Advertisement

योग विश्व को एक सूत्र में बांधने का जरिया है: नरेंद्र मोदी

निरोग और तंदुरूस्त जीवन जीने का मूलमंत्र है योग!

आज 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दिन को भव्य रूप में मनाने के लिए विशाल आयोजन किया है। इस  मौके पर उनका कहना है कि योग ही एक ऐसा माध्यम है जो पूरी दुनिया को एक सूत्र में बांध सकता है। उन्होंने कहा कि लोगों को योग को जीवन में ठीक उसी तरह इस्तेमाल करना चाहिए जिस तरह नमक किया जाता है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में बारिश के बीच बुधवार सुबह पीएम नरेंद्र मोदी समय पर पहुंच गए। मोदी के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी आयोजन स्थल पर पहुंचे। इसके अलावा प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक भी योग करने पहुंचे। उन्होंने कहा कि आज योग हर किसी के जीवन का हिस्सा बन रहा है। विश्व के अनेक देश योग के कारण जुड़ रहे हैं। योग विश्व को अपने साथ जोड़ने में बड़ी भूमिका अदा कर रहा है। दुनिया के हर देश में योग का कार्यक्रम होता है। मोदी ने कहा कि 3 सालों में कई योग संस्थान स्थापित हुए। दुनिया के सभी देशों में योग शिक्षक की मांग हो रही है। भारतीयों की प्राथमिकता दुनिया में सबसे पहले है। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक रूप से योग को करने के प्रयास चल रहे हैं। योग जीवन का हिस्सा बने, इसको लेकर जागरूकता बढ़ रही है। हमारी भावी पीढ़ियां हमारे सदियों पुराने ज्ञान से परिचित हों। प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं योग को जीवन का हिस्सा बनाने का आग्रह करता हूं। योग से शरीर के अनेक अंगों की जागृति का अनुभव होता है। योग से शरीर के अंगों में जागरूकता आती है। उन्होंने कहा कि शरीर में नमक की जरूरत को कोई नकार नहीं सकता। जीवन में नमक न होने से जीवन नहीं चल सकता। इसी तरह जीवन में योग का स्थान भी हम बना सकते हैं। क्या आपको पता है कि योग करने से सेहत को किस तरह का मिलता है फायदा !

योग दिवस के मौके पर सुबह से ही शुरू हुई बारिश के कारण सैकड़ों लोग आयोजन स्थल से वापस लौट गए। इसके बावजूद हजारों की संख्या में रमाबाई अंबेडकर मैदान पर लोग मौजूद रहे। उनके हौसलों को बारिश नहीं झुका पाई। लोगों को संबोधित करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योग शुरू किया। मोदी के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल और उनकी कैबिनेट के कई मंत्री भी मौजूद थे। इसके मद्देनजर वहां कड़ी सुरक्षा तैनात की गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि योग लोगों और वैश्विक समुदाय को आपस में जोड़ने के लिए बड़े पैमाने पर काम कर रहा है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के तीसरे संस्करण के दौरान मोदी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने के लिए रिकॉर्ड समय में हमारा प्रस्ताव स्वीकार किया था।

Also Read

More News

आदित्यनाथ ने तीसरे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर कहा, "योग एक प्राचीन भारतीय अभ्यास है और वेदों सहित सभी प्राचीन ग्रंथों ने योग के महत्व को स्वीकार किया है। योग जीवन जीने का एक तरीका है और यह लोगों को एकजुट करने में मदद करता है।" इस कार्यक्रम में आदित्यनाथ के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हजारों लोग मौजूद थे। लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में बारिश के बीच बुधवार सुबह पीएम नरेंद्र मोदी पहुंचे। पीएम मोदी के साथ योगी आदित्यनाथ और यूपी के राज्यपाल राम नाईक भी योग करने पहुंचे। योगी ने कहा कि वेदों सहित सभी प्राचीन ग्रंथो ने योग के महत्व को स्वीकारा है। योग जीने की कला सिखाता है। देशभर में योग दिवस उत्साह से मनाया जा रहा है।  उन्होंने कहा कि सुबह योग करने से शरीर स्वस्थ्य रहता है। उन्होंने बारिश की ओर इशारा करते हुए लोगों से कहा कि मौसम की विपरीत परिस्थितियों में भी योग का आनंद है।

इसलिए निरोग और स्वस्थ जीवन जीने के लिए योग की कदम बढ़ाने की ज़रूरत है। इससे न सिर्फ आपका स्ट्रेस, डिप्रेशन जैसा मानसिक समस्या कम होगा बल्कि एसिडिटी, जोड़ो में दर्द, सर्दी-खांसी जैसे छोटी-मोटी बीमारियों को भी आप खुद से कोसो दूर रख पायेंगे।

सौजन्य: IANS Hindi

चित्र स्रोत: IANS 

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on