द्वारा वे धीरे-धीरे इस संबंध के लिए मानसिक रूप से तैयार होने लगती हैं।

फोरप्ले की महत्वपूर्ण भूमिका-

साधारणतः फोरप्ले का महत्व पुरूष नहीं देते हैं मगर महिलाओं को सेक्स के लिए उत्तेजित करने के लिए फोरप्ले बहुत ज़रूरी होता है। सेक्स करने के पहले चुंबन, आलिंगन (cuddle), आंतरिक अंगों में प्यार का स्पर्श यह सब ज़रूरी होता है। यह सब उन्हें मानसिक रूप से तृप्त करती हैं। उसी तरह पुरूषों के शरीर को भी महिलाओं के प्यार भरे स्पर्श की ज़रूरत होती है तभी उनका शरीर तृप्त होता है।

सही समय का इंतजार-

प्रेम संबंध शुरू करते ही पेनिट्रेशन करना सबसे बूरा व्यवहार होता है क्योंकि इस से दोनों के बीच प्यार का बंधन नहीं सिर्फ एक काम को करने की अनुभूति मात्र होती है। जब आपका साथी पूरी तरह से अपने चरम अवस्था में पहुँच जाये तभी पेनिट्रेशन का सुख भोग करें।

लिंग प्रवेश के पहले कुछ बातों का ध्यान रखें-

सेक्स का आनंद उठाने के लिए प्राथमिक बातों के बारे में भी जान लेना ज़रूरी होता है। महिला के योनिमार्ग के बारे में अच्छी तरह से जान लें। हो सकता है पहली बार पुरूषों को इस बात का पता नहीं होता है कि योनिमार्ग (vagina) किधर है। इसलिए बिना जाने वे लिंग का प्रवेश करने की कोशिश करते हैं जिससे महिलाओं को भीषण दर्द का अनुभव करना पड़ता है। इसलिए बिना शर्म किए अपने साथी की सहायता लें।

प्यार संबंध स्थापित करना-

पेनिट्रेशन के बाद पुरूष को अपने सुख के साथ साथी के खुशी का भी ध्यान रखना चाहिए। दोनों को अपने मन की बात एक दूसरे को बतानी चाहिए ताकि दोनों सेक्स का पूरा आनंद उठा सके और एक-दूसरे को संतुष्ट कर सके। सेक्स का आनंद उठाने के लिए एक-दूसरे का साथ देना चाहिए।

सेक्स संबंध स्थापित करने के बाद-

सेक्स संबंध स्थापित करने के तुरन्त बाद ही अलग नहीं हो जाना चाहिए जैसे कि काम हो गया चलो अब चलते हैं। बल्कि एक-दूसरे को प्यार करना चाहिए, किस करना चाहिए, आलिंगन करना चाहिए इससे दोनों के बीच का संबंध और भी गहरा होता है।

प्रेम संबंध स्थापित करने के अंतिम अवस्था में-

संबंध स्थापित करने के बाद अपने खुशी को जाहिर करें। आपको इस संबंध से कितनी संतुष्टि मिली है इस बात को व्यक्त करें। सबसे ज़रूरी बात यह है कि खुद के अंतरंग अंगों को साफ कर लें। अगर आपके कॉन्डोम का इस्तेमाल किया है तो कागज में रैप करके डस्टबीन में फेंक दें।

चित्र स्रोत: Getty images


 लेटेस्ट अप्डेट्स के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो कीजिए।स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के लिए न्यूजलेटर पर साइन-अप कीजिए।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on