Sign In
  • हिंदी

ICMR ने कहा, कोरोना वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के बाद भी मास्क लगाना है बेहद जरूरी

दूसरी खुराक के बाद भी मास्क जरूरी : आईसीएमआर

ICMR के महानिदेशक बलराम भार्गव का कहना है कि बेशक लोगों को टीका लगाया जा रहा है, लेकिन इसके बाद भी सभी को मास्क पहनना जरूरी होगा। कोरोना वैक्सीन कोरोना बीमारी में सुधार लाने के लिए है ना कि इसे रोकने के लिए।

Written by Anshumala |Updated : August 27, 2021 6:07 PM IST

देश में कोरोना के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोनावायरस से कुल 44,658 लोग संक्रमित पाए गए हैं। वहीं, 496 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटों में कुल 32,988 कोरोना मरीजों को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किया गया है। जहां तक कोरोना वैक्सीनेशन का सवाल है, तो पूरे देश में बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन कैंपेन के तहत 61.22 करोड़ वैक्सीन खुराक लोगों को दी जा चुकी है और 24 घंटों में 70 लाख से अधिक खुराकें दी गईं हैं। लेकिन, भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक बलराम भार्गव का कहना है कि बेशक लोगों को टीका लगाया जा रहा है, लेकिन इसके बाद भी सभी को मास्क लगाना जरूरी होगा। कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) कोरोना बीमारी (Corona Disease) में सुधार लाने के लिए है ना कि इसे रोकने के लिए। ऐसे में वैक्सीनेशन के बाद भी मास्क का प्रयोग जारी रखना बहुत जरूरी है।

टीका मौतों को 99 % तक कम करते हैं

बलराम भार्गव का कहना है कि वैक्सीन कोरोना बीमारी की गंभीरता को कम करते हैं, जिससे हॉस्पिटल में एडमिट होने की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है। ये वैक्सीन मौतों को 98-99 फीसदी तक कम करते हैं। पूर्ण टीकाकरण गंभीर बीमारी और मृत्यु से सुरक्षा प्रदान करता है।

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण का कहना है कि भारत अभी भी कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में है। देश में पिछले 24 घंटों में लगभग 44,000 नए कोरोना केसेस दर्ज किए हैं, जिनमें से 58 % अकेले केरल से सामने आए। देश में लगभग 3.33 लाख एक्टिव मामले हैं, जबकि रिकवरी रेट 97 प्रतिशत से अधिक है।

Also Read

More News

देश की साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट लगातार 8 हफ्तों से 3 प्रतिशत से नीचे बनी हुई है। हालांकि, कुल 41 जिले वर्तमान में 10 प्रतिशत से अधिक पॉजिटिविटी दर की रिपोर्ट कर रहे हैं। 31 राज्यों में 10,000 से कम सक्रिय कोविड मामले हैं। चार राज्यों में 10,000 से 1 लाख सक्रिय मामले हैं, जबकि केरल में सक्रिय मामलों की संख्या एक लाख से अधिक है। केरल में वर्तमान में भारत के सक्रिय मामलों का 51 प्रतिशत हिस्सा है, इसके बाद महाराष्ट्र में 16 प्रतिशत हिस्सा है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on