Sign In
  • हिंदी

दुखी हैं तो शाम को रोइए, मोटापा भी घटेगा : शोध

रोना भी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद बताया जाता है। पर अगर आपको रोना ही है तो आप शाम के समय रोइए। इससे आपका वजन कम होगा और फि‍टनेस बेहतर होगी। हाल ही में हुए एक शोध में इस बात का खुलासा किया गया है। ©Shutterstock.

रोना भी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद बताया जाता है। पर अगर आपको रोना ही है तो आप शाम के समय रोइए। इससे आपका वजन कम होगा और फि‍टनेस बेहतर होगी। हाल ही में हुए एक शोध में इस बात का खुलासा किया गया है।

Written by Yogita Yadav |Published : July 8, 2019 4:10 PM IST

क्‍या आप रोने के फायदे जानते हैं ? सभी कभी न कभी रोते हैं। पर कुछ लोगों को बात-बात पर रोना आता है। हालांकि रोना भी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद बताया जाता है। पर अगर आपको रोना ही है तो आप शाम के समय रोइए। इससे आपका वजन कम होगा और फि‍टनेस बेहतर होगी। हाल ही में हुए एक शोध में इस बात का खुलासा किया गया है। आइए जानते हैं रोने के फायदे।

फायदेमंद है रोना

वैज्ञानिक मानते हैं कि रोना बुरा नहीं है। बल्कि आपकी सेहत के लिए रोना फायदेमंद ही है। इससे मानसिक दबाव कम होता है और अपना दुख जाहिर करने का यह प्राकृतिक तरीका है। जिसका कोई नुकसान यानी साइड इफैक्‍ट नहीं है। इसलिए अगर दुखी हैं तो थोड़ा बहुत रो लेने में कोई बुराई नहीं है। वैज्ञानिक यही सलाह महिलाओें के साथ-साथ पुरुषों को भी देते हैं।

यह है रोने का सही समय

पर अब वैज्ञानिकों ने इस बात का खुलासा किया है कि अगर आप बहुत ज्‍यादा मोटे हैं और वजन घटाना चाहते हैं तो आपको रोने का सही समय जान लेना चाहिए। वैज्ञानिक इसे वजन कम करने की एक तकनीक मान रहे हैं। जिसके जरिए आप अपना अवसाद और मोटापा दोनों एक साथ घटा सकते हैं।

Also Read

More News

क्‍या है नया शोध

एशियन वन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक रोने से हमारे शरीर में कॉर्टिसोन नामक हार्मोन रिलीज होता है।  शरीर में इस हार्मोन का स्तर बढ़ने से वजन में गिरावट आती है। दूसरा, स्ट्रेस लेवल बढ़ने पर जब हम रोते हैं तो आंसूओं के जरिए एक विषैला पदार्थ शरीर से बाहर आता है। जो वजन बढ़ने के लिए काफी हद तक जिम्मेदार होता है।

आंसू निकलेंगे तभी कम होगा वजन

स्टडी में यह भी खुलासा हुआ है कि जिन लोगों के रोने पर आंसू आसानी से नहीं निकलते, उनके लिए वजन घटाना काफी मुश्किल चुनौती है। एक और दिलचस्प बात ये भी बताई गई है कि रोने की नौटंकी करने हैं या ढोंग रचने से इसका वजन पर कोई असर नहीं होता।

यह भी पढ़ें – खुद को दें पंद्रह मिनट, मिलेगी दिन भर के लिए एनर्जी

आंसुओं के भी हैं प्रकार

शोध में बताया गया है कि इंसान को सिर्फ तीन तरह के आंसू आते हैं, बेसल, रिफ्लेक्स और साइचिक। बेसल आंसू अक्सर खुशी की वजह से निकलते हैं, जबकि रिफ्लेक्स आंसूओं की वजह सिगरेट का धुआं या प्रदूषण हो सकता है। साइचिक आंसूओं की वजह इमोशन होते हैं और इन्हीं के निकलने पर वजन कम होता है।

यह भी पढ़ें - Rain Bathe Benefits : बारिश में नहाएंगे तो सेहत को होंगे ये फायदे

ये है रोने का फायदेमंद समय

7 से 10 बजे रात में रोने से वजन ज्यादा तेजी से गिरता है। यह ऐसा वक्त होता है जब इंसान के नेगेटिव इमोशन उस पर सबसे ज्यादा हावी होते हैं। यह बात पहले भी सामने आ चुकी है कि रोने से इंसान के शरीर में मौजूद कैलोरी ज्यादा तेजी से बर्न होती है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on