Sign In
  • हिंदी

HIV के खतरे को बढ़ा सकते हैं आंत के बैक्टीरिया, शोध में हुआ खुलासा

HIV and Gut Health: एचआईवी (HIV) एक गंभीर बीमारी है, जो कि पूरे शरीर को प्रभावित करती है। शोध बताते हैं कि आपके गट बैक्टीरिया इस बीमारी के होने में एक छिपी हुई भूमिका निभा सकते हैं।

Written by Pallavi |Updated : October 4, 2022 9:51 AM IST

HIV and Gut Health: एचआईवी और गट हेल्थ दोनों के बीच अब तक किसी भी संबंध के बारे में नहीं बताया गया है। लेकिन हाल ही में आए शोध इस ओर संकेत करता है कि कैसे एचआईवी संक्रमण से पहले, आंत के बैक्टीरिया में बदलाव आना शरू हो जाते हैं। ये बदलाव आम लोगों की तुलना में बहुत ही अलग होते हैं। शोध में बताया गया है कि संक्रमण से पहले, एचआईवी वाले पुरुषों में एंटी इंफ्लेमेटरी साइटोकिन्स और बायोएक्टिव लिपिड थे, जो दोनों प्रणालीगत सूजन से जुड़े हैं और ये शरीर में लगातार इस संक्रमण को बढ़ा सकते हैं।

HIV से पहले गट बैक्टीरिया होता है प्रभावित

पीयर-रिव्यू जर्नल ईबायोमेडिसिन में प्रकाशित UCLA-led रिसर्च में इस बात का पता चलता है कि कैसे HIV से पहले गट बैक्टीरिया प्रभावित हो सकते हैं। शोध के अनुसार, कुछ आंत बैक्टीरिया जो कि नॉर्मल लोगों में होते हैं, वो एचआईवी वाले रोगियों में नहीं होते हैं। साथ ही शोध में पता चलता है एचआईवी संक्रमण, दोनों ही लोगों में अलग और भिन्न हो सकते हैं।

आंत के माइक्रोबायोम एचआईवी संक्रमण के जोखिम को बढ़ा सकता है

यूसीएलए में संक्रामक रोगों के विभाग, मेडिसिन के सहायक प्रोफेसर डॉ. जेनिफर फुल्चर के अनुसार, निष्कर्ष बताते हैं कि आंत माइक्रोबायोम एचआईवी संक्रमण के जोखिम को प्रभावित कर सकता है।

Also Read

More News

जैसे कि, उन्होंने पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले 27 पुरुषों से संक्रमण से पहले और बाद में एकत्र किए गए आंत माइक्रोबायम नमूनों की जांच की। फिर उन्होंने उन नमूनों की तुलना उन 28 पुरुषों से की, जिनमें संक्रमण के लिए समान व्यवहार संबंधी जोखिम कारक थे, लेकिन उन्हें एचआईवी नहीं था। शोधकर्ताओं ने पाया कि पहले वर्ष के दौरान संक्रमित पुरुषों के आंत बैक्टीरिया में बहुत कम बदलाव आया था। हालांकि, उन्होंने पाया कि एचआईवी संक्रमित पुरुषों में संक्रमित होने से पहले उनके असंक्रमित समकक्षों की तुलना में आंत बैक्टीरिया में पहले से मौजूद अंतर था। एचआईवी पीड़ितों में बैक्टेरॉइड प्रजातियां कम थीं। जबकि, स्वस्थ लोगों में ये ज्यादा था।

शोधकर्ताओं का कहना है कि यह एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है जिसे बेहतर ढंग से समझने के लिए और शोध की जरुरत है कि ये बैक्टीरिया एचआईवी संचरण को प्रभावित कर सकते हैं या नहीं।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on