Sign In
  • हिंदी

कोरोना के बाद केरल में दिखा अब ये नया वायरस, 21 बच्चे संक्रमित, जानिए कैसे फैल रही है ये खतरनाक बीमारी

Norovirus in Kerala : कोरोना वायरस के बीच भारत में नोरोवायरस का आतंक फैला हुआ है। केरल में अबतक 21 मामलों की पुष्टि की जा चुकी है। ऐसे में यह एक चिंता का विषय बना हुआ है। आइए जानते हैं इस वायरस के बारे में विस्तार से-

Written by Kishori Mishra |Updated : January 24, 2023 10:52 AM IST

Norovirus in Kerala : चीन में कोरोना के बिगड़े हालातों को देखते हुए भारत में भी कोरोना को लेकर अलर्ट मोड जारी है। लेकिन इस बीच एक और चिंता की खबर सामने आ रही है। हाल ही में जानकारी मिली है कि केरल नोरोवायरस आतंक मचा रहा है। खबरों के मुताबिक, केरल के एर्नाकुलम के बाद अब कोच्चि में नोरोवायरस के मामले सामने आए हैं। कोच्चि के स्कूल में कई बच्चों में नोरोवायरस के लक्षण दिख रहे हैं। अब तक हुई जांच में 2 मामलों की पुष्टि हुई है। वहीं, 15 अन्य बच्चों में इसके लक्षण दिख रहे हैं। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस की तरह की नोरोवायरस है। 

इससे पहले एनार्कुलम में एक साथ 19 बच्चों में नोरोवायरस से संक्रमित पाए गए हैं। यहां पर पहले 2 बच्चों में नोरोवायरस की पुष्टि हुई थी, उसके बाद कुल 19 बच्चे नोरोवायरस से संक्रमित मिले है। वही, कुछ अन्य बच्चों में भी नोरोवायरस के लक्षण दिख रहे हैं। नोरोवायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए केरल में कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों की ऑफलाइन क्लासेस बंद कर दी गई हैं। अब इन बच्चों का ऑनलाइन क्लास होगा। आइए विस्तार से जानते हैं नोरोवायरस के बारे में-

नोरोवायरस क्या है? - What Is Norovirus 

नोरोवायरस एक संक्रमण है, जिससे पीड़ित लोगों को काफी ज्यादा उल्टी और दस्त की परेशानी होती है। यह वायरस काफी व्यापक और संक्रामक है, जो दूषित पानी पीने और दूषित खाने की वजह से फैलता है। इस वायरस को “विंटर वोमिटिंग बग” के नाम से भी जाना जाता है। 

Also Read

More News

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, नोरोवायरस से लगभग हर साल दुनियाभर में 68.5 करोड़ लोग संक्रमित होते हैं। वहीं, एक साल में इस वायरस की वजह से करीब 200,000 लोगों की मौत होती है। ऐसे में यह काफी चिंता का विषय बना हुआ है। 

नोरोवायरस के कारण - Norovirus Causes in Hindi

नोरोवारयस के फैलने के कई अलग-अलग कारण हो सकते हैं। यह दूषित खाने से लेकर दूषित पीने की वजह से फैल सकता है। इसके अलावा संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने की वजह से भी यह फैल सकता है। यह वायरस किसी भी उम्र, लिंग के व्यक्ति को संक्रमित कर सता है। ऐसे में आपको अपना विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। 

ध्यान रखें कि किसी भी दूषित व्यक्ति, सतह या फिर वस्तु के संपर्क में न जाएं। अगर कोई व्यक्ति नोरोवायरस से संक्रमित है, तो उससे दूरी बनाएं। अपने हाथ-पैर मुंह को बार-बार न छुएं। 

नोरोवायरस के लक्षण - Symptoms of Norovirus 

नोरोवायरस से संक्रमित व्यक्ति में इसके लक्षण संक्रमित होने के लगभग 24 से 72 घंटों तक नजर आते हैं। लेकिन अगर आपको इसके लक्षण लंबे समय तक नजर आए तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। वहीं, इस बात का भी ध्यान रखें कि कुछ संक्रमित व्यक्तियों में नोरोवायरस के लक्षण नजर नहीं आते हैं। ऐसे में अगर आपको किसी तरह का अंदेशा हो तो तुरंत डॉक्टरी सलाह लें और अपना टेस्ट कराएं। नोरोवायरस संक्रमण की चपेट में आने से आपके शरीर में कुछ बदलाव नजर आ सकते हैं, जो निम्न हैं-

  • बुखान होना
  • डायरिया, मतली और उल्टी होना। 
  • मांसपेशियों और पेट दर्द या ऐंठन जैसा महसूस होना। 
  • सिरदर्द और बदन दर्द होना। 
  • पेट में अन्य तरह की परेशानी जैसे- मरोड़, चुभन, गैस जैसा महसूस होना, इत्यादि।

नोरोवायरस से कैसे करें बचाव? - Norovirus Prevention in Hindi

नोरोवायरस से बचाव के लिए आपको साफ-सफाई का ध्यान रखना होगा। इसके लिए आपको निम्न बातों का ध्यान रखने की जरूरत है, जैसे-

  • समय-समय पर अपने हाथों को साबुन और साफ पानी से धोएं। 
  • सब्जियों और फलों को अच्छी तरह से धोकर खाएं। 
  • नॉनवेज जैसे- चिकन, मछली खा रहे हैं, तो इसे अच्छे से पकाकर खाएं। 
  • अगर किसी व्यक्ति को उल्टी या फिर पेट में दर्द हो रहा है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। 
  • संक्रमित व्यक्ति से दूरी बनाकर रखें। 
  • दूषित सतह पर हाथ न लगाएं। 
  • दूषित पानी का किसी भी कार्य के लिए इस्तेमाल न करें, इत्यादि। 

नोरोवायरस से संक्रमित व्यक्तियों को अपना खास ध्यान रखने की जरूरत है। अगर आपको अपने शरीर में किसी तरह का लक्षण नजर आ रहा है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on