Sign In
  • हिंदी

सावधान! बच्चे ट्विटर पर #Curatorfindme #f57 की मदद से दिखा रहे हैं Blue Whale में अपनी रूचि!

मां-बाप की चिंता नहीं हुई ख़त्म, बच्चे तलाश रहे हैं ब्लू व्हेल चैलेंज गेम खेलने के तरीके!

Written by Editorial Team |Published : August 22, 2017 5:39 PM IST

ऑनलाइन गेम ब्लू व्हेल चैलेंज (Blue Whale Challenge) के चलते मुंबई में एक 14 वर्षीय बच्चे और केरल से 16 वर्षीय लड़के नें खुदकुशी कर ली। लेकिन इसके बावजूद खेल जारी रखने के संकेत दिख रहे हैं, भले ही सरकार ने इसके खिलाफ कड़ी कारवाई के आदेश दिए हैं। इस स्थिति को देखकर, ऐसा लगता है कि अधिकारियों को यह समझने में ग़लतहमी हो गयी है और वे यह समझने में असक्षम हैं कि यह समस्या कितनी गहरी हो सकती है। ट्विटर (Twitter) पर युवा और किशोर बच्चे #Curatorfindme, और #f57 जैसे हैशटैग्स का उपयोग कर रहे हैं ताकि इस घातक गेम के व्यवस्थापक के साथ छिपकर संवाद कर सकें। संभावित खिलाड़ियों ने ट्विटर पर, #Curatorfindme, #iamwhale और #f57 हैशटैग के साथ ट्वीट करके गेम खेलने में अपनी रुचि व्यक्त की है। खेल के व्यवस्थापक तब खिलाड़ियों को इन हैशटैग पर क्लिक करके खोजेंगे और 50-भागों वाले निर्देशों का पहला सेट भेज सकेंगे। यह इस बात पर संदेह उत्पन्न करता है कि क्या सारे सरकारी निर्देश इस ब्लू व्हेल चैंलेज के प्रभाव में लोगों को आने से रोक सकेगा। किसी भी प्रकार का उपयोग करने का होगा।

हाल ही में, भारत के महिला और बाल विकास मंत्रालय ने गूगल, ट्विटर, व्हाट्सएप और फेसबुक जैसी बड़ी इंटरनेट कंपनियों को डब्लूडब्लू व्हेल चैलेंज से संबंधित किसी भी लिंक को हटाने के निर्देश दिए गए हैं। लेकिन इस खेल को रोकने के लिए केवल प्रतिबंध ही काफी नहीं है। खेल को ज़ारी रखने के लिए जिम्मेदार और खुरापाती लोग कुछ नए तरीके ढूढ़कर कमज़ोर किशोरों तक पहुंचने की कोशिश करेंगे। इसी का सबूत दे रहें ये कुछ ट्वीट :

Also Read

More News

लेकिन वास्तव में भयावह बात यह है कि गेम के घातक स्वभाव के बारे में इतनी जागरूकता के बावजूद सैकड़ों हैंडल इन हैशटैग का उपयोग कर रहे हैं। और इन ट्वीट्स में से कुछ को हाल ही में (15 अगस्त 2017) को लगाया गया है। #curatorfindme के अलावा, लोग #i_am_whale, #bluewhale, #iwanttoplay, #iamready, #iamwhale और #bluewhalchallenge जैसे अन्य हैशटैग का उपयोग कर रहे हैं।

यह स्पष्ट नहीं है कि ये ट्विट्स करने वाले लोग खेल के प्रति गंभीर हैं या केवल जिज्ञासा की वजह से ये ट्वीट किए गए हैं। लेकिन इस समय, आपको अपने बच्चे पर नज़र रखनी होगी और इसी में उसका भला है। ऐसे माता-पिता जिनके बच्चे सोशल मीडिया पर अधिक सक्रिय हैं, वे सक्रिय रूप से अपने ट्विटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम हैंडल पर नज़र रखें और देखें कि कहीं उनके बच्चे उपरोक्त हैशटैग्स का उपयोग तो नहीं कर रहे हैं। साथ ही, ट्विटर पर अपने बच्चे और किसी अज्ञात हैंडल के बीच होने वाली किसी भी तरह की सार्वजनिक या निजी बातचीत का भी पता लगाएं। आपको चकमा देने के लिए बच्चा नकली सोशल मीडिया प्रोफाइल भी बना सकता है। इसलिए आपके बच्चे की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण है कि आप नियमित रूप से अपने बच्चे का सेल फोन और कंप्यूटर देखें ताकि वहां चलनेवाली गतिविधियों का पता लगाया जा सके। इस समस्या से बचने का यह एक बेहतरीन तरीका है कि आप अपने बच्चे द्वारा इस्तेमाल किए जानेवाले हैशटैग्स का पता लगाएं और समय रहते इस ख़तरनाक खेल से उन्हें बचाने के लिए और बच्चों को इसका शिकार बनने से रोकने में मदद होगी।

Read this in English.

अनुवादक-Sadhana Tiwari

चित्रस्रोत Shutterstock.

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on