Sign In
  • हिंदी

अप्रैल 2022 तक ओमिक्रोन से इंग्लैंड में हो सकती हैं 75 हजार मौतें, स्टडी में खुलासा कैसे घातक सिद्ध हो सकता है ओमिक्रोन

अप्रैल 2022 तक ओमिक्रोन से इंग्लैंड में हो सकती हैं 75 हजार मौतें, स्टडी में खुलासा कैसे घातक सिद्ध हो सकता है ओमिक्रोन

इंग्लैंड के शोधकर्ताओं ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि ओमिक्रोन से अगले 5 महीनों में देश में 75 हजार मौतें हो सकती हैं। जानिए कैसे बचा जा सकता है।

Written by Jitendra Gupta |Published : December 13, 2021 11:38 AM IST

दुनियाभर में ओमिक्रोन के बढ़ते खतरे के बीच शोधकर्ताओं ने चेतावनी जारी करते हुए इंग्लैंड सरकार को आगाह किया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि अगर देश में कड़े कदम नहीं उठाए गए तो अगले 5 महीनों में देश में अमिक्रोन से 25 हजार से लेकल 75 हजार तक लोगों की मौत हो सकती है। लंडन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन (एलएसएसटीएम) के वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि दक्षिण अफ्रीका में सबसे पहले पाया गया ये वेरिएंट ओमिक्रोन इस महीने के अंत तक कोरोनावायरस का सबसे घातक रूप साबित हो सकता है।

5 महीने में हो सकती हैं इतनी मौतें

शोधकर्ताओं के मुताबिक, बात करें मौजूदा हालात की तो उसे देखकर ये प्रतीत होता है कि 1 दिसंबर से लेकर 30 अप्रैल के बीच ओमिक्रोन से 2000 लोग रोजाना अस्पताल में भर्ती हो सकते हैं, जिसके कारण कुल 175000 लोग इन 5 महीनों में अस्पतालों में भर्ती हो सकते हैं और 24,700 लोगों की मौत हो सकती है। ये आंकड़ा तब सामने आ सकता है, जब संक्रमण अपने चरम स्तर पर होगा।

ओमिक्रोन से बिगड़ सकते हैं हालात

सरकार के साइंटिफिक एडवाइजरी ग्रुप ऑफ इमरजेंसी और साइंटिफिक पैंडमिक इंफ्लूएंजा ग्रुप ऑन मॉडलिंग के हिस्से के रूप में वैज्ञानिकों की इस सलाह को 2022 में बिना ज्यादा सख्त नियम लागू करने के बाद देश में ओमिक्रोन से पैदा होने वाले हालात पर एक तरीके से विश्लेषण के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा। ये नियम बोरिस जॉनसन के 'प्लान बी' से अलग होंगे।

Also Read

More News

शनिवार को आए सबसे ज्यादा मामले

बता दें कि शनिवार को ब्रिटेन में 633 ओमिक्रोन के मामले दर्ज किए गए हैं, जो अब तक डेली दर्ज किए जाने वाले मामलों में सबसे ज्यादा हैं। इन मामलों के सामने आने के बाद देश में ओमिक्रोन के मामलों की संख्या 1898 हो गई है। यूके हेल्थ सिक्योरिटी एजेंसी के मुताबिक कुलमिलाकर शनिवार को कोविड 54073 मामले दर्ज किए गए और 132 लोगों की कोरोना से मौत हो गई।

बूस्टर वैक्सीन से सुरक्षा संभव

एलएसएसटीएम सेंटर फॉर मैथामैटिक्ल मॉडलिंग ऑफ इंफेक्शियस डीजिज के शोधकर्ता डॉ. निक डेविस, जो इस शोध के सह-मुख्य शोधकर्ता भी हैं, उन्होंने शनिवार को कहा कि ये सिर्फ शुरुआती आंकड़ें है लेकिन कुल-मिलाकर कहा जाए तो ओमिक्रोन वैक्सीन से बचकर निकल सकता है जबकि वैक्सीन डेल्टा वेरिएंट को रोकने में काफी हद तक कारगर थी।

उन्होंने कहा कि अगर ये ट्रेंड जारी रहा है तो ओमिक्रोन दिसंबर के अंत तक ब्रिटेन की आधी आबादी को अपना शिकार बना सकता है।

उन्होंने ये भी कहा कि अगर बूस्टर डोज लगाई जाती है तो ओमिक्रोन के खिलाफ सुरक्षा मिल सकती है और संक्रमण फैलने का खतरा उतना ही कम हो सकता है। इसके अलावा अस्पताल में भर्ती होने और मौतों का आंकड़ा भी कम हो सकता है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on