Advertisement

हिल स्टेशनों पर बिना मास्क के घूमने वालों से पीएम मोदी नाराज, कहा- तीसरी लहर अपने आप नहीं आएगी...

कोरोना वायरस का कहर अभी भी जारी है. आए दिन कोरोना के नए केस सामने आ रहे हैं. अधिकांश राज्यों में संक्रमण की दर कम हुई है. मगर मुंबई, केरल, तमिलनाडु और मणिपुर समेत कुछ राज्यों में कोरोना की रफ्तार अभी भी तेज है. कई जगहों पर कोरोना के नए-नए वैरिएंट भी देखने को मिल रहे हैं.

कोरोना संक्रमण की स्थितियों से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज पूर्वोत्तर के 8 राज्यों असम, मणिपुर, मेघालय, त्रिपुरा, नागालैंड, सिक्किम अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की और वहां के हालात का जायजा लिया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें टेस्टिंग और ट्रीटमेंट से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार करते हुए आगे बढ़ते चलना है, हाल ही में इसके लिए कैबिनेट में 23000 करोड रुपए के पैकेज को मंजूरी दी है पूर्वोत्तर राज्यों में इस पैकेज से अपने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूती देने में मदद मिलेगी।

माइक्रो लेवल पर काम करने की आवश्यकता

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा नॉर्थ ईस्ट के कुछ जिलों में संक्रमण अभी भी बढ़ता जा रहा है इसलिए उस पर नजर बनाए रखनी होगी और हमें माइक्रो लेवल पर काम करने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा हम माइक्रो कंटेनमेंट जोन के माध्यम से हम कोरोना से जल्दी निजात पा सकते हैं।

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि, हमें कोरोनावायरस के वेरिएंट्स पर नजर रखनी होगी। म्यूटेशन के बाद यह कितना परेशान करने वाला होगा इस बारे में विशेषज्ञों की राय और उनके अध्ययन पर ध्यान देना होगा। ऐसे में एहतियात और उपचार आवश्यक है।

Also Read

More News

हिल स्टेशनों पर कोविड प्रोटोकॉल फॉलो न करने वालों को पीएम मोदी की नसीहत

पीएम मोदी ने कहा, कोरोना के कारण पर्यटन व्यापार कारोबार बहुत प्रभावित हुआ है. लेकिन आज मैं बहुत जोर देकर कहूंगा कि हिल स्टेशंस में मार्केट में बिना मास्क पहने, प्रोटोकॉल का पालन किए बिना भारी भीड़ का होना चिंता का विषय है, बहुत सारे लोग सीना तान के कहते हैं कि तीसरी लहर आने से पहले हम इंजॉय करना चाहते हैं, जबकि लोगों को यह समझने की जरूरत है कि तीसरी लहर अपने आप नहीं आएगी। यह हमारे प्रोटोकोल ना फॉलो करने की वजह से आएगी।

उन्होंने कहा, अगर हम सावधानी से प्रोटोकॉल का पालन करेंगे किसी भी लहर को आसानी से रोक पाएंगे। इसलिए हमारे नागरिकों में सजगता जरूरी है, उसके लिए एक्सपर्ट भी बार-बार चेतावनी दे रहे हैं. यह लापरवाही और भीड़भाड़ जैसे कारणों से कोरोनावायरस दोबारा आ सकता है इसलिए यह जरूरी है कि हर कदम गंभीरता के साथ उठाए जाएं।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on