Sign In
  • हिंदी

कार्य समय के प्रबंधन से स्वास्थ्य में सुधार लाया जा सकता है

Written by Agencies |Published : January 27, 2015 2:24 PM IST

वर्तमान में कामगारों के बीच नींद की कमी बड़ी समस्या बनकर उभरी है। शोधकर्ताओं के अनुसार, कार्यस्थल संस्कृति को थोड़ा लोचदार बनाकर न केवल कर्मचारियों को नींद की कमी से उबारा जा सकता है, बल्कि इससे उनके स्वास्थ्य में भी सुधार होगा। पेंसिलवानिया स्टेट यूनिवर्सिटी में बायोविहेवियरल हेल्थ के एसोसिएट प्रोफेसर ऑरफ्यू एम.बॉक्सटन ने कहा, 'पर्याप्त नींद की कमी के कारण हम काम के प्रति चौकस नहीं रह पाते। इससे न सिर्फ हम सूचनाओं को धीरे-धीरे ग्रहण कर पाते हैं, बल्कि कभी-कभी कई तरह की गलतफहमियां पैदा होती हैं और फैसले लेने की हमारी क्षमता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।'

शोधकर्ताओं ने पाया कि जब लोगों के कार्य समय पर उनका खुद का नियंत्रण बढ़ता है, तो बढ़िया नींद के साथ-साथ उसकी समयावधि में भी बढ़ोतरी होती है। यह अध्ययन 474 कर्मचारियों पर किया किया, जिसमें से आधे का अपने काम पर खुद का नियंत्रण था, जबकि आधे लोग किसी और के हस्तक्षेप में काम कर रहे थे।

पहले छह महीने तथा फिर एक साल के अध्ययन के बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि जिनका अपने काम पर खुद का नियंत्रण था, उन्हें न सिर्फ अच्छी नींद आने लगी, बल्कि इसकी समयावधि भी बढ़ गई। इसका पूरा असर उनकी सेहत पर पड़ा।

Also Read

More News

यह अध्ययन पत्रिका 'स्लीप हेल्थ' में प्रकाशित हुआ है।

स्रोत: IANS Hindi

चित्र स्रोत: Getty images


हिन्दी के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिए हमारा हिन्दी सेक्शन देखिए।लेटेस्ट अप्डेट्स के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो कीजिए।स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के लिए न्यूजलेटर पर साइन-अप कीजिए।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on