Advertisement

आख़िर क्यों जरूरी है डायबिटीज़ होने पर खानपान का ध्यान रखना?

Weight loss जल्दी करने के लिए कसरत और आहार दोनों पर ध्यान देने की होती है ज़रूरत!

मूल स्रोत: IANS Hindi

डाइबिटीज़ होते ही लोग ये सोचने लगते हैं कि अब कुछ भी नहीं हो सकता। अब वे पहले की तरह जिंदगी जी नहीं सकते, लेकिन ऐसा नहीं होता। नियमित रूप से संतुलित आहार और एक्सरसाइज़ करने से आप डाइबिटीज़ को आराम से कंट्रोल में ला सकते हैं।

स्वस्थ्य आहार और नियमित व्यायाम मोटापे और मधुमेह से ग्रस्त वृद्धों और वयस्कों के लिए कई प्रकार से लाभदायक सिद्ध हो सकता है। इससे ग्लूकोज नियंत्रण, शारीरिक संरचना, शारीरिक क्रियातंत्र और अस्थि गुणवत्ता बेहतर होती है। एक नए शोध में यह जानकारी सामने आई है। आहार और व्यायाम टाइप 2 मधुमेह रोगियों के लिए तो लाभदायक माने जाते हैं, लेकिन वृद्ध लोगों में ऊर्जा की कमी और उम्र संबंधी कारकों को देखते हुए इस पर संशय जताया जाता है।

Also Read

More News

टेक्सास की बेलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन से संबद्ध इस अध्ययन की मुख्य लेखिका अलेक्जेंड्रा सेली के अनुसार, 'शारीरिक निष्क्रियता के कारण वृद्धों में टाइप 2 मधुमेह अत्यधिक प्रचलित है, जिसके साथ मोटापा और उम्र संबंधी कई कारक जुड़े हैं।'

सेली ने बताया, 'मोटापा उम्र की चयापचय और शारीरिक जटिलताओं पर बुरा असर डालता है। जिसके फलस्वरूप जीवन की गुणवत्ता प्रभावित होती है।' इस शोध के लिए अध्ययनकर्ताओं ने 65 से 85 साल के वृद्धों पर छह माह तक परीक्षण किया। इस दौरान इनके खानपान और जीवनशैली में गहन और सीमित हस्तक्षेप किया गया था।

निष्कर्षो के अनुसार, उच्च आहार और नियमित आहार केवल युवा वयस्कों में ही नहीं वृद्धों के लिए भी लाभदायक है। साथ ही मधुमेह रोग के दौरान भी यह सकारात्मक परिणाम देते हैं।

चित्र स्रोत: Shutterstock 


Total Wellness is now just a click away.

Follow us on