Sign In
  • हिंदी

रात में काम करने वाली महिलाएं जल्द होती हैं मेनोपॉज की शिकार - नाइट शिफ्ट का क्या होता है सेक्स लाइफ पर असर

रात की शिफ्ट में काम करने वाली महिलाओं में उम्र से पहले मेनोपॉज होने का खतरा बढ़ जाता है। मेनोपॉज के लक्षण ज्यादातर 45 की उम्र में दिखते हैं। यह नहीं जो महिलाएं शिफ्ट वर्क (Shift Work) में रात की शिफ्ट में ज्यादा काम करती हैं उनको ऑस्टियोपोरोसिस और याददाश्त की समस्या होने लगती है। ©pixabay

ह्युमन रिप्रोडक्शन जर्नल में प्रकाशित एक शोध के अनुसार "देर रात तक काम करने से महिलाओं में तनाव बढ़ता और तनाव के कारण जल्दी मेनोपॉज की संभावना बढ़ जाती है क्योंकि तनाव की वजह से सेक्स हार्मोन एस्ट्रोजेन के बनने में बाधा आती है जो मेनोपॉज के लिए जिम्मेदार हो सकता है। शोध में यह भी पाया गया की रात में काम करने वाली महिलाएं ओवुलेशन को भी रोकती हैं।"

Written by akhilesh dwivedi |Published : March 3, 2019 12:09 PM IST

रात और दिन दोनों समय काम करने का चलन हाल के वर्षों में बढ़ रहा है। रात की शिफ्ट (Night Shifts) में काम करने वालों के हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है इस तरह के कई शोध आए हैं लेकिन हाल ही में आया एक नया शोध बताता है कि जो महिलाएं रात की शिफ्ट में काम करती हैं उनको मेनोपॉज (Menopause) अर्थात रजोनिवृत्ति का खतरा ज्यादा होता है।

रात की शिफ्ट में काम करने वाली महिलाओं में उम्र से पहले मेनोपॉज होने का खतरा बढ़ जाता है। मेनोपॉज के लक्षण ज्यादातर 45 की उम्र में दिखते हैं। यह नहीं जो महिलाएं शिफ्ट वर्क (Shift Work) में रात की शिफ्ट में ज्यादा काम करती हैं उनको ऑस्टियोपोरोसिस और याददाश्त की समस्या होने लगती है।

डेली मेल में प्रकाशित अध्ययन में यह पाया गया है कि जो महिलाएं 20 महीने तक रात की शिफ्ट में काम कर रही थी उनमें जल्दी मेनोपॉज (Menopause) का खतरा 9 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। वहीं जो महिलाएं 20 साल से अधिक समय से नाइट शिफ्ट में काम कर रही थीं उनमें मेनोपॉज (Menopause) का खतरा 73 तक बढ़ जाता है।

Also Read

More News

शोध के प्रमुख लेखक डेविड स्टॉक बताते हैं कि "जो महिलांए 45 वर्ष से पहले मेनोपॉज से गुजरती हैं उनमें एक चीज महत्वपूर्ण थी जो कि नाइट शिफ्ट में काम करना था। हालांकि इस विषय पर और अधिक शोध की जरूरत है।"

ह्युमन रिप्रोडक्शन जर्नल में प्रकाशित एक शोध के अनुसार "देर रात तक काम करने से महिलाओं में तनाव बढ़ता और तनाव के कारण जल्दी मेनोपॉज की संभावना बढ़ जाती है क्योंकि तनाव की वजह से सेक्स हार्मोन एस्ट्रोजेन के बनने में बाधा आती है जो मेनोपॉज के लिए जिम्मेदार हो सकता है। शोध में यह भी पाया गया की रात में काम करने वाली महिलाएं ओवुलेशन को भी रोकती हैं।"

पहले के शोध भी सामान्य समय में काम करने की सलाह देते हैं। मुश्किल शिफ्ट वर्क (Shift Work) से मेनोपॉज (Menopause) की संभावना बढ़ती है।

यह शोध 80 हजार से अधिक नर्सों पर किया गया है। अध्ययन में उन नर्स महिलाओं को शामिल किया गया था जो 22 वर्षों से शिफ्ट वर्क में काम कर रही थीं।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on