• हिंदी

कर्नाटक में हुक्का पर बैन, सरकार ने तत्काल प्रभाव से बंद करायीं दुकानें, जानें हुक्का पीने वालों को होनेवाली बीमारियों के नाम

कर्नाटक में हुक्का पर बैन, सरकार ने तत्काल प्रभाव से बंद करायीं दुकानें, जानें हुक्का पीने वालों को होनेवाली बीमारियों के नाम

राज्य के सभी सार्वजनिक स्थानों पर अब तंबाकू और बिना-तंबाकू हुक्का को बेचने, इसका इस्तेमाल और किसी भी तरीके से इसके सेवन पर पूरी तरह से और तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाया जाए

Written by Sadhna Tiwari |Updated : February 9, 2024 2:04 PM IST

Hookah banned in Karnataka: कर्नाटक राज्य सरकार ने अब राज्य में हुक्का पर पाबंदी लगा दी है। बुधवार को कर्नाटक राज्य सरकार की तरफ से निर्देश दिए गए कि राज्य के सभी सार्वजनिक स्थानों पर अब तंबाकू और बिना-तंबाकू हुक्का को बेचने, इसका इस्तेमाल और किसी भी तरीके से इसके सेवन पर पूरी तरह से और तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाया जाए। कर्नाटक राज्य के स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडू राव (Dinesh Gudu Rao, Health Minister, Karnataka) ने गुरुवार को राज्य सरकार के इस निर्णय के बारे में जानकारी दी।

बताया जा रहा है कि राज्य सरकार ने लोगों के स्वास्थ्य की सुरक्षा और तंबाकू के सेवन से होने वाली बीमारियों (Tobacco related diseases) की रोकथाम के उद्देश्य से राज्य भर में हुक्का की बिक्री और इस्तेमाल पर बैन लगा दिया है।

अब कर्नाटक राज्य में कहीं नहीं बिकेगा हुक्का

राव के ऑफिस की तरफ से दी गयी जानकारी के अनुसार,” अब होटल, रेस्ट्रोरेंट्स, बार, लाउंज, बार, कैफे, क्लबों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर  हुक्का के इस्तेमाल और इसकी बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। गौरतलब है कि युवाओं के बीच नशीले पदार्थों और तंबाकू उत्पादों के इस्तेमाल की प्रवृत्ति बढ़ती जा रही है जिसकी वजह से उनके स्वास्थ्य को बहुत अधिक नुकसान होते दिखायी दे रहा है। तंबाकू के सेवन के नुकसान से युवाओं को बचाने के लिहाज से यह फैसला बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

Also Read

More News

बता दें कि हुक्का में तंबाकू का इस्तेमाल किया जाता है वहीं, कई जगहों पर फलों और इलायची जैसे फ्लेवर्स (Flavoured hookah) में भी उपलब्ध कराए जाते हैं। लेकिन इनमें भी निकोटिन (Nicotin) पाया जाता है। यही वजह है कि राज्य सरकार की तरफ से सभी प्रकार के हुक्का पर पूरी तरह बैन लगा दिया गया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (world health organization) के ‘ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे 2016-17 (GATS-2) के आंकड़ों के अनुसार, कर्नाटक राज्य में 22.8 प्रतिशत वयस्क तंबाकू का सेवन करते हैं वहीं, 8.8 प्रतिशत लोग धूम्रपान करते हैं। (consumption of tobacco in Karnataka state)

तंबाकू के सेवन से होने वाली बीमारियां (Serious health issues related to Tobacco consumption)

स्मोकिंग करने वालों में  फेफड़ों का कैंसर है आम

स्टडीज के अनुसार लंग कैंसर या फेफड़ों के कैंसर के 90 % मामले  तंबाकू के सेवन से जुड़े हुए होते हैं। वहीं, इस कैंसर की वजह से होने वाली मौतों में भी तंबाकू का इस्तेमाल एक बड़े कारण के तौर पर देखा गया है। इसके अलावा इन बीमारियों का रिस्क भी तंबाकू का सेवन करने वालों में देखा जाता है-

  • नाक का कैंसर होने की संभावना कई गुना बढ़ सकती है।
  • हार्ट अटैक और स्ट्रोक के चांस स्मोकिंग करने वालों में अधिक देखे जाते हैं।
  • क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज का रिस्क बढ़ सकता है।
  • डायबिटीज का रिस्क
  • अस्थमा के लक्षण बढ़ सकते हैं।
  • महिलाओं में फर्टिलिटी और गर्भधारण से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।